sapne kyo aate hai or kya sapne sach hote hai

सभी सपने देखते हैं और हमारे मन मे ‌‌‌हमेशा यह जानने की इच्छा रहती है कि सपने क्यों आते हैं ? और किसी सपने का क्या मतलब होता है? लेकिन यह सही सही बताना बहुत ही ‌‌‌मुश्किल है की वास्तव मे सपने क्यों आते है? और सपने किस तरह से काम करते हैं? लेकिन कुछ ऐसे theory  हैं जिनके आधार पर सपनों के ‌‌‌बारे मे जाना जा सकता है।
sapne kyo aate hai

सपने भी कई तरह के होते हैं कुछ bad  सपने होते हैं तो कुछ good भी ‌‌‌होते हैं।रियल life के अंदर तो हम ‌‌‌सोये हुए होते हैं किंतु सपने के अंदर हम कुछ ना कुछ कर रहे होते हैं तब हमे यह महसूस नहीं होता है कि जो हो रहा है वो रियल में नहीं है।
 बस तब हमे सब कुछ सच सा लगता है। और जब अचानक सपने देखते समय हमारी आंख खुल जाती है तो हमे पता चलता है कि वो तो रियल मे नहीं है। कुछ लोग बहुत बढ़िया सपने देखकर enjoy  भी करते हैं जैसे कई लड़के सपने मे किसी ‌‌‌खूबसूरत लडकी के साथ होते हैं। लेकिन कुछ डरावनेसपने हम डरा भी देते हैं।

Table of Contents

पत्येक सपने का कोई कोई अर्थ होता है

हम चाहे किसी भी प्रकार के सपने देखते हों उसका कोई कोई अर्थ जरूर होता है एक लड़के ने सपने मे देखा की उसके मां की मौत होगयी है। और उसके बाद उसकें बाप की मौत भी होगयी है। लेकिन जब उसकी आंख ‌‌‌खुली तो उसने देखा ऐसा कुछ नहीं हुआ
जब psychologist ने उसके बारे मे जानकारी हासिल की तो पता चला की वह अपने मां बाप से नफरत करता था तो इसका अर्थ हुआ कि यह सपना उसकी दब चुकी इच्छा के कारण आया था। क्योंकि उसके मां बाप उसको उसकी प्रेमिका से ‌‌‌marriage के लिये रोक रहे थे

सपने क्यों आते हैं ?

सपनों के आने का कोई एक कारण नहीं है। वरन कई कारण हैं। हम यहां पर सभी को एक एक करके समझने का प्रयास करते हैं वैसे यह जो कारण हैं इनको विभन्न मनोवैज्ञानिकों के द्वारा सिद्व किया गया है। सपनों को समझने के लिये अलग अलग theory  भी दी है।

नींद के दौरान नर्व impules  दिमाग तक पहुंचने की वजह से सपने आते हैं।

sapne kyo aate hai
कुछ विद्वानों की यह मान्यता है कि जब हम सो जाते हैं तो हमारा mind के अंदर बहुत ही कम सेंस होता है सो जब हम ‌‌‌सोये हुए रहते हैं तो हमारे दिमाग के पास ‌‌‌पहुंचने वाली‌‌‌सूचनाओं से और हमारा mind उनसे भ्रमित हो जाता है। जैसे एक प्रयोग मे
एक व्यक्ति को सोते समय सेंट सूंगाया गया तो उसने सपने मे देखा की वह सेंट लाने गया था यदि व्यक्ति अधिक खाना खा लेता है तो उसके पाचन क्रिया के अंदर गड़बड़ी हो जाती है तो वह बुरे सपने ‌‌‌अधिक देखता है।
‌‌‌सपने आने का यह केवल एक ही कारण है हो सकता है कुछ लोगों को इसकी वजह से सपने आते हों

‌‌‌कामुक इच्छाओं की वजह से भी सपने आते हैं

‌‌‌आपने सुना होगा कि कुछ लोग कामुक सपने अधिक देखते हैं। इसका कारण है कि उनके दिमाग के अंदर कुछ कामुक ‌‌‌इच्छाएं दबी रहती हैं। इसी वजह से उनको कामुक सपने आते हैं। इस प्रकारकीकामुक ‌‌‌इच्छाएं किसी वजह से जब पूरी नहीं हो पाती हैं तो व्यक्ति को इनके बारे मे सपने आने लगते हैं।
यानि यदि आप किसी किसी लडकी के साथ घुमने की इच्छा कई दिनों से अपने मन मे पाले हुऐ हैं और जब वह पूरी नहीं होती तो वह अवचेतन के अंदर ‌‌‌चली जाती है। फिर आपको सपने आते हैं।

‌‌‌सपने आपको future के बारे मे बताते हैं

यह बात भी सच है कि सपने future के बारे मे जानकारी देने के लिये आते हो कई प्रयोगों से यह बात सिद्व हो चुकी है। कई बार आपके साथ भी ऐसा हुआ होगा आपने जो सपने मे देखा होगा वो रियल मे हो गया हो किंतु यह हर व्यक्ति के साथ ही ऐसा हो ‌‌‌आवश्यक नहीं है।
युंग ने एक प्रयोग के दौरान पाया कि एक सैनिक जो की अभी अभी मरा था उसकी डायरी मे तीन दिन पहले के सपनों के बारे मे लिखा था। उसने मरने से पहले सपने मे देखा  िकवह पहाड़ पर चढ़ रहा है। और जब वह अधिक ‌‌‌उच्च स्थानपरजाता है तो उसका पैर फिसल जाता है और वह मर जाता है।
‌‌‌इस प्रकार के कई उदाहरणोंसें युंग ने यह सिद्व करने का प्रयास किया है कि सपने हमें future के बारे मे कुछ संकेत देने के लिये भी आते हैं किंतु हर सपना future के बारे मे संकेत देने के लिये नहीं होता है।

वर्तमान की समस्याओं का समाधान करने के लिये सपने आते हैं

इस बात को एडलर ने अपने प्रयोग से सिद्व किया उसका मानना था कि सपने केवल future के बारे मे जानकारी देने के लिये ही नहीं आते हैं वरन यह वर्तमान के अंदर कुछ गम्भीर समस्याएं होती है उनके समाधान के लिये भी आते हैं। इस संबध मे उसने कुछ प्रयोग का उल्लेख भी किया
एक व्यक्ति ने सपने मे देखा की वह अपने ‌‌‌बॉस के साथ घूम रहा है। उसके ‌‌‌बॉस नेउसको एक पहाड़ी ‌‌‌से फूल लाने को कहा उसने यह आसान समझ कर स्वीकारकरलिया किंतु     जब वह पहाड़ी से फूल तोड़ रहा था तो उसका पैर फिसल गया और गिर पड़ा तब उसकी आंख खुल गयी जब एडलर ने उसके सपने का ‌‌‌विश्लेषण किया तो पाया की वह व्यक्ति अपनी पदोउन्नति चाहता था उसके बारे मे कुछ अधिक सोचता था
इस प्रकार से जब हमे किसी प्रकार की कोई समस्या होती है जोकि हमे अधिक ‌‌‌परेशान करती है  तो उससे जुड़ा सपना भी हमें सकता है।
जहां तक आप और हम सोच सकते हैं सपने से किसी वर्तमान समस्या का समाधान नहीं होता है किंतु यह उस समस्या के अधिक प्रभाव को जरूर बताता है।

अन्य महत्वपूर्ण इच्छाओं के दब जाने से सपने आते हैं

फ्रायड़ ने इच्छाओं के दबने की वजह से सपने आना स्वीकार किया है जब कोई ऐसी इच्छा जिसको हम पूरा नहीं कर पाते हैं तो वह हमारे अवचेतन मन के अंदर चली जाती है और हमे सपने आते हैं। जैसे किसी लड़के को बहार घूमने के लिये ‌‌‌हमेशा ही मना किया जाता है। तो वह सपने मे देखता है  वह दोस्तों के साथ जगंल मे घूम रहा है। यानि जिस व्यक्ति की कोई इच्छाएं मन के अंदर दबी रह जाती हैं वह उन्हें सपने देखकर पूरी करने की ‌‌‌कोशिश करता है।

‌‌‌कब सबसे अधिक सपने आते हैं ?

‌‌‌सपनों और नींद का संबंध है। नींद दो प्रकारकीहोती है। एक तीव्रगतिक नींद‌‌‌जिसको REM भी कहा जाता है। दूसरी ‌‌‌अति तीव्र गतिक नींद rem के अंदर व्यक्ति आधा जागता है और आधा सोता है। के अंदर व्यक्ति अधिक सपने देखता है। आपने भी यह देखा होगा कि आपको सपने केवल तब ही आते हैं जब आप पूरी तरह से गहरी नींद के अंदर नहीं होते हैं।

क्या सपने सच होते हैं ?

‌‌‌जहां तक इस मामले मे मेरा अनुभव है तो जिन लोगों को ‌‌‌हमेशा सेहीकोई ना कोई सपनेआते ही रहते हैं उनके सपने सच होने की संभावना कम होती है इसके विपरीत कुछ ऐसे व्यक्ति भी होते हैं जिनको आने वाले सपने आते तो कभी कभी हैं किंतु वो सच होते हैं। आप खुद इस बात का पता लगा सकते हैं आपके आसपास ऐसे व्यक्ति मिल जायेंगे जिनके सपनेसचहोते हों और ऐसे भी आपको मिल जायेंगें जिनके सपने सच नहीं होते हैं
यदि आप पता करना चाहते हैं कि क्या आपके सपना सच हो सकता है ?तो इसका वैसे कोई सीधा answer  नहीं है किंतु आप अपने पूर्व मे आये सपनों की ‌‌‌तुलना इस सपने से कर सकते हैं बस आप एक प्राईकता से ही पता लगा सकते हैं। सही सही कुछ नहीं कहा जा सकता और इन पर को ‌‌‌अधिक जानकारी उपलब्ध भी नहीं है।

सपने देखने के फायदे

सपने देखने के कुछ वैज्ञानिक फायदे भी हैं। अनेक रिसर्च के अंदर यह साबित हो चुका है। सपने वास्तव मे काफी फायदे मंद हो सकते हैं। आइए जानते हैं। वैज्ञानिक रिसर्च के अंदर  सपनों के किन फायदों के बारे मे बताया गया है।

  1. ‌‌सपने आपको दैनिक अनुभवों की समझ बनाने मे मदद करते हैं

ड्रीमिंग जर्नल के अंदर प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार सपने हमारे दैनिक जीवन के अनुभवों को समझने मे मदद करते हैं।विलियम डोमहॉफ ने एक विधुर द्वारा लिखी गई 143 रिपोर्टों का विश्लेषण किया, जिन्होंने 22 साल से अधिक समय से अपनी मृत पत्नी के बारे में अपने सपनों का दस्तावेजीकरण किया था।‌‌‌

और उस विधुर ने बताया कि उसने कई तरह के सपने देखे थे । जिसमे पत्नी के साथ संघर्ष वैगरह भी शामिल था। एकतरह से सपने आपके अनुभवों के लिए एक मंच प्रदान करते हैं। यह एक मनोचिकित्सक के लिए एक उपयोगी साबित हो सकते हैं।

  1. ‌‌‌सपने नींद को बेहतर बनाने का काम भी करते हैं

फ्रायड  के द्वारा बताए एक सिद्वांत के अनुसार सपने नींद के अंदर व्यवधान को रोकने का काम करते हैं।इसके लिए रिसर्च कर्ताओनें फ्रायड के इस कथन का विष्लेषण किया । इसके लिए रिसर्च कर्ताओं ने क्षतिग्रस्त लोगों के दिमाग का  अध्ययन किया तो पाया कि ‌‌‌सपने बेहतर ढंग से नींद लाने मे मदद करते हैं।

  1. ‌‌‌सपने आपको याद रखने मे मदद करते हैं

सपने देखने का यह बड़ा फायदा यह है कि सपने आपको याद रखने मे मदद करते हैं।बहुत सारे शोधों से पता चला है कि नींद आपको नई जानकारी को अवशोषित करने में मदद करती है, और कुछ ऐसे सबूत हैं जो बताते हैं कि सपने देखने से यादें भी मजबूत होती हैं।करंट बायोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने 99 लोगों को शामिल किया गया था। इसमे दो समूह थे । एक समूह को चीजें याद करने के बाद एक झपकी लेने के लिए व सपना देखने के लिए कहा गया । जबकि दूसरे समूह को बिना किसी सपने के चीजें को याद करने को कहा गया । इस परीक्षण के अंदर यह पाया गया कि‌‌‌सपने देखने वाला समूह की स्म्रति के अंदर 10 गुना अधिक सुधार हुआ था।

  1. ‌‌‌सपने हमे खतरों से लड़ने के लिए तैयार करते हैं

शोधकर्ता एंट्टी रेवोनसुओ का दावा है कि सपने हमे वास्तविक जीवन के अंदर खतरों से लड़ने के लिए तैयार करने मे मदद करते हैं।बिहेवियरल एंड ब्रेन साइंसेज में प्रकाशित इस विषय पर एक पेपर में, उन्होंने 500 शोध रिपोर्टों की जांच करने के बाद यह पाया गया कि ‌‌‌अधिकतर लोग जो सपने देखते हैं। वे नगेटिव होते हैं। इन सपनों के अंदर डर , कमजोरी और अत्याचार होते हैं। इन सपनों को देखने के बाद इंसान के मन मे आने वाली परिस्थितियों के लिए खुद को तैयार होने के लिए प्रेरित करता है।‌‌‌कुल मिलाकर हम यह कह सकते हैं कि सपने हमको बेहतर ढंग से भविष्य के अंदर आने वाले खतरों के प्रति तैयार होने मे मदद करते हैं।

  1. ‌‌‌सपने आपका मूड भी अच्छा करते हैं

मनोचिक्ति्सक अनुसंधान के अंदर प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार वैज्ञानिकों ने 60 लोगों पर सपने के मूड पर प्रभावों को जानने के लिए रिसर्च किया । इस रिसर्च के अंदर वैज्ञानिकों ने दो समूह बनाएं । कुछ लोगों  का मूड सपने देखने से पहले खराब कर दिया गया । तो कुछ ‌‌‌लोगों का मूड सही रखा गया । उसके बाद रिसर्च कर्ताओं ने सबको बीच मे जगा जगा कर पूछा कि उन्होंने कोई सपना देखा है ? यदि कोई सपना देखा है तो आप उसके बारे मे बताएं । परिणाम के अंदर यह पाया गया कि सपने देखने वाले लोगों के मूड मे सुधार हुआ । और सपनों से मूड मे बदलाव भी नहीं हुआ ।

  1. ‌‌‌सपने मे समस्या समाधान

कुछ लोग इस बात को भी मानते हैं कि सपने देखने का फायदा है। हम अपनी समस्या का जल्दी समाधान करते हैं। कहा जाता है कि कई वैज्ञानिक अनेक खोज सपने की मदद से की थी। हालांकि यह कितना सही है। इस बारे मे तो पता नहीं । लेकिन सपने हमारे अवचेतन मन से जुड़े होते हैं और ऐसा सभी ‌‌‌मानते हैं कि ‌‌‌अवचेतन मन किसी समस्या को बेहतर ढंग से सुलझाने की क्षमता रखता है।

‌‌‌बुरे सपने क्यों आते हैं ?

दोस्तों सपने वैसे दो प्रकार के होते हैं। एक बुरे सपने और दूसरे अच्छे सपने । अक्सर लोग यह पूछते हैं कि बुरे सपने क्यों आते हैं। तो दोस्तों बुरे सपने आने के कई कारण हो सकते हैं। कई बार लोग बुरे सपने की वजह से बहुत अधिक डर भी जाते हैं।

‌‌‌सोने से पहले कुछ नगेटिव सोचने से

आमतौर पर बुरे सपने तब आते हैं। जब आप सोते समय अपने दिमाग के अंदर कुछ चिंता या कुछ नगेटिव विचार लेकर सोते हैं। हालांकि गम्भीर नगेटिव विचारों की वजह से ही बुरे सपने आते हैं। क्योंकि यह गम्भीर नगेटिव विचार हमारे मन को गहरे से प्रभावित करते हैं।

‌‌‌किसी नगेटिव दूर्घटना की वजह से

कई बार बुरे सपने इस वजह से भी आते हैं क्योंकि हम किसी दूर्घटना को देख लेते हैं। आपने इस बात को नोटिस किया होगा कि जब आप के किसी प्रियजन की मौत हो जाती है। तो वह आपके सपनों मे आता है। और इससे आपको डर भी लगता है। मतलब उनकी मौत आपके मन पर गहरा प्रभाव डाल रही ‌‌‌है।

‌‌‌डरावनी फिल्मों की वजह से

जब अक्सर बच्चे डरावानी फिल्मे देखते हैं तो उनके दिमाग मे यह सब चीजें बैठ जाती हैं। और ऐसी स्थिति के अंदर यह सब सपने के अंदर आती हैं और हमे डर लगता है। हालांकि यह सब छोटे बच्चों के साथ अधिक होता है। बड़े बच्चों के साथ यह नहीं होता है।

‌‌‌आपके मन मे बैठा चिंता और तनाव

यदि आपके मन के अंदर किसी तरह का डर या चिंता बैठ चुकी है। तो इससे भी आपको डरावने सपने आ सकते हैं। जैसे किसी व्यक्ति को यह डर है कि वह बिजनेस के अंदर बरबाद हो जाएगा तो ऐसी स्थिति के अंदर उसे बुरे सपने आ सकते हैं कि वह सच मे बरबाद हो गया ।

यह लेख आपको कैसा लगा बतायें
3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *