ब्रा पहनने के फायदे और नुकसान history of bra

‌‌‌ब्रा पहनने के फायदे , ब्रा न पहनने के नुकसान और ब्रा का इतिहास के बारे मे हम इस लेख मे विस्तार से जानेंगे

आजकल ब्रा पहनना एक ट्रेड सा बन चुका है। अधिकतर महिलाएं ब्रा पहनती हैं। वहीं केवल कुछ महिलाएं ही ऐसी हैं जो ब्रा नहीं पहनती हैं। इस लेख के अंदर हम विस्तार से जानेंगे कि ब्रा पहनने के फायदे और ब्रा न पहनने के नुकसान के बारे मे । ‌‌‌इसके अलावा हम इस लेख के अंदर ब्रा से जुड़ी कुछ रोचक बाते भी बताने वाले हैं। तो इस लेख को पूरा पढ़ें ।दोस्तों हम इस वेबसाइट पर जिस भी टॉफिक पर लेख लिखते हैं। हम एक लेख के अंदर ही उस टॉफिक को कवर कर देना चाहते हैं ताकि विजिटर को बार बार न्यू पेज खोलना ना पड़े।

‌‌‌आज से कई साल पहले महिलाएं ब्रा नहीं पहनती थी। वरन अपने ब्रेस्ट को किसी कपड़े से ढ़कर या बांध कर रखती थी । लेकिन उसके बाद जैसे जैसे इंसानों का नॉलेज बढ़ा ब्रा की साईज के अंदर बदलाव आने लगा । ब्रा का कर्मिशियल उपयोग 1930 के अंदर शूरू हुआ था । पहली आधुनिक ब्रा को 188 9 में जर्मन क्रिस्टीन हार्डट द्वारा पेटेंट किया गया था। जर्मनी के स्टुटगार्ट-बैड कैनस्टैट के सिगमंड लिंडौयर ने 1 9 12 में बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए ब्रा विकसित की और 1 9 13 में इसे पेटेंट किया। यह मैकेनिचेन ट्रायकोटवेबेरी लुडविग द्वारा बड़े पैमाने पर उत्पादित किया गया था।

Table of Contents

‌‌‌ब्रा पहनने के फायदे

जैसा कि हर चीज के जहां पर कुछ फायदे होते हैं। वहीं उसके कुछ नुकसान भी होते हैं। यदि आप ब्रा नहीं पहनती हैं। तो इसके कुछ फायदे हैं। वहीं इसके कुछ नुकसान भी हैं। तो आइए जान लेते हैं सबसे पहले ब्रा पहनने के फायदों के बारे में ।

  • ‌‌‌ब्रा पहनने के फायदे महिलाओं के ब्रेस्ट ढीले नहीं होते हैं

महिलाओं के ब्रेस्ट एडिपोस टिश्यूज से बने होते हैं। और जब महिलाएं ब्रा पहनती हैं तो उनके स्तनों को स्पोर्ट मिलता है। और स्तनों का आकार सही रहता है। आमतौर पर ब्रा पहनने से स्तन ढीले नहीं होते हैं। जितने बड़े स्तन होते हैं। उनका ‌‌‌ढीले होने का उतना ही ज्यादा चांस रहता है। ब्रा पहनने का फायदा यह है कि वह स्तनों के आकार को सही रखने मे मदद करती है।

  • ‌‌‌ब्रा पहनने के फायदे आत्मविश्वास बढ़ता है

जब किसी महिला का लुक अच्छा नहीं दिखेगा तो उसका आत्मविश्वास भी कमजोर हो जाएगा क्योंकि उसे लगेगा कि वह दिखने मे इतनी अच्छी नहीं है। तो वह खुद नगेटिव हो जाएगी । लेकिन ब्रा पहनने से महिलाओं का लुक अच्छा दिखता है। और इससे उनका आत्मविश्वास ‌‌‌भी बढ़ता है।

  • ‌‌‌स्तनों का आकार अच्छा दिखता है

जो महिलाएं ब्रा नहीं पहनती हैं। उनके स्तनों का आकार अच्छा नहीं दिखता है। ब्रा की मदद से महिलाएं अपने स्तनों को अच्छे से एडजस्ट कर पाती हैं। यहां तक कि वे अपने स्तनों के आकार को कम भी दिखा सकती हैं। लेकिन ब्रा न पहनने से उनके स्तन जैसे हैं वैसे ही दि ‌खते हैं।

  • ‌‌‌खुद को कम्फर्टेबल महसूस करना

भले ही आजकल महिलाओं के अंदर ब्रा नहीं पहनने का ट्रेड चल रहा हो । लेकिन सारी महिलाएं बिना ब्रा के खुद को कम्फर्टेबल महसूस नहीं करती हैं। वहीं ब्रा पहनने का एक फायदा यह भी है कि ब्रेस्ट के नीचे जो पसीना आता है। उसे ब्रा ‌‌‌ब्रा पहनने के फायदे त्वचा के ढीलेपन को रोकना

  • ‌‌‌त्वचा का ढीलापन

मुख्य रूप से ब्रा न पहनने से होता यह है कि त्वचा ढीली हो जाती है। और वह नीचे की और लटकने लग जाती है। इसको रोकने के लिए भी ब्रा पहनी जाती है ताकि त्वचा नीचे की ओर ना लटके ।सोख लेती है। जिससे इन्फेक्सन वैगर होने के ‌‌‌चांस कम हो जाते हैं।

  • ‌‌‌अपने स्तनों को छुपाने के लिए

जो महिलाएं ब्रा नहीं पहनती हैं। उनके स्तन नीचे लटके रहते हैं और जब वे कहीं पर काम करती हैं। या उपर नीचे होती हैं तो उनके स्तन आसानी से दिख जाते हैं। और महिलाएं नहीं चाहती हैं कि उनके स्तनों को कोई देखे । वे ब्रा पहन लेती हैं। जिससे उनके स्तन काफी टाईट हो ‌‌‌जाते हैं। और महिलाओं के झुकने पर भी नहीं लटकते हैं।

sports bras पहनने के फायदे

‌‌‌वैसे ब्रा कई सारे प्रकारों के अंदर आती है। जिसमे एक प्रकार होता है sport bra‌‌‌ यह ब्रा काफी अच्छी आती है। और इसको पहनने के फायदे भी हैं। स्पोर्ट ब्रा मे महिलाओं के स्तन कसे हुए नहीं रहते हैं। जैसा कि आम ब्रा के अंदर होता है। वरन वे ब्रा के अंदर अच्छे से कम्फोर्टे‌‌‌बल रहते हैं।‌‌‌इस प्रकार की ब्रा को महिलाएं खेल खूद के अंदर व्यायाम मे काफी अधिक इस्तेमाल करती हैं।

  • Sports bras स्तन दर्द को कम करता है

जब एक महिला के स्तन उपर नीचे या बाएं दाएं किसी व्यायाम या तेज दौड़ने की वजह से या खेल खूद की वजह से होते हैं तो ऐसी स्थिति के अंदर उनके स्तन दर्द कर सकते हैं। सो स्पोर्ट ब्रा स्तनों के हिलने डूलने को नियंत्रित करती है। ‌‌‌जिससे स्तनों के अंदर दर्द की संभावना कम हो जाती है।

  • ‌‌‌आपके स्तनों को पूरी तरह से ढ़कने मे मददगार

स्पोर्ट ब्रा आपके स्तनों के उपर पूरी तरह से चिपक जाती है। जिसका फायदा यह होता है। कि आपके स्तन पूरी तरह से ढ़क जाते हैं। और आपको लोग गंदी नजरों से नहीं घूरते हैं। आमतौर पर जो महिलाएं ब्रा नहीं पहनती हैं। उनके स्तन दिखते हैं। जिससे उनके स्तनों ‌‌‌को लोग घूरने लगते हैं।

  • कॉस्मेटिक सर्जरी मे स्पोर्ट ब्रा फायदे मंद

जिन महिलाओं को स्तन सर्जरी से होकर गुजरना पड़ा है। उनके लिए स्पोर्ट ब्रा पहनना आवश्यक होता है।इसको एक सर्जरी के बाद की चिकित्सा माना जाता है।

  • ‌‌‌स्पोर्ट ब्रा नियमित ब्रा का एक विकल्प है

स्पोर्ट्स ब्रा पहनना कसरत सत्र तक सीमित नहीं है। घर पर, घर पर काम करते समय, घर के कामकाज, सफाई या दैनिक आधार पर चलने के दौरान भी आप स्पोर्ट्स ब्रा को रख सकते हैं। उनके पास पट्टियां नहीं होती हैं, उन्हें रखना आसान होता है, वे त्वचा के निशान नहीं छोड़ते हैं, वे आपके स्तनों को अधिकतम समर्थन प्रदान करते हैं और वे आरामदायक होते हैं।

‌‌‌ब्रा न पहनने के फायदे

ब्रा पहनने के बहुत सारे रिजन होते हैं। लेकिन बहुतसी महिलाओं को ब्रा पहनना अच्छा भी नहीं लगता है। उन्हें यह सब एक झंझट सा लगता है। लेकिन अपने स्तनों का आकार बिगड़ जाने की वजह से महिलाएं ब्रा पहने रखती हैं। लेकिन वास्तव मे ब्रा न पहनने के बहुत सारे फायदे है। ‌‌‌यदि इन फायदों को जान लेते हैं तो आप अपना विचार बदल सकती हैं तो आइए जान लेते हैं। ब्रा न पहनने के फायदों के बारे मे भी ।

  • ‌‌‌ब्रा न पहनने के फायदे ब्रेस्ट का आकार बढ़ता है

बहुतसी महिलाओं के ब्रेस्ट छोटे होते हैं। और वे अपने ब्रेस्ट के आकार को बढ़ाने के लिए उपाय करती हैं। लेकिन आप जब ब्रा नहीं पहनती हैं तो पेक्टोरल मसल्स काम करती है। और ब्रेस्ट का आकार बढ़ जाता है। लेकिन ब्रा पहनने से भी ब्रेस्ट का आकार बढ़ ‌‌‌जाता है। ‌‌‌स्तन रहते हैं हेल्दी

ब्रा न पहनने का यह भी बहुत बड़ा फायदा है कि आपके स्तन हेल्दी रहते हैं।ब्रा पहनने से टॉक्सिक कम्पाउंड आपके सीने के आस पास जम जाते हैं। लेकिन ब्रा ना पहनने से यह शरीर से होकर बाहर निकल जाते हैं। दूसरी बात रात को ब्रा पहन कर सोने से ब्रा के आस पास ऑक्सीजन अच्छे से ‌‌‌संचरित नहीं हो पाती है। जिसका असर आपकी हेल्थ पर भी पड़ता है।

  • ‌‌‌ब्लर्ड सर्कुलेशन बेहतर तरीके से होता है

क्या आप जानते हैं आपकी ब्रा ब्लड सर्कुलेशन को भी प्रभावित करती है। जब आप ब्रा पहने रखती हैं तो आपके स्तनों की नसें दबी रहती हैं। जिससे ब्लड अच्छे से फलो नहीं हो पाता है। लेकिन ब्रा न पहनने से इसमे कोई समस्या नहीं होती ।

  • ‌‌‌स्तनों के आस पास निशान

जो महिलाएं नियमित रूप से ब्रा पहनती हैं। उनके स्तनों के आस पास निशान पड़ जाते हैं। इसके अलावा यदि महिलाएं ब्रा नहीं पहनती हैं तो ऐसा कुछ नहीं होता है।

  • ‌‌‌बेहतर नींद

यदि आप भी ब्रा पहनकर सोती हैं तो आपको अच्छी नींद आने मे समस्या हो सकती है क्योंकि आपको अपने सीने के अंदर एक खींचाव सा महसूस होगा । आपको अच्छी नींद लेने के लिए ब्रा पहनकर सोना छोड़ देना चाहिए।

  • ‌‌‌दर्द

यदि आप गलत साईज का ब्रा पहनलेती हैं तो आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जैसे आपके कंधे और मासपेशियों के अंदर दर्द हो सकता है। इसके अलावा ब्रा के आपकी त्वचा पर निशान भी पड़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त सिरदर्द भी हो सकता है।

  • ‌‌‌ब्रा न पहनने के फायदे Healthy Breast Tissue

15 साल की वैज्ञानिक स्टडी के बाद वैज्ञानिकों ने नतीजा निकाला की ब्रा न पहनने से ब्रेस्ट के टिश्यू खत्म नहीं होते हैं। मांसपेशियां भी मजबूत होगीं । जो स्तन को बड़ा और सुंदर बनाने मे काफी मददगार होगी । ‌‌‌

‌‌‌ब्रा न पहनने के नुकसान

आजकल अधिकतर महिलाएं ब्रा पहनती हैं। इसके पीछे की वजह चाहे जो हो । लेकिन कुछ ऐसी महिलाएं भी हैं जो ब्रा पहनना नहीं चाहती हैं। और जबरदस्ती पहनती हैं कि कहीं उनके स्तनों का सेप ना गिड़ जाए । लगे हाथ हम ब्रा न पहनने के कुछ मामूली नुकसान के बारे मे भी जान लेते हैं।

  • ‌‌‌ब्रा न पहनने के नुकसान आपके स्तन ढीले हो सकते हैं

आमतौर पर जब महिलाएं ब्रा पहनती हैं तो उनके स्तन ढीले नहीं होते हैं और वे लटकते नहीं हैं। लेकिन जो महिलाएं ब्रा नहीं पहनती हैं ।उनके स्तन ढीले हो सकते हैं और वे लटक भी सकते हैं। जिन महिलाओं के स्तन बढ़े होते हैं। उनका लटकने का खतरा अधिक ‌‌‌रहता है।

  • ‌‌‌महिलाओं के आकर्षण मे कमी

जो महिलाएं ब्रा नहीं पहनती हैं और उनके स्तन छोटे होते हैं। या ढीले होते हैं। वे महिलाएं बिना ब्रा के ज्यादा हॉट नहीं दिख पाती हैं। यदि आपको ज्यादा हॉट और आकर्षक दिखना है। तो ब्रा अवश्य ही पहन लेनी चाहिए । यह महिलाओं मे आकर्षण को बढ़ाती है।

  • ‌‌‌गलत नजरें पड़ना

अक्सर आपने देखा होगा कि जो महिला ब्रा नहीं पहनती है। उसके स्तन काफी हिलते डुलते रहते हैं। और कई बार तो वे बाहर भी दिखाई दे जाते हैं। इस वजह से बहुत से पुरूष ऐसी महिलाओं को घूरने लग जाते हैं। यदि आप चाहती हैं कि कोई पुरूष आपको घूरें नहीं तो आपको ब्रा अवश्य ही पहननी चाहिए।

  • ‌‌‌स्तनों को सही आकार नहीं मिलता है

यदि आप ब्रा नहीं पहनती हैं तो आपके स्तन लटक जाते हैं यदि आप उनको आकार देना चाहती हैं । उनको एक अच्छी सेफ के अंदर बनाए रखना चाहती हैं तो आपको ब्रा तो कम से कम अवश्य ही पहननी चाहिए । जिससे आपके स्तनों का आकार आप अच्छे से मैनेज कर पाएंगी ।

  • ‌‌‌स्तन मे दर्द होना

जो महिलाएं ब्रा नहीं पहनती हैं। और व्यायाम वैगरह या दौड़ती हैं। या खेलती हैं। बिना ब्रा की स्थिति के अंदर उनके स्तन बहुत ज्यादा हिलते डुलते रहते हैं। जिनका स्तनों के टिश्यू पर गलत असर पड़ता है। और स्तन के अंदर दर्द पैदा हो सकता है। यदि आप नहीं चाहती की आपके स्तन ‌‌‌दर्द हो तो आपको ब्रा अवश्य ही पहननी चाहिए ।

‌‌‌एक अच्छी ब्रा का चुनाव कैसे करें

‌‌‌बहुत सी महिलाओं को यह समस्या आती है कि वे गलत साईजी की ब्रा मार्केट से खरीदकर ले आती हैं। जिसकी वजह से उनको काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति के अंदर वे गलत साईज की ब्रा महिलाओं के कंधे मे दर्द भी पैदा कर देती है। और चमड़ी पर बुरी तरह उसके निसान भी बन जाते हैं।

‌‌‌यदि आप मार्केट से ब्रा खरीदने जा रही हैं तो हम आपको बताते हैं कि आप एक अच्छी ब्रा कैसे खरीद सकती हैं।

  • ‌‌‌सही बैंड साईज का चुनाव करें

एक रिसर्च के अनुसार दुनिया की अधिकतम महिलाएं गलत साईजी की ब्रा पहनती हैं। इस वजह से महिलाओं को काफी परेशानी होती है। आप जो भी ब्रा का चुनाव करें । तो उससे पहले अपनी बैंड साईज के बारे मे भी जानलें ।‌‌‌अपनी बैंड साईज जानने के लिए फीते को अपने ब्रेस्ट के नीचे से नापे और उसमे 5 जोड़दें वही आपकी ब्रा का सही साईज होगा।

  • ‌‌‌ब्रेस्ट साइज भी नापें

अपनी कमर के चारों और फीते को घूमाकर अपने ब्रेस्ट के उस भाग पर से नापे जहां पर ब्रेस्ट का साईज सबसे अधिक है। इस आधार पर आप यह आसानी से तय कर सकती हैं कि आपके लिए सही ब्रा कौनसी है।

  • ‌‌‌ब्रा को ज्यादा ढीला ना खरीदें

यदि आप ब्रा को पहले ही ढीला खरीद लेती हैं तो कुछ समय यूज करने के बाद यह और ज्यादा ढीली हो सकती है। जिससे आपको भी परेशानी हो सकती है। जब आप टाईट ब्रा लेती हैं तो बाद मे ब्रा ढीली होने के बाद आप पीछले हुक का यूज करते हुए अपनी ब्रा का लम्बे समय तक यूज कर सकती हैं।

  • ‌‌‌दो उंगलियों का रूल

अच्छी ब्रा फिटिंग के लिए आपको ब्रा पहनकर पीछे ब्रा के अंदर दो उंगलियां डालकर देखनी चाहिए कि क्या ब्रा आपके लिए कम्फोर्टेबल है या नहीं । यदि ब्रा ज्यादा टाइट होगी तो समस्या है। और ज्यादा ल्यूज होने पर भी समस्या है।

‌‌‌हूमेन ब्रा का रोचक इतिहास

दुनिया के अंदर एक दशक था जब महिलाएं स्तन ढ़कने के लिए किसी भी कपड़े का प्रयोग नहीं करती थी । ब्रा शब्द का हिंदी के अंदर मतलब होता है। शरीर का ऊपरी हिस्सा ऐसा माना जाता है कि पहली ब्रा फ्रांस के अंदर बनी थी ।सन 1869 के अंदर फ़्रांस की हर्मिनी कैडोल ने कपड़े बनाए ‌‌‌जिनके उपरी हिस्से को एक ब्रा की तरहा बेचे जाने लगा ।

‌‌रौमन औरते स्तनों को छिपाने के लिए छाती के चारों और कपड़ा बांध लेती थी ।

  • मिस्र के अंदर ब्रा का इतिहास

आमतौर पर मिस्र के अंदर महिलाएं नंगे ही स्तन पान कराती थी । मिस्र मे महिलाएं ब्रा के रूप मे ट्यूनिक नामक एक आयताकार कपड़े का प्रयोग करती थी । जिसकी मदद से वे अपने स्तन को आसानी से ढक सकती थी । इसके अलावा यह पहनने मे काफी कम्फोर्टेबल भी था ।

  • इंडिया मे ब्रा का इतिहास

यद्यपि प्राचीन भारतीय मूर्तियों में अधिकांश महिला आंकड़े ब्लाउज से रहित हैं, फिर भी प्राचीन भारतीय महिलाओं के ब्रा पहनने के कई उदाहरण हैं। भारत में ब्रा का पहला ऐतिहासिक संदर्भ राजा हर्षवर्धन (1 शताब्दी ईस्वी) के शासन के दौरान पाया जाता है। विजयनगर साम्राज्य के दौरान सीवन ब्रा और ब्लाउज बहुत प्रचलित थे और शहरों ने उन वस्त्रों के साथ छेड़छाड़ की जो इन वस्त्रों के तंग फिटिंग में विशिष्ट थे। इस अवधि के साहित्य में विशेष रूप से बसवपुराना 1237 में आधे आस्तीन वाले तंग बोडिस या कंचुका के आंकड़े मुख्य रूप से युवा लड़कियों द्वारा कंचुक पहने जाते हैं

  • यूनान मे ब्रा का इतिहास

3,000 साल पहले क्रेते द्वीप पर मिनोन महिलाओं ने ब्रा जैसे वस्त्रों को पहन रखा था । इसका सबसे अच्छा उदाहरण है। सांप देवी उनके कपड़े यदि आप देखते हैं तो आपको एक मोर्डन लुक नजर आएगा । मिनोन द्विप पर महिलाएं ब्रा के रूप मे कोरसेलेट का प्रयोग करती थी ।

  • ‌‌‌रोम मे ब्रा का इतिहास

रोम के अंदर महिलाओं ने यूनानी ब्रा के जैसे ही मैमिलर नामक ब्रा का यूज अपना स्तन ढ़कने के लिए किया । बड़े स्तनों वाली महिलाओं को यहां पर बूढ़ा माना जाता था । और छोटे स्तन वाली लड़कियां बैंड पहनती थी ।

  • पूर्वी एशिया

चीन में, कमर पर बंधे एक ढीले रेशम बोडिस और 14 वीं-17 वीं शताब्दी के मिंग राजवंश के दौरान अमीर महिलाओं के बीच डूडू नामक गर्दन के चारों ओर बंधे या लूप किए गए यह सफल किंग राजवंश 17 वीं -20 वीं शताब्दी के तहत लोकप्रिय रहा।

  • ब्रिटेन में विक्टोरियन युग

बात करें विक्टोरियन युग की तो इस समय कपड़ों की नैतिकता पर कुछ ज्यादा ही जोर दिया गया । इस युग के अंदर महिलाओं के शरीर पर कई प्रकार के कपड़े लाद दिये गए ।जिनमें एक ड्रॉस्ट्रिंग नेकलाइन के साथ केमिज़, आम तौर पर दराज, फिर कॉर्सेट और कॉर्सेट कवर, पेटीकोट, हूप स्कर्ट, ओवर पेटीकोट, ‌‌‌यह सब इसमे शामिल थे ।

जर्मनी के स्टुटगार्ट-बैड कैनस्टैट के सिगमंड लिंडौयर ने 1 9 12 में बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए ब्रा विकसित की और 1 9 13 में इसे पेटेंट किया।प्रथम विश्व युद्व समाप्त होने के बाद अधिकांश फैसन सचेत महिलाएं ऐशिया यूरोप और अफ्रिका व अमेरिका के अंदर महिलाएं ब्रा पहन रही थी ।

The secret of the ghost chair शापित कुर्सी का रहस्य

सड़क पर बैग बेचने वाला कैसे बना करोड़पति पढ़िए सक्सेस स्टोरी

1 9 10 में, 1 9 वर्षीय न्यूयॉर्क सोशलाइट, मैरी फेल्प्स जैकब जिसको बाद मे कैरेस क्रॉस्बी के रूप मे जान गया । उसने शाम को एक गाउन खरीदा जो उसको फिट नहीं हुआ और इस व्यवस्था से असंतुष्ट, उसने अपनी नौकरानी के साथ दो रेशम रूमाल और कुछ गुलाबी रिबन और कॉर्ड के साथ फैशन बनाने के लिए काम किया। ‌‌‌उसके बनाए इस डिवाइस को देखकर उसे ऐसा और बनाने के लिए लोगों ने डॉलर देने की पेशकस की थी तो उसे लगा कि उसका आइडिया व्यवसाय के अंदर बदल सकता है।

3 नवंबर, 1 9 14 को, अमेरिकी पेटेंट कार्यालय ने पहला अमेरिकी पेटेंट जारी किया । “बैकलेस ब्रा” के लिए। क्रॉस्बी पेटेंट एक ऐसे उपकरण के लिए था जो हल्के, मुलायम, पहनने के लिए आरामदायक था।

क्रॉस्बी ने इस काम को ज्यादा दिनों तक नहीं किया क्योंकि उनके पति ने उन्हें हतोत्साहित किया । उसके बाद ब्रिजपोर्ट, कनेक्टिकट में वॉर्नर्स ब्रदर्स कॉर्सेट कंपनी इस ब्रा का निर्माण किया लेकिन यह लोकप्रिय शैली नहीं बन सकी और फिर उसने भी 15 मिलियन डॉलर की कमाई करके इस व्यवसाय को बंद कर दिया।

‌‌‌ब्रा का विरोध

आज ब्रा महिलाओं के बीच काफी अधिक लोकप्रिय हो चुकी है। लेकिन महिलाओं ने कई बार इस ब्रा का विरोध भी किया है। 1921 में अमरीकी डिज़ाइन आइडा रोजेंथल ने कप साईज की ब्रा बनानी शूरू की जो आज भी जारी है।1968 में तक़रीबन 400 औरतें मिस अमरीका ब्यूटी पीजेंट का विरोध करने के लिए इकट्ठा हुईं. ‌‌‌उन्होंने मैकअप ब्रा जैसी चीजें एक कूडे दान के अंदर फेंक दी थी । उनके द्वारा फेंकने की वजह थी कि महिलाओं पर सुंदरता को थौपा जाना।

1960 के दशक में ‘भी कई महिलाओं ब्रा को जला दिया था । जो ब्रा नहीं पहनने के लिए किया गया विरोध था । 2016 के अंदर एक बार फिर ब्रा को विरोध का सामना करना पड़ा । इसकी वजह थी ।17 साल की कैटलीन जुविक बिना ब्रा के स्कूल के अंदर चली गई। तब उसके प्रिंसिपल ने ब्रा नहीं पहनकर आने का कारण पूछा।

‌‌‌ब्रा पहनने के फायदे , ब्रा न पहनने के नुकसान और ब्रा का इतिहास के बारे यह लेख आपको कैसा लगा कमेंट करके बताएं

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *