भूत को बुलाने का मंत्र भूत प्रेत वशीकरण मंत्र Ghost phantom vasikaran mantra and ghost call

आइए जानते हैं प्रेत भूत को बुलाने का मंत्र आप कैसे भूत से दोस्ती कर सकते हैं

यदि आप भी काली ताकतों को स्वामी बनने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि आपके अंदर भी वो अदभुत ताकते हों जिनकी मदद से आप कुछ भी आसानी सें कर सकें । अपनी इच्छाओ को पूरा कर सकें तो इस लेख को पूरा पढ़े । ‌‌‌अलौकिक ताकते प्राप्त करनें के लिए आपको एक साधारण सा प्रयोग करना है। यदि आपको डर नहीं लगता हो तो आप यह प्रयोग कर सकते हैं।ghost photo

‌‌‌सबसे पहले रात को 11 बजे के आस पास एक बोतल के अंदर पानी भरलें और फिर दूर खेतों की ओर निकल जाएं । ध्यान दें आपको एक ऐसी जगह पर देसी बबूल को तलास करना है जो सुनसान हो । उसके अंदर रोज एक लोटा पानी डालें और ध्यान दें आपको पानी डालते समय कोई देखे ना । ‌‌‌पानी केवल दक्षिण के अंदर मुंह करके पानी डालना होगा ।‌‌‌यह साधना काफी अधिक ताकतवर है। यह 41 दिन की साधना है।

ओम भूतेश्वरी मम वश्य कुरू कुरू स्वाहा

यह मंत्र आपको रोज 108 बार जप करने के बाद पानी का लौटा बबूल के पेड़ के अंदर डाल देना है।

‌‌‌10 दिन इसको करने के बाद आपको होगी घबराहट

जब आपको बबूल के अंदर पानी डालते हुए 10 दिन हो जाएंगे तो आपको डर का एहसास होगा । लेकिन डरे नहीं वरन काम को जारी रखें ।

‌‌‌अमावश्या को प्रयोग करे शूरू

इस काम को केवल अमावश्या से ही शूरू करना होगा । अमावश्या से लेकर आपको यह काम 41 दिन तक ही करना होगा ।

‌‌‌41 वें दिन क्या करना होगा ?

जब आपको 40 दिन हो जाएं तो 41 वे दिन बबूल के पेड़ के अंदर जल नहीं डालें सिर्फ मंत्र ही पढ़े । तब आपके सामने भूतनी या प्रेत पक्रट होगा और बोलेगी पानी डालों तब आप बोलना पानी तो डालदूंगा ।लेकिन इसके बदले आपको मेरा एक काम करना होगा । ‌‌‌आपको मेरी इच्छाओं को पूरा करना होगा । उससे वचन लेने के बाद जल को बबूल के पेड़ के अंदर डालदें ।

‌‌‌भूत बुलाने का दूसरा मंत्र

दोस्तों वैसे तो भूत बुलाने के अनेक मंत्र आपको किताबों के अंदर मिल जाएंगे । लेकिन ऐसी किताबे मिलना काफी कठिन होती हैं। और अक्सर ऐसी किताबों को किसी को बेचा भी नहीं जाता है।

दोस्तों यदि आपको पहला तरीका कठिन लग रहा है तो हम आपके लिए हम दूसरा तरीका लेकर आएं हैं।

‌‌‌इसके लिए सबसे पहले रात को 12 बजे शमासान के अंदर जाएं और वहां से कुछ राख लेकर आ जाएं । उसके बाद नीचे दिये गए मंत्र की मदद से उस राख को 108 बार अभिमंत्रित करें । आप इसको घर से बाहर ही करें । उसके बाद राख का माथे पर टीका लगाएं व कुछ राख अपनी जेब के अंदर रखकर घूमने निकल जाएं ।‌‌‌आपको भूत वास्तव मे दिखाई देंगे । लेकिन इस प्रयोग को कभी भी अकेले के अंदर ना करें । ऐसा करने से आपको बड़ा खतरा हो सकता है।

‌‌‌ओम भूतेश्वरी नम:

‌‌‌आक के पेड़ से भूत को बुलाना

इस विधि के अंदर आपको कोई मंत्र वैगरह का जाप नहीं करना है। बस आपको एक आक के पेड़ के नीचे पानी डालकर आना होता है। हालांकि आप इस प्रयोग को कभी भी कर सकते हैं। यदि आप चाहें तो दिन के अंदर दोपहर 12 बजे आप रोज आक के पेड के अंदर पानी डाल कर आएं ।‌‌‌ऐसा लगातार 21 दिन तक करना है। और पानी डालने के बाद आपको वहां पर अपने दोनों हाथ जोड़कर आ जाने हैं। जब 21 वां दिन आएगा । तो आपके सामने आक का भूत प्रकट होगा और बोलेगा कि आपको क्या चाहिए। ऐसी स्थिति के अंदर आपको डरना नहीं है। उसे खून का छांटा देकर अपने वश मे कर लेना है।‌‌‌इस विधि को भी अकेले कभी नहीं करें ।

‌‌‌किसी पंडित के पास जाएं

भूत बुलाने का सबसे आसान और सबसे सुरक्षित तरीका है। आपके आस पास ऐसे अनेक पंड़ित हैं जो बूझा देखते हैं। और उनके पास दूर दूर के लोग आते हैं। आप उनके पास जाएं और इस बात का निवेदन करें कि  वे उनको कोई भूत एक बार अवश्य ही दिखाएं । यदि आप उनसे निवेदन करकेंगे तो वे आपको ‌‌‌अवश्य ही भूत दिखाएंगे । लेकिन इसमे आपको कोई भी रिस्क नहीं रहेगा। अक्सर लोग बिना ज्ञान की वजह से कुछ भी गलत तंत्र साधना कर बैठते हैं। और इसी वजह से उनको नुकसान  भी उठाना पड़ता है।‌‌‌इसके अलावा यदि आप किसी भूत को बोलता हुआ देखना चाहते हैं। तो भी आप यहां पर जाकर देख सकते हैं। आपको कुछ अलग ही अनुभव होंगे ।

‌‌‌भूत बुलाने का मंत्र

दोस्तों यदि आपको बाकी दिये गए कोई भी तरीके पसंद नहीं आ रहे हैं तो आप भूत बुलाने के इस मंत्र का भी आप यूज कर सकते हैं। मंत्र कुछ इस प्रकार से है।

क्रीं क्रीं सदात्मने भूताय मम मित्र रूपेण

सिद्धिम कुरु कुरु क्रीं क्रीं फट्

अमावस्या के दिन स्नान आदि करने के बाद शरीर पर लाल वस्त्रधारण करें । और मन ही मन चिंतन करें कि प्रेत मेरे मित्र के रूप मे रहे । रात को 12 बजे के आस पास पिपल के पेड़ के पास जाएं और पांच हरे पतों पर सुपारी चढ़ाएं । उसके बाद प्रेत का ध्यान करें । ‌‌‌उसके बाद लोहबान अगरबत्ती, काले तिल व दही चढ़ाएं और फूल अर्पित करें । उसके बाद हकीक माला से 11 माला जाप करना है।उसके बाद भूत आपके वश मे हो जाएगा ।

‌‌‌मिठाई की मदद से भूत बुलाना

वैसे यह प्रयोग बहुत ही खतरनाख है। और इसको किसी भी सिद्व पुरूष के साथ लिए बिना नहीं करना चाहिए। वरना बड़ी हानि हो सकती है। यदि आप भूत देखना चाहते हैं तो रात को 12 बजे श्मसान के अंदर जाएं और अपने साथ कुछ मीठाई लेकर जाएं और किसी पेड़ की जड़ों के अंदर मिठाई चढ़ा‌‌‌कर बोले कि  हे प्रेत मेरे उपहार को स्वीकार करो । संभव है प्रेत आपके सामने तुरन्त ही आ जाएं । यदि उस वक्त आपके सामने नहीं आते हैं तो ऐसा कुछ दिन तक अवश्य ही करें।आपके सामने भूत अवश्य ही आ जाएंगे ।

‌‌‌यदि आप चाहें तो रात को किसी भी ऐसे व्यक्ति नाम लेकर भोग लगा सकते हैं जो मरने के बाद भूत बन गया हो । यदि आप ऐसे व्यक्ति का नाम लेकर मिठाई वैगरह चढ़ाएंगे । तो निश्चित रूप से आपको भूत के दर्शन हो जाएंगे ।

‌‌‌जब आप भूत के बंवडर मे फंस जाएं

अक्सर भूत प्रेत की पूरी विधियों का ज्ञान नहीं होने के कारण लड़के लोग भूतों के बवंडर के अंदर फंस जाते हैं। और ऐसी स्थिति के अंदर कई बार तो जिंदगी से भी हाथ धोना पड़ता है।यदि आप गलती से फंस भी जाएं तो हम आपको इसका कुछ ईलाज बताते हैं।

  • ‌‌‌हनुमान चालिसा को हमेशा ही पूरा याद रखना चाहिए। इसका फायदा यह होता है कि यदि आप कहीं पर भी भूत प्रेत के बीच फंस गए तो फिर आप इससे बोलोगे तो आपके पास कोई भी भूत नहीं आएगा ।
  • ‌‌‌मां दुर्गा का मंत्र ॐ ऎं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै यदि आप जपोगे तो कोई भी भूत आपके पास नहीं आ सकेगा।
  • यदि कोई भूत आपको दिख जाए तो गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए।

‌‌‌सुरक्षा का ध्यान रखें

यदि आपको तांत्रिक विधियों के बारे मे जरा भी पता नहीं है तो आप इस प्रयोग को ना करें तो बेहतर होगा । क्योंकि कुछ भी गड़बड़ होने पर हो सकता है इसमे आपके लिए काफी बड़ा खतरा पैदा हो जाए । ‌‌‌इस वजह से यह प्रयोग किसी योग्य तांत्रिक की देख रेख मे ही करें ।

12 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *