sip बंद कैसे करवा सकते हैं How to turn off SIP

sip के बारे मे आप जानते ही होंगे । sip जिसको सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान भी कहा जाता है। इसके अंदर आपको कुछ फिक्स राशी मंथली रूप से इन्वेस्ट करनी होती है। इसके अंदर आप पहले से तय समयअवधि तक पैसा जमा करवाते रहते हैं। समय अवधि पूरी ‌‌‌होने से पहले भी आप sip को बंद करवा सकते हैं। sip बंद कैसे करवाएं इस बारे मे हम आपको विस्तार से जानकारी देने वाले हैं। sip पर आपको तब अधिक फायदा मिलता है। जब आप इसको लंबे समय तक करवाते हैं। छोटे समय के लिए इस पर आपको कोई खास फायदा नहीं मिलता है। इसके अलावा आपको इस पर रिटर्न भी अच्छा मिल जाता है।

Sip बंद कैसे करवाई जाए

म्यूचूअल फ़ंड स्कीम बाजार के अंदर कैसा प्रदर्शन कर रही है? इस बात का पता आप उसी तरह की दूसरी स्कीम की स्थिति देखकर लगा सकते हैं। यदि आप इस वजह से sip बंद करवाना चाहते हैं क्योंकि वह कुछ अच्छा नहीं कर पा रही है तो रूक जाएं क्योंकि sip होती ही सिर्फ इसलिए

‌‌‌है कि बाजार के अंदर हर स्थिति के अंदर निवेश किया जाए । चाहे बाजार डाउन हो या उपर चल रहा हो निवेश हर स्थिति के अंदर हो ।

‌‌‌यदि आप फिर भी sip को बंद करवाने की सोच रहे हैं तो आप यदि ऑनलाईन बैंक sip करवा रहे हैं तो आप उस बैंक को इस बारे मे सूचित कर सकते हैं। इसके अलावा यदि आप ऑफलाइन sip करवा रहे हैं तो आप उस संस्था के अंदर जाकर इस बात की सूचना दे सकते हैं कि आप sip बंद करवाना चाहते हैं।

‌‌‌बैंक sip को बंद कराने का तरीका

यदि आपने किसी बैंक से sip करवा रखी है तो आप उसे बहुत ही ईजी तरीके से बंद करवा सकते हैं। आप चाहें तो अपने बैंक जाकर इसकी सूचना दे सकते हैं कि आप sip बंद करवाना चाहते हैं। यदि आप इसकी सूचना नहीं देना चाहते हैं। ‌‌‌इसके अलावा दूसरा तरीका है आप ऑनलाइन कम्पनी को बिलर के रूप मे हटा सकते हैं। इसके अलावा तीसरा तरीका है आप अपने खाते के अंदर रकम को कम करदें । सामान्यत जब तीन बार से अधिक आपके खाते के अंदर पर्याप्त राशी नहीं मिलती है तो आपकी sip अपने आप ही बंद करदी जाएगी ।

‌‌‌ऑनलाइन sip को कैसे बंद करवाएं

आप जिस भी कम्पनी की sip करवा रहे हैं ।उस कम्पनी की साईट पर जाएं और फिर यूजर आईडी और पासवर्ड डालकर साइन इन करें । अपनी स्कीम को बंद कर सकते हैं। यदि आप किसी ब्रोकर का यूज करते हैं तो आप इसी तरीके से उसकी sip को भी बंद करवा सकते हैं।

‌‌‌ऑफलाइन sip को कैसे बंद करवाएं

दोस्तों ऑफलाइन sip को बंद कराना बहुत ही ईजी है।इसके लिए आपको म्यूचुअल फंड की वेबसाइट पर जाना होगा और वहां से कैन्सेलेशन फॉर्म डाउनलोड करना होगा । फिर उसके अंदर सारा सब कुछ भरकर निवेशक उसे म्यूचुअल फंड के ब्रोकर या कम्पनी की ऑफिस के अंदर जमा कराने की

‌‌‌आवश्यकता है।

‌‌‌फोर्म को कैसे भरना होगा

सबसे पहले आपको फोर्म को एक कागज पर प्रिंट करना होगा । उसके अंदर आपको निम्न विवरण भरने की आवश्यकता है।sip, निवेशक का नाम और फोलीओ नंबर

व sip समाप्ति तिथि आरम्भ तीथि और अंत मे अपने हस्ताक्षर करने हैं। ‌‌‌उसके बाद आप उस फोर्म को सलाहकार ब्रोकर या वितरक के पास जमा करवा सकते हैं । आप अपने आवेदन को ट्रेक कर सकते हैं। फोर्म जमा करवाने के 30 दिन बाद आपकी sip अपने आप ही बंद करदी जाती है।

‌‌‌क्या होता है sip की एक किश्त चूक जाने पर

दोस्तों sip के अंदर यदि आप एक आध किश्त चूक भी जाते हैं तो वैसे इसके अंदर कुछ नहीं होता है पैन्लटी जैसा कोई रूल नहीं है । ज्यादा से ज्यादा कम्पनी आपकी sip निरस्त कर सकती है। लेकिन आप इसको फिर से र्स्टाट कर सकते हैं। लेकिन आपको सारा ‌‌‌इन्वेस्ट शूरू से करना होगा ।

sip पॉज क्या होता है ? और यह कैसे काम करता है

आजकल कई कम्पनियां sip के अंदर एक पॉज का आप्सन भी जोड़कर देती हैं। पॉज का मतलब होता है एसआईपी को कुछ समय के लिए रोक देना । ऐसा करने का फायदा यह रहता है कि इन्वेस्टर को कुछ समय स्कून मिलता है। और टाइम पिरियड ऑफ होने पर sip अपने आप ही शूरू

‌‌‌हो जाती है। इसके लिए आपको एक पॉज फोर्म को डाउनलोड करना होता है। आप उस फोर्म को म्यूचुअल फंड की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। उसके बाद उस के अंदर साफ साफ जिक्र करना होता है कि sip कब बंद होगी और कब शूरू होगी । उसको कम से कम एक महिने पहले जमा कराना होता है।

‌‌‌यह आप्सन केवल एक बार ही मिलता है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *