Pepper spray kya hai ? काली मिर्च स्प्रे का प्रयोग कैसे करें ?

Pepper spray जिसे हम काली मिर्च स्प्रे भी कह सकते हैं। क्या आपने कभी इस बात को महसूस किया है कि जब आप किसी तीखी मिर्ची को खा लेते हैं तो आपको कितनी जलन का सामना करना पड़ता है। और यह जलन काफी समय बाद भी ठीक नहीं होती है। आप चाहें कितना भी पानी पिएं यह आपको परेशान करती ‌‌‌है और पूरे 45 मिनट के बाद ही ठीक हो पाती है। Pepper spray  भी कुछ इसी तरह की मिर्चों से बना होता है। अब आप जब तीखी मिर्च खा लेते हैं तो आपके लिए इतना असहनिए होता है। लेकिन जब यह मिर्च आंखों और पूरे मुंह पर लग जाए तो क्या हाल होगा । इसकी आप कल्पना कर सकते हैं।

Pepper spray चाबी छले के रूप मे

‌‌‌सन 1973 के बाद Pepper spray का प्रयोग काफी जगहों पर किया जाने लगा है। पुलिस आंदोलनों का नियंत्रण करने के लिए Pepper spray का प्रयोग करती है। इसके अलावा हिंसा को रोकने और बल का प्रयोग करने मे होता है। कुछ लोग Pepper spray का प्रयोग आत्मरक्षा के रूप मे भी करते हैं। Pepper spray  का प्रयोग दूसरे तरीके जैसे गोली बारी या अन्य कैमिकल के यूज की तुलना मे आसान है। इन चीजों का यूज करने से काफी नुकसान भी हो सकता है। कई बार पुलिस को भीड़ को कंट्रोल करने की आवश्यकता होती है। ऐसी स्थिति के अंदर वह दूसरे तरीकों का प्रयोग न करके Pepper spray  का यूज कर सकती है।

‌‌‌यह हमलावर के त्वचा, आंखों, मुंह, गले और फेफड़ों को परेशान करता है। लेकिन कुछ समय बाद सब कुछ नोर्मल हो जाता है। लेकिन गोलाबारी या लाठीचार्ज के अंदर ऐसा नहीं होता है। बहुत बार पुलिस की गोलाबारी के अंदर लोगों की मौत भी हो जाती है। ‌‌‌हालांकि अभी भी कुछ विवाद है। और Pepper spray  के प्रयोग से कई बार मौते भी हो जाती हैं। इस वजह से Pepper spray  का हमेशा से ही विरोध किया जाता है।

Pepper spray kya hai ? काली मिर्च स्प्रे क्या है

Pepper spray  काली मिर्च से बनता है। काली मिर्च के स्प्रे में सक्रिय संघटक ओलेरोसिन शिमला मिर्च (OC) होता है। यह एक प्रकार का तेल होता है जोकि कई गर्म मिर्चों के अंदर पाया जाता है। जिसमें सेयेन मिर्च  और अन्य मिर्च भी शामिल हैं। OC में कैप्सैसिन नामक एक यौगिक भी होता है।जोकि सनसनी के लिए जिम्मेदार है।यह गंधहीन, रंगहीन और स्वादहीन भी होता है लेकिन शुद्व कैपीसिन का सिर्फ एक मिलीग्राम (लगभग 0.00003 औंस) आपकी त्वचा पर फफोले पैदा कर सकता है।

Pepper spray  को एरोसोल के कनस्तर से निकाला जाता है । Pepper spray को निकलने के लिए आसान बनाने के लिए एक विशेष तेल के अंदर भी मिलाया जाता है।Pepper spray  को पूरे दाब के साथ बोतल के अंदर भरा जाता है। ताकि यह आसानी से दूर तक छिड़का जा सके ।Pepper spray  एक तरह से पेंट स्प्रे की तरह ही बोतल मे ‌‌‌भरा जाता है।

‌‌‌धारा

जब आप Pepper spray   का यूज करते हैं तो इसके अंदर से एक धारा निकलती है। जिससे आप अपने लक्ष्य को आसानी से टारगेट कर सकते हैं। यह लक्ष्य को टारगेट करना आसान बना देती है।

धुंध

Pepper spray  का जब आप यूज करते हैं तो उसके अंदर से धुंध भी निकलती है। जोकि एक बड़े क्षेत्र को कवर करती है। इसका ‌‌‌फायदा यह है कि यह व्यक्ति के चेहरे को आसानी से टारगेट करने मे आपकी मदद करती है।

By Clarck Desire – http://www.navy.mil/view_image.asp?id=26547, Public Domain, Link

अधिकांश व्यक्तिगत Pepper spray   डिस्पेंसर लगभग 4.5 इंच (11.4 सेमी) लंबे और लगभग 1.5 इंच (3.8 सेमी) चौड़े होते हैं।पेंट स्प्रे के की तरह ही Pepper spray   के अंदर स्प्रे करने  के लिए एक बटन होता है। जब तक आप उसे दबाए रखेंगे स्प्रे बाहर आता रहेगा । और एक सुरक्षा उपकरण भी होता है। ‌‌‌यह गुलाबी लिपस्टिक ट्यूब के रूप मे होता है। और छोटा और लेजाने के अंदर आसान भी होता है। इसको कोई भी कहीं भी आसानी से छुपा सकता है। देखने वाले को इसके बारे मे कुछ भी आसानी से पता भी नहीं चलता है।

‌‌‌ pepper spray kya hai ? स्वचालित Pepper spray  

एक दक्षिण अफ्रीकी बैंक एबीएसए ने Pepper spray  का प्रयोग एटीएम मशीन पर भी किया है। एटीएम मशीन के अंदर Pepper spray   लगाया गया है। एक कैमरे को जब पता चलता है कि मशीन के साथ छेड़छाड़ की जा रही है तो स्वचालित Pepper spray   एक्टीवेट हो जाता है। ‌‌‌और पुलिस को भी यह सतर्क कर देता है।

Pepper spray   का प्रभाव

‌‌‌जब आप अपने हाथ के अंदर काली मिर्च लेते हैं तो आपको कुछ भी महसूस नहीं होता है। यह बेर या सेब के समान होता है। और इसका कोई प्रभाव नहीं होता है। लेकिन जब यही काली मिर्च आपकी त्वचा के अन्य भागों के संपर्क मे आती है तो आपको जलन महसूस होने लगती है। ‌‌‌इसके अलावा जब काली मिर्च आपके जीभ या होंठ के संपर्क मे आती है तो जलन महसूस होती है। इसका कारण है काली मिर्च के अंदर मौजूद कैप्सैसिन । यह जब आपकी त्वचा के संपर्क मे आता है जो ठंड और गर्मी के प्रति संवेदनशील होती है तो ऐसा होता है।

कैप्सैसिन  एक ऐसा घटक होता है जिसकी हीट पोटेंसी को स्कोविल हीट यूनिट्स (SHU) में मापा जाता है । हीट स्केल का प्रयोग मिर्च के तापमान को मापने मे किया जाता है।कैप्सैसिन मात्रा पर गर्मी का स्तर निर्भर करता है। ठेठ काली मिर्च स्प्रे को लगभग 500,000 और 5,000,000 SHU के बीच  है। जलेपीनो काली मिर्च केवल लगभग 8,000 SHU है, और एक हैनबेरो 350,000 SHU होता है।

pepper spray kya hai ? Pepper spray   के नकारात्मक प्रभाव

Pepper spray  का प्रयोग आजकल हर स्थान पर किया जाने लगा है। यहां तक की आत्मरक्षा और पुलिस भी इसका प्रयोग करती है। और अब यह कई रूपों के अंदर भी उपलब्ध है। जिसकी वजह से इसको आसानी से छुपाया जा सकता है। चाबी का गुच्छा , कलम और अंगूठी के रूप मे भी उपलब्ध है। ‌‌‌हालांकि इनके साथ समस्या यह है कि आप इनकी मदद से दूर तक स्प्रे नहीं कर सकते हैं। हालांकि Pepper spray  प्रोजेक्टाइल डिस्पेंसर के रूप मे भी उपलब्ध है। जिसको आप दूर तक स्प्रे कर सकते हैं। और पुलिस आंसू गैस के साथ भी इसका यूज कर सकती है।

Pepper spray  की लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण यह भी है कि इसका कोई दीर्घकालिन स्वास्थ्य प्रभाव नहीं होता है। यह एक पीपर स्प्रे बायोडिग्रेडेबल  है जोकि आपके कपड़ों और शरीर पर कोई निसान नहीं छोड़ता है। इसके प्रभाव के अंदर आने के बाद लोग 6 से 5 घंटे के अंदर ठीक हो जाते हैं। ‌‌‌कुछ वैज्ञानिक रिसर्च से पता चला है कि Pepper spray   कई बार गम्भीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकता है। और कई मामलों के अंदर लोगों की मौत भी हो जाती है। वैसे सीधे तौर पर Pepper spray   मौत का कारण नहीं है। वरन यह एक योगदान कर्ता हो सकता है। ‌‌‌जैसे किसी व्यक्ति को काली मिर्च से एलर्जी है या अस्थमा है या फिर हर्ट रोग है तो ऐसी स्थिति के अंदर यह गम्भीर परीणाम पैदा कर सकता है।

Pepper spray  का उपचार

Oleoresin  शिमला मिर्च का तेल होता है। और आप इतना तो जानते ही होंगे कि यदि आप तेल लगे बर्तन को साधारण पानी से धोना चाहेंगे तो आप उसे धो नहीं पाएंगे ।क्योंकि पानी ध्रुवीय अणुओं से बना है और तेल नॉनपोलर अणुओं से बना है। व धु्रवीय अणु सिर्फ अन्य ध्रुवीय अणुओं के साथ बंधन करते हैं। और नॉनपोलर ‌‌‌अणु केवल अन्य नॉनपोलर  अणु के साथ बंधन करते हैं।ऑलोरसिन शिमला मिर्च  का तेल नॉनपोलर अणुओं से बना होता है। और जब आप स्प्रे लगने के बाद पानी से मुंह धोते हैं तो आपको आराम मिलेगा लेकिन यह कोई स्थाई आराम नहीं है। पानी इन अणुओं को हटाता नहीं है।

By U.S. Department of Defense Current PhotosSgt. Priscilla Desormeaux/Virgin Islands National Guard, 51st Public Affairs Detachment – 180621-A-ZT166-554, Public Domain, Link
  • ‌‌‌सबसे पहले इस बात का ध्यान रखें की जहां पर Pepper spray    का प्रयोग हुआ हैं। उस क्षेत्र को अपने हाथ से स्पर्श ना करें । ऐसा न करने का कारण यह है कि यह तेजी से दूसरी जगहों पर भी फैल सकता है।
  • ‌‌‌अपनी आंखों की पलकों को तेजी से झपकने का प्रयास करें । और इससे कुछ Pepper spray    आपकी आंखों से बाहर निकल जाएगा ।
  • बेबी शैम्पू  की मदद से आप अपनी आंखों को धो सकते हैं। क्योंकि इसका फायदा यह है कि इससे आपकी आंखों से आंसू नहीं निकलेंगे और आंखों मे जलन भी नहीं होगी ।
  • ‌‌‌इसके अलावा शरीर के हर हिस्से पर साबुन रगड़कर धोंए ताकी जहां पर भी Pepper spray     लगा है। वह साफ हो जाए।
  • ‌‌‌इसके अलावा यदि आपको कुछ भी गड़बड़ लगता है तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

Pepper spray   कैसे खरीदें ?

Pepper spray    को खरीदना बहुत ही आसान है। सबसे पहले https://www.amazon.com पर जाएं और वहां पर आपको Pepper spray  सर्च करना है। वहां आपको कई प्रकार के Pepper spray   मिल जाएंगे । आप इसको 149 रूपये के अंदर भी खरीद सकते हैं। और इससे महंगे भी उपलब्ध हैं। Pepper spray   खरीदने के साथ ही आपको कई और बातो को भी ध्यान मे रखना होगा । यदि Pepper spray    बहुत अधिक गर्म या ठंडा होता है तो यह फट सकता है। इसलिएए इसका तापमान हमेशा मिडियम बनाए रखा जाना चाहिए। इसके अलावा आपको इसकी एक्सपाइरी डेट का भी ध्यान रखना चाहिए । यह तीन साल तक होती है।

pepper spray kya hai ? लेख आपको कैसा लगा कमेंट करके बताएं ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *