English सीखनी है तो अपनाएं संदीप महेश्वरी के 5 tips who learn English bay Sandeep maheshwari

Sandeep maheshwari के विचार, संदीप महेश्वरी की स्पीच पढ़ने के लिए हमारी वेबसाईट पर निरंतर विजिट करते रहें ।

 

कई लोगों को लगता है कि हिंदी हमारी राष्टि्रय भाषा है। और इस वजह से हमे हिंदी पर अधिक ध्यान देना चाहिए । और English  सीखना वैसे भी कोई जरूरी नहीं है। लेकिन सच मायने के अंदर आज हिंदी की बजाय अंग्रेजी सीखना ज्यादा जरूरी हो चुका है। ‌‌‌आप कोई भी एग्जाम देने जाएं उसके अंदर English  आपको पहले ही मिल जाएगी । आप कोई भी interview  देने जाएंगे तो आपको English  के सवालों के बारे मे पहले पूछा जाएगा । यहां तक की हमारा हर काम English  के बिना अधूरा है। आजकल तो हर काम English  से ही होता है। जिसको अंग्रेजी बिल्कुल भी नहीं आती है। ‌‌‌इसका मतलब उसे कुछ नहीं आता है।

‌‌‌यदि आप अंग्रेजी सीखना चाहते हैं तो संदीप महेश्वरी के बताए यह टिप्स फोलों करे आपकी इंग्लिस सच मे इम्प्रूव हो जाएगी ।

 संदीप महेश्वरी

‌‌‌1. english के अंदर रोज डायरी लिखना शूरू करें

‌‌‌2. english मे सोचने की कोशिश करो

‌‌‌3. खुद के साथ english बोलो

  1. Use simple word

‌‌‌5. English  hindi को मिक्स करके बोलो

 

 

‌‌‌1. English के अंदर रोज डायरी लिखना शूरू करें

 

‌‌‌अंग्रेजी सीखने का यह काफी अच्छा तरीका है। यदि आप सच मे ही अंग्रेजी सीखना चाहते हैं तो आप बाजार से एक डायरी खरीद लाएं और उसके अंदर रोज शाम को अपने जीवन के अंदर हुए महत्वपूर्ण घटनाओं को अंग्रेजी के अंदर लिखने की कोशिश करें । पहले पहले हो सकता है आपको यह अजीब लगे । लेकिन जैसे जैसे आप प्रयास ‌‌‌करोगे । आपको अंग्रेजी के अंदर डायरी लिखने की आदत हो जाएगी । पहले आप बहुत गलतियां भी करते जाओगे । लेकिन धीरे धीरे आप चीजों को सीखते चले जाओगे । और जो चीज आपको नहीं आती हो आप उसे नेट से पढ़कर या अपनी डिक्सनरी से मदद ले सकते हैं।‌‌‌और काफी लम्बे समय तक आपको डायरी लिखते रहना होगा ।धीरे धीरे सारी चीजे आपको अपने आप ही समझ मे आ जाएंगी ।

2. English मे सोचने की कोशिश करो

 

‌‌‌हम अंग्रेजी इसलिए भी नहीं बोल पाते हैं क्योंकि हम अंग्रेजी के अंदर सोच नहीं पाते हैं। और हिंदी इतनी अच्छी तरीके से इसलिए बोल पाते हैं क्योंकि हिंदी के अंदर हम आसानी से सोच पाते हैं। तो आपको अंग्रेजी बोलने के लिए अंग्रेजी मे ही सोचना पड़ेगा । और अंग्रेजी के अंदर सोचने के लिए आपके पास‌‌‌अंग्रेजी के वर्ड का भी होना आवश्यक है। आप अपना वर्ड ज्ञान बढ़ाने के लिए डिक्सनरी की मदद ले सकते हैं। ऐसा न करें कि पहले हिंदी के अंदर सोचा और बाद मे उसे अंग्रेजी के अंदर बदलकर बोला । ऐसा करने से आप सही तरीके से अंग्रेजी  नहीं बोल पाएंगे । हम जानते हैं कि सीधा अंग्रेजी के अंदर सोचना कठिन है

 

‌‌‌लेकिन असंभव नहीं है। जब भी आप अकेले हो तो अपने कामों के बारे मे अपनी समस्याओं के बारे मे अंग्रेजी के अंदर सोचने की कोशिश करो । और धीरे धीरे आप यह प्रयास करोगे तो आप को इसकी आदत हो जाएगी ।

 

 

3. खुद के साथ english बोलो

 

‌‌‌हमारे यहां पर घर मे या बाहर कहीं पर भी अंग्रेजी बोलने वाले आसानी से नहीं मिलते हैं। यदि आपका दोस्त या कोई और जो अच्छी अंग्रेजी जानता है तो आप उससे अंग्रेजी के अंदर बात कर सकते हैं। यदि ऐसा कोई बंदा नहीं है तो आप रोज एक नियम बना ले कि आपको खुद से अंग्रेजी बोलनी है। मतलब आप खुद ही खुद से बात ‌‌‌करने की कोशिश करें । मतलब who are you ? and your answer aim fine ‌‌‌मतलब आपको खुद से ही बात करनी होगी । आप रोज ऐसा अभियास करेंगे तो धीरे धीरे आपको अंग्रेजी बोलने की आदत पड़ जाएगी और जब आप किसी बाहर के व्यक्ति के साथ कोई बात करेंगे तो अचानक से आपके दिमाग से अंग्रेजी के वर्ड निकलने लगेगें ।

 

4. Use simple word

‌‌‌यदि आप पहली बार प्रयास कर रहे हैं। तो आपको पहले पहले अंग्रेजी के सिंपल वर्ड का ही प्रयोग करना चाहिए । यदि आप पहली ही दफा के अंदर ठफ वर्ड के अंदर उलझ कर बैठ जाएंगे तो आपको यह सब करना बोरिंग लग सकता है। और धीरे धीरे अपनी आवश्यकता के अनुसार नए नए वर्ड को सीखते चले जाएं। एक साथ कई वर्ड को सीखने‌‌‌की कोशिश ना करें । वरन जो वर्ड आप एक दिन मे सीखते हैं उनका दिन मे कई बार प्रयोग करे जिससे आप सीखे हुए वर्ड को कभी भी भूलेंगे नहीं ।

‌‌‌ठफ वर्ड की बजाए रोजमर्रा की लाइफ मे काम आने वाले वर्ड पर ज्यादा फोक्स करेंगे तो काफी अच्छा रहेगा ।

 

5. English  hindi को मिक्स करके बोलो

 

‌‌‌पहले पहले जब आप अंग्रेजी सीखने की शूरूरआत करते हैं तो आप अंग्रेजी को आसानी से नहीं बोल पाते हैं। इस वजह से जैसे जैसे आप वर्ड को याद करते जाएं । वैसे वैसे उन वर्ड को हिंद वर्ड के बीच मे प्रयोग करें । जिससे आपको वर्ड तो अच्छे तरीके से याद हो ही जाएंगे । इसके अलावा आपके अंदर अंग्रेजी बोलने की ‌‌‌क्षमता का विकास होगा ।‌‌‌और धीरे धीरे आपके दिमाग मे जब अंग्रेजी वर्ड की अच्छी संख्या हो जाएगी तो आपको अंग्रेजी समझमे भी आने लगेगी । और जब समझ मे आएगी तो आप अच्छे से अंग्रेजी को बोल भी सकेंगे सिर्फ मामूल अभियास की मदद से ।

 

‌‌‌दोस्तों यह लेख मूल रूप से संदीप महेश्वरी का नहीं है। संदीप महेश्वरी की स्पीच के आधार पर हमने यह लेख लिखा है। आपको कैसा लगा यह लेख कमेंट कर बताएं । यदि आपकी कोई समस्या हो तो नीचे कमेंट करें ।

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *