This person can survive by eating air हवा खा कर जिंदा रह ‌‌‌सकते हैं ‌‌‌यह इंसान

दोस्तों क्या आप केवल हवा खाकर ही जिंदा रह सकते हैं ? मुझे लगता है आप और हम ऐसा नहीं कर सकते हैं। क्योंकि हमारे पास वह शक्ति नहीं है जो हमे हवा खाने की ताकत देती हो । लेकिन कुछ ऐसे अदभुत लोग भी हुए हैं जो केवल हवा खाकर जिंदा रहे हैं। यह सब कैसे हुआ ? ‌‌‌इस बारे मे कोई भी नहीं जानता है। वैज्ञानिकों के लिए भी यह समझ के बाहर कि बात है। इस लेख के अंदर हम आपको इसके कुछ रियल प्रुव दिखाएंगे जोकि हवा खाकर जिंदा हैं। उन्होंने वर्षों तक एक अनाज का दाना भी नहीं खाया ।

‌‌‌ वैज्ञानिकों के समझ से यह सब परे है लेकिन अब चिकित्सकों ने इस चीज को एक नाम दिया है ब्रेथरियनिज़्म । अब वैज्ञानिक भी मान चुके हैं कि इंसान के पास यह ताकत भी मौजूद है । इसके अलावा इंसान के पास ऐसी ताकते भी मौजूद हैं जिन पर विश्वास करना मुश्किल हो जाए । ‌‌‌जिसको जाग्रत कर इंसान बिना खाए पिए जिंदा रह सकता है।

‌‌‌जैन धर्म और भारतिए ग्रंथों के अनुसार इंसान सूर्य की रोशनी से प्राण तत्व प्राप्त करता है। और वह उसके सहारे जीवित रह रह सकता है। इसके अलावा उसे किसी पदार्थ की आवश्यकता नहीं है। आइए जानते हैं। इसके रियल प्रुव के बारे में ।

बिना खाना खाए जिंदा है हीरा रत्न मानेक

यह सख्स भारतिए है। मानेक ने एक ऐसी प्रणाली को अपनाकर अलग ही उदाहरण पेश किया । वहीं जहां हम लोग काफी ज्यादा खाते हैं । पूरे दिन कुछ ना कुछ खाते रहते हैं। मानेक जी ने अपने जीवन मे बहुत बड़ा बदलाव किया । ‌‌‌मानेक जी का जन्म बोधवद शहर में 12 सितंबर, 1937 को हुआ था । मानेक जी ने 18 जून, 1995 से खाना धीरे धीरे कम कर दिया और नौकरी से िरटायर होने के बाद सूर्य की रोशनी पर शोध करना प्रारम्भ कर दिया ।उन्हें जैन विद्वान महावीर जी के सिद्वांतो को रीड किया । और उन्हें तीन बड़े उपवास किये । पहला ‌‌‌उपावस 211 दिन का किया और दूसरा उपवास 411 दिन का किया ।

बिना खाना खाए जिंदा है प्रहलाद जानी

‌‌‌यह एक भारतिए सख्स है। जिसने पिछले 40 सालों से कुछ नहीं खाया है। इसका जन्म 13 अगस्त, 1929 में हुआ था इन्हें माता जी के नाम से प्रसिद्वी प्राप्त है। इनका कहना है कि उन पर माता रानी की क्रपा है। उनके अनुसार जब वे 7 साल के थे तब वे जंगलों के अंदर घर छोड़कर चले गए । और वहां पर तपस्या करने लगे। ‌‌‌उसके बाद उनको एक अभूषण पहिने एक महिला दिखी जिसने उनको आशिर्वाद दिया । उसके बाद उनको कभी खाना खाने की आवश्यकता भी नहीं पड़ी

बिना खाना खाए जिंदा है जैसमुहीन

इनका जन्म एलेन ग्रीव’ नाम से ऑस्ट्रेलिया में सन् 1957 में हुआ था । वे योग के द्वारा अपनी अंदर की शक्तियों को जाग्रत कर चुकी थी । उन्होंने यह दावा किया कि वे बिना भोजन किये रह सकती है। एक टीवी चैनल ने उनके इस दावे को आजमाना चाहा । ‌‌‌2 दिन उनको भूखा रखा गया । तब उनकी तबियत बिगड़ गई। जैसमुहीन के अनुसार यह दुषित वातावरण के चलते हुआ । उसके बाद जैसमुहीन को पहाड़ों पर ले जाया गया । जहां उन्होंने यह सिद्व करके दिखा दिया ।

बिना खाना खाए जिंदा है बार्बी डॉल वलेरिया लुक्यनोवा

बार्बी डॉल के बारे मे शायद आप पहले से ही जानते होंगे । एक लड़की जो अपने आपको एक डॉल की तरह दिखने के लिए । अपनी पूरी बॉडी के सेप को ही बदलवालिया था । और इस वजह से वह काफी फेमस भी हो चुकी थी । इसका नाम था वलेरिया लुक्यनोवा, यह बिना खाए पिए काफी दिनों तक आसानी से रह ‌‌‌सकती हैं।

बिना खाना खाए जिंदा है विली ब्रूक्स

‌‌‌यह एक ऐसा सख्स है जिसने ब्रेथरियनिज़्म को समझा और उस तरीके को सीखाने के लिए एक इंस्टयूट की भी स्थापना की थी । यह सख्स बिना खाए पिए काफी दिनों तक आसानी से रह लेता था । कई जगह पर इनकी बातों का परीक्षण किया गया । लेकिन सच निकली ।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *