ladka paida karane ke upay, मंत्र ,टोटके और नियम

‌‌‌इस लेख के अंदर हम आपको पुत्र पैदा करने के उपाय या लड़के पैदा करने के मंत्र व टोटकों के बारे मे विस्तार से बताने वाले हैं। भारत के अंदर एक पुरूष प्रधान समाज होने की वजह से अधिकतर लोग यही चाहते हैं कि उनको पुत्र पैदा हो । और लोग पुत्र पैदा करने के लिए बहुत कुछ करने को तैयार भी हो जाते हैं। वैसे लोगों का पुत्र के प्रति कुछ ज्यादा ही मोह होता है। क्योंकि इस समाज के अंदर एक लड़का जो कर सकता है वह एक लड़की आसानी से ‌‌‌नहीं कर सकती है। अधिकतर माता पिता यह आस रखते हैं कि जब उनका पुत्र बड़ा होगा तो कम से कम बुढ़ापे का सहारा तो बनेगा ही ।

वैसे उनका कहना गलत नहीं है। और भारत के अंदर पुत्री की शादी के बाद वह पराई हो जाती है। और माता पिता उसका एक दाना तक खाना नहीं चाहते हैं। ‌‌‌बहुत बार महिलाओं के सामने ऐसी मुश्बित आ जाती है। जबकि उन्हें पुत्र की बहुत आवश्यकता होती है। पिछले दिनों हमारे ही परिवार के अंदर एक लड़के की मौत हो गई थी। उसके 4 लड़की थी। कोई भी लड़का नहीं था।

अब बेचारी उसकी पत्नी के सामने रोटी के लाले पड़ गए । वह अकेली महिला समाज के डर से कमाने कहां ‌‌‌जाए ? एक गरीब इंसान के लिए पुत्र का जितना महत्व होता है। उतना एक अमीर के लिए नहीं होता क्योंकि यदि किसी के पास पैसा है तो फिर उसके लिए सब बराबर है। बहुत से लोग आपको यह कहते मिल जाएंगे कि पुत्र और पुत्री बराबर होते हैं। उनका कहना सही है। लेकिन जमीनी हकिकत से भी रूबरू होना जरूरी है।

‌‌‌भले ही सरकार ने महिलाओं के लिए बहुत कुछ किया हो । लेकिन अभी भी बहुत कुछ करना बाकी है। यदि हम सभी चाहते हैं कि महिलाओं को पुत्र के बराबर हक मिले तो निश्चिय ही हमे सरकारी सिस्टम को चैंज करना होगा । और भारत को एक ऐसा देश बनाना होगा जहां पर अरब देसों के जैसी टाइट सिक्योरिटी हो ताकि ‌‌‌महिलाएं आसानी से रात बे रात को कहीं पर भी आ जा सकें।

 ‌‌‌आपको कुछ वेबसाइट ऐसी भी मिल जाएंगी जिनके अंदर आपको इन सभी तरीकों को गलत बताया गया है। और यह माना गया है कि यह सब फेक हैं। लेकिन हमारा तो यही मानना है। कि गलत कुछ भी नहीं है। बस आपको ट्राई करना चाहिए । ट्राई करने मे कोई बुराई नहीं है।

Table of Contents

‌‌‌लड़का पैदा करने के उपाय ladka paida karane ke upay

लड़का या पुत्र पैदा करने के कुछ सामान्य उपाय हम आपको दे रहे हैं। हालांकि यह उपाय विज्ञान के अनुसार नहीं हैं। और विज्ञान इन उपायों को नहीं मानता है। विज्ञान के अनुसार जब एक्स और वाई गुण सुत्र आपस मे मिलते हैं तो पुत्र पैदा होता है और जब एक्स एक्स गुण सूत्र आपस मे ‌‌‌मिलते हैं तो पूत्री पैदा होती है। हालांकि दोनों की ही संभावना बनी रहती है।

Calabash फल का सेवन

Calabash पेड़ पर एक फल लगता है। उसका सेवन करने से पुत्र प्राप्ति की संभावना बढ़ जाती है। Calabash फल का रोज 50 ग्राम सेवन करना चाहिए । ऐसा 2 से 3 महिने तक करें । संभव हो सकता है यह आपको फायदा पहुंचा दे ।

‌‌‌पुत्र आयुर्वेद की मदद से

पतंजली के अनेक प्रोडेक्ट काफी मसहूर हैं। उन्हीं मे से एक है पुत्र जीवक बीज । इसका नाम पहले अलग था । और इस परबवाल भी हुआ था। सरकार ने बाबा रामदेव को पुत्र और पुत्री के अंदर भेद करने के लिए फटकार भी लगायी थी।‌‌‌पुत्रजीवक बीज को मात्र 75 रूपये के अंदर आप किसी भी पतंजली स्टोर से आसानी से खरीद सकते हैं। इसको खरीदने के बाद बीजों के अंदर की गिरी निकाल कर उस गिरी का पाउडर बना लें।‌‌‌इसका सेवन केवल महिलाओं को ही करना है। पुरूषों को इसका सेवन नहीं करना है। रोज सुबह और शाम को गाय के दूध के साथ इसका आधा चमच सेवन करना चाहिए।

सूरजमुखी के बीज से पुत्र प्राप्ति

सूरजमुखी के बीज भी पुत्र प्राप्ति के अंदर काफी सहायक हैं। पुरूष सूरजमुखी के बीजों का सेवन कर सकते हैं। इनका सेवन करने से y गुण सूत्रों की संख्या बढ़ जाती है। पुरूष इनको दूध और बादाम के साथ सेवन कर सकते हैं।

‌‌‌पुरूष के आहार मे सुधार

पुत्र प्राप्ति पर विचार करने के बाद लगभग 6 महिने पहले ही पुरूष को पनीर, दूध, मक्खन, मावा, आदि का सेवन करना आरम्भ कर देना चाहिए । इससे पुत्र गुण सूत्रों की गतिशीलता के अंदर बढ़ोतरी होती है। और पुत्र प्राप्ति की संभावना बढ़ जाती है।

अश्वगंधा से पुत्र प्राप्ति

अश्वगंधा पुत्र प्राप्ति के लिए एक असरदार दवा है। इसका सेवन करने से पुत्र प्राप्ति होती है।25 ग्राम अश्वगंधा जड़ो का चूरन को पानी के अंदर उबालें उसके बाद इसके अंदर 100 मिलि लिटर दूध डालें और फिर घी के अंदर डाले के बाद इसका सेवन करें । इसी तरह से रोज दवा बनाकर सेवन ‌‌‌करने से पुत्र प्राप्ति होती है।

‌‌‌गुलर से पुत्र पाने के उपाय

दोस्तों पुत्र प्राप्ति के लिए अनेक दवाओं का प्रयोग किया जाता है। इनमे से यह भी यह दवा है। गुलर का फल , पाकर का फल , पीपल के पेड़ का फल यह सब आपको पंसारी के दुकान पर मिल जाएंगे । सबसे पहले इनको अच्छी तरह से सूखा लें और फिर इनको बारीकी से पीसकर पाउडर बना लें।‌‌‌इसका सेवन केवल महिलाओं को ही करना है। प्रेगनेंसी के पहले ही इसका सेवन दूध के साथ करदेना है।‌‌‌और प्रेगनेंसी के 3 महिने तक इसका सेवन जारी रखें।

‌‌‌नारियल के बीज से पुत्र प्राप्ति के उपाय

सबसे पहले बाजार से एक नारियल खरीद कर ले आएं । आपकी कोशिश होनी चाहिए कि ऐसा नारियल खरीदे जिसके अंदर बीज हो । यदि नारियल के अंदर बीज नहीं निकले तो फिर दूसरा खरीद कर लाएं । उसके अंदर से बीज निकाल कर । ‌‌‌सुबह सूर्यउदय के साथ ही सूर्य देव से प्रार्थना करते हुए उस बीज का एक गिलास पानी के साथ सेवन करें । बीज को निगलना है। इस प्रयोग को केवल महिलाएं ही करें।

‌‌‌कॉफी का सेवन

यदि आप बेटा पाना चाहते हैं तो संबंध बनाने से पहले कॉफी का सेवन कर सकते हैं। विज्ञान के अनुसार भी यह बात सिद्व हो चुकी है। वैज्ञानिकों के अनुसार अंडे को वो शु क्र णु निषेचित कर पाता है जोकि काफी ताकतवर होता है। और काफी का सेवन करने से ‌‌‌गुण सूत्र काफी ताकतवर बनता है। यह एक आजमाया हुआ नुस्का है।

‌‌‌पुत्र पैदा करने के वैज्ञानिक उपाय

विज्ञान इस बात को मानता है कि यदि आप कुछ सावधानियां बरतते हैं तो इस बात की संभावना अधिक होती है कि आपके पुत्र उत्पन्न होगा । नीचे पुत्र पैदा करने के कुछ वैज्ञानिक तरीके भी दिये जा रहे हैं। यदि अन्य कोई तरीका काम नहीं कर रहा है तो आप‌‌‌ इन वैज्ञानिक तरीकों को आजमा कर भी देख सकते हैं।

‌‌‌संबंध बनाने मे सावधानी रखें

विज्ञान के अनुसार y गुण सूत्र महिला के शरीर के अंदर पहुंचने के बाद केवल 24 घंटे तक ही जीवीत रहता है। जबकि एक्स गुण सूत्र 5 दिनों तक जीवित रह सकता है। इस वजह से आपको संबंध तब बनाना चाहिए जब महिला के अंदर अंडे का उत्पादन हो चुका हो । इससे पुत्र पैदा होने की ‌‌‌संभावना बढ़ जाती है।‌‌‌यदि ओवल्युशन के समय आपको संबंध बनाने चाहिए । मतलब धर्म शूरू होने के 12 वे दिन काम करना चाहिए । इससे पुत्र पैदा होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

‌‌‌टाइट अंडरवयर ना पहने

वैज्ञानिकों के रिसर्च के अंदर यह प्रमाणित किया जा चुका है कि टाइट अंडरवयर पहनने से भी पुरूष के स्पर्म पर असर पड़ता है। और इनकी संख्या कम हो जाती है। 1985 से 2005 तक दुनिया के सभी पुरूषों के काउंट स्पर्म के अंदर कमी आई है। और इसका कारण टाइट अंडरवयर को भी माना जा रहा है। वैज्ञानिकों के अनुसार टाइट अंडरवयर पहनने से अं डा श्य का तापमान बढ़ जाता है।

‌‌‌गर्म पानी से नहाने से

वैज्ञानिकों के अनुसार पुरूषों को अधिक गर्म पानी से नहीं नहाना चाहिए । ऐसा करने से उनके अंड को ष का तापमान बढ़ जाता है। और स्पर्म की संख्या कम हो जाती है।  जिससे वाई और एक्स गूण सूत्रों की संख्या भी कम हो जाती है।

‌‌‌महिलाएं अपना खान पान सही रखें

ऐसा माना जाता है कि महिलाओं के आहार के अंदर अंकुरित अनाज शकरगंद मूली और मांस को शामिल करने से लड़का होने की संभावनाएं तेज हो जाती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यह तत्व वाई गूण सूत्र के जीवित रहने के लिए उचित महौल तैयार करते हैं। इस वजह से यदि आप पुत्र ‌‌‌चाहते हैं तो आपको महिला के खाने पर भी ध्यान देना होगा ।

‌‌‌पौटेशियम का सेवन

ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय के अंदर किये गए एक अध्ययन से यह साफ हो चुका है कि लड़का पैदा करने के लिए महिलाओं को सोडियम और पौटेशियम का अधिक सेवन करना चाहिए ।मांस , पनीर , सोड़ा और नमकीन आदि का सेवन आप कर सकती हैं। ‌‌‌जिससे पुत्र होनें की संभावना बढ़ जाती है।

एल्कलाइन आहार का सेवन करें

एल्कलाइन आहार के अंदर नींबू ,पालक , गोभी , बीट लहसुन आदि आते हैं। गर्भधारण के लगभग 2 सप्ताह पहले इनका सेवन करें । यह महिला के अंदर वाई क्रमोसोम के लिए उचित माहौल तैयार करने मे मदद करते हैं।

‌‌‌महिला का चर्मोत्कर्ष

काम करते समय महिला का चर्मोत्कर्ष पर भी पहुंचना बेहद जरूरी होता है। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से पुत्र प्राप्ति की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। हालांकि इससंबंध मे कुछ वेबसाइट आपको यह सब फेक बताएंगी । लेकिन चर्मोत्कर्ष का महत्व केवल पुत्र पैदा करने मे ही नहीं है।

‌‌‌लड़का पैदा करने के अचूक मंत्र

दोस्तों अब तक हमने पुत्र पैदा करने के वैज्ञानिक और प्रचलित बातों के बारे मे जाना । आइए अब जानते हैं कि ज्योतिष पुत्र पैदा करने के लिए क्या क्या उपाय बताता है। हो सकता है पहले वाले उपाय आपके लिए काम न करें तो नीचे दिये गए । ‌‌‌तांत्रिक उपायों को करके आप पुत्र प्राप्त कर सकते हैं।

‌‌‌दांत से बेटा पैदा करने का उपाय

जिस बच्चे का पहला दांत टूटकर गिर जाता है। उस दांत को उठा लें और उसे जो स्त्री कमर के अंदर बांध लेती है। उसको अवश्य ही पुत्र  पैदा होता है। इस टोटके के अंदर उस बच्चे को काई नुकसान नहीं होता है जिसका दांत प्रयोग मे लाया जा रहा है।

‌‌‌सहदेवी के पौधे से लड़का पैदा करना

सहदेवी के पौधे को एक शुभ मुहर्त के अंदर लाकर उसे कूट कर चूर्ण बना लें और उसके बाद उसका मासिक धर्म के 6 दिन पहले सेवन करना आरम्भ करदें और 8 दिन बाद तक करें । इससे पुत्र प्राप्ति होगी ।

‌‌‌सूर्य देव से प्रार्थना

जिस स्त्री को पुत्र की कामना हो । उसे प्राप्त काल उठकर नहाधोकर और सूर्य के सामने अपने बाल को खुला करके सूर्य भगवान से पुत्र प्राप्ति की कामना करनी चाहिए । ऐसा करने से उसकी कामना अवश्य ही पूर्ण होगी । ऐसा उसे हर रविवार को करना चाहिए । और कम से कम 32 रविवार ऐसा करें।

‌‌‌संतान गोपाल मंत्र

‌‌‌यह काफी प्रभावशाली मंत्र है। जिसका अधिक से अधिक जाप करना चाहिए और इसके जाप से अवश्य ही पुत्र प्राप्ति होती है।‌‌‌पुराणों के अंदर यह मंत्र वर्णित है। कान्हां जैसी सुंदर संतान पाने के लिए आप नीचे दिये गए मंत्र का जाप कर सकते हैं।जिन लोगों को पुत्र प्राप्ति कठिन हो । उन लोगों को यह मंत्र तुलसी की माल से रोज 108 बार जाप करना चाहिए । इसका जाप पति पत्नी दोनों कर सकते हैं।

देवकीसुत गोविंदा वासुदेव जगत्पत्ये देहि

में तनयं क्रष्ण त्वामहं शरणं गत:।।

मोर पंख से पुत्र प्राप्ति के उपाय

मोर पंख की मदद से भी आप पुत्र प्राप्ति के उपाय कर सकते हैं। आइए जानते हैं मोर पंख की मदद से पुत्र प्राप्ति कैसे होती है ? ‌‌‌वैसे यह तरीका कितना कारगर है। इस बारे मे कुछ कहा नहीं जा सकता है। लेकिन हम इसको भी आपको बता देते हैं।

सबसे पहले आपको 9 मोर पंख किसी भी शुभ मूहर्त के अंदर एकत्रित करने चाहिए । उसक उसक बाद मोर पंख के निले माग को काट लें और उसे पीस कर एक चूर्ण बना लें ।‌‌‌उसके बाद गुड़ के साथ गोलियां बनाएं और गर्भधारण के पहले महिने मे ही सुबह 4 बजे उठकर खा लें ।यह आपको तीन दिन तक करना है। उसके बाद आपको दोपहर तक सोना नहीं है। और दोपहर तक आपको कुछ खाना भी नहीं है।‌‌‌यही प्रक्रिया आपको गर्भ के दूसरे महिने के अंदर भी करनी है।

‌‌‌इसके अलावा यदि आप चाहें तो उस चूर्ण को गाय के दूध के साथ भी सेवन कर सकते हैं। और यदि गाय का दूध नहीं है तो आप पानी का सेवन भी कर सकते हैं। यह प्रयोग केवल महिलाओं को ही करना है।

‌‌‌इस दवाई का प्रयोग सूर्य उदय होने से पहले ही करना चाहिए ।

इस प्रयोग को किसी और को ना बताएं ।

आपको पुत्र प्राप्ति के लिए रात्री  3 बजे से लेकर रात्री 12 बजे के बाद संबंध बनाने चाहिए।

‌‌‌पुत्र प्राप्ति के लिए गणेश मंत्र

उं गं गणपतये नम: मंत्र की मदद से भी आप पुत्र प्राप्त कर सकते हैं। इस मंत्र का प्रतिदिन 21 दिन तक जाप करने से मनोवांछित संतान की प्राप्ति होती है।‌‌‌सबसे पहले गणेश चतुर्थी के अंदर व्रत रखकर उनी आसन पर बैठकर पूर्व की ओर मुख करके और गणेश की प्रतिमा सामने रखकर पूजा करें और अपनी कामना भगवान गणेश के सामने रखें ।‌‌‌इस मंत्र का प्रतिदिन पाठ करें और और यह काम 21 दिन तक करें ऐसा करने से आपको मनचाही संतान की प्राप्ति होगी ।

‌‌‌ ‌‌‌बेटा पैदा करने के लिए सूर्य मंत्र का जाप

जिन महिलाओं को पुत्र प्राप्ति की इच्छा हो उनको भगवान सूर्य देव की पूजा करनी चाहिए । प्रतिदिन आसन पर बैठकर अपने सामने एक दीपक जलाएं और उस के चारों और गरबतियां जला दें । उसके बाद उं सूर्याय नम: मंत्र का रोज 108 बार जप करना चाहिए।ऐसा करने से उनकी मनोकामना अवश्य ही पूर्ण ‌‌‌होगी।

‌‌‌नींबू की जड़ का प्रयोग

नींबू की जड़का प्रयोग भी आप पुत्र पाने के लिए कर सकती हैं। जहां पर आपको नींबू का पेड़ मिलता है। उसकी जड़ को कहीं से लेकर आ जाएं  । उसके बाद उसे पीस लें और कुछ दिनों तक पति पत्नी को इसे दूध मे मिलाकर पीने से फायदा होगा ।

‌‌‌एकांति देवी का मंत्र

सबसे पहले देवी का ध्यान करें उसके बाद इस मंत्र को एक भोजपत्र पर लिख लें और फिर इस मंत्री की पूजा करें व नीचे दिये गए मंत्र का अधिक से अधिक जप करने से पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है। मंत्र इस प्रकार है

‌‌‌ओम ह्रीं फैं एकांति देव्यै नम :।।

‌‌‌षष्ठी माता की पूजा

षष्ठी माता की पूजा करने से भी पुत्र की प्राप्ति होती है। ओं ह्रीं षष्ठी दैव्य स्वाहा।।मंत्र का प्रतिदिन 108 बार जाप करें और पूरे एक साल तक माता की पूजा अर्चना करें । ऐसा करने से पुत्र की प्राप्ति होती है।

‌‌‌ ‌‌‌पुत्र पाने के लिए मंगलवार को उपवास रखें

ऐसा माना जाता है कि मंगलवार को उपवास रखने से भी पुत्र की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं। यह सब कैसे करना होगा ।‌‌‌इस व्रत को शुक्ल पक्ष के प्रथम मंगलवार से ही आरम्भ करना चाहिए । और इस व्रत के अंदर केवल एक बार ही भोजन करना चाहिए। इस व्रत के अंदर आपको केवल गेहूं और गुड़ का भोजन करना है और लाल वस्त्र धारण करने हैं।‌‌‌और प्रतिदिन हनुमानजी की पूजा करनी है। यह व्रत आपको आठ मंगलवार कम से कम करना है।और हनुमान जी की कथा भी सुननी है।

‌‌‌इस संबंध मे एक कथा का उल्लेख मिलता है। कथा के अनुसार प्राचीन समय मे एक ब्रहा्रमण और उनकी पत्नी रहती थी। बहा्रमण की पत्नी हर मंगलवार को हनुमानजी का व्रत रखती थी। और हनुमानजी को भोग लगाने के बाद ही भोजन करती थी। ‌‌‌एक बार व्रत के दिन वह किसी कारणवश हनुमानजी को भोग नहीं लगा पाई और इस वजह से वह खुद भी भोजन नहीं कर सकी और 5  6 दिन तक भूखी रहने की वजह से बेहोश हो गई। भगवान हनुमान ने उनकी भगती से प्रसन्न होकर उनको पुत्र प्राप्ति का वरदान दिया। ब्राह्मणी काफी ,खुश हो गई और उस बालक का नाम मंगल रख दिया । जब बालक का पिता घर आया तो उसने देखा कि एक बालक आंगन मे खेल रहा है। उसने अपनी पत्नी से उस बालक के  बारे मे पूछा तो ब्राह्मणी ने सच सच बता दिया । लेकिन ब्राह्मण को लगा की वह छल कर ‌‌‌रही है। और उस बालक को अगले दिन कुएं के अंदर फेंक आया । जब ब्राह्मणी ने अपने पति से बालक के बारे मे पूछा तो ब्राह्मण घबरा गया और बालक के बारे मे कुछ नहीं बता सका । लेकिन तभी चमत्कार हुआ और बालक वापस जिंदा आ गया । तब हनुमानजी ने सपने के अंदर ब्राह्मण को सच्चाई बताई।

‌‌‌पीपल के पेड़ का प्रयोग

पीपल के पेड़ की पूजा भी हिंदु धर्म के अंदर काफी उपयोगी मानी गई है। ऐसा माना जाता है की पीपल के पेड के नीचे जाकर यदि पति पत्नी पुत्र प्राप्ति की कामना करते हैं तो उनको पुत्र अवश्य ही प्राप्त होता है। ‌‌‌और यह प्रण लें की पुत्र पैदा होने के बाद मुंडन यहीं पर आकर करेंगे । निसंतान महिला को भी यही उपाय करना चाहिए । यह फल दायी उपाय है।

‌‌‌पुत्र प्राप्ति मंत्र putr praapti mantr

उं ह्री ह्री ह्रूं पुत्रं कुरू कुरू स्वाहा ।।
 

इस मंत्र का प्रतिदिन 108 बार जप करने से पुत्र की प्राप्ति होती है।आप इसको किसी भी शुभ मुहर्त के अंदर जप करना आरंभ कर सकते हैं और प्रतिदिन आपको इसे जप करना है।

‌‌‌संबंध का सही समय

हमारे धर्मशास्त्रों के अंदर पुत्र पैदा करने के सही समय के बारे मे भी बताया गया है। इनके अनुसार जिस दिन मा सि क धर्म होता है। उसी दिन से गिन लें और 6 और 8 व आदि सम रात्री पुत्र उत्पति के लिए और विषम रात्री पुत्री की उत्पति के लिए होती हैं। इस वजह से केवल सम रात्री ‌‌‌को ही संबंध बनाएं।

‌‌‌वैसे तो दोस्तों हजारों तरह के टोने टोटके आपको मिल जाएंगे और इनकी विश्वसनियता की बात करें तो यह विज्ञान के जितने विश्वसनिए नहीं होते हैं। यह काम कर भी सकते हैं और नहीं भी । इन मंत्र तंत्रों के संबध मे कई लोगों का कहना है कि यह उनके लिए काम करते हैं तो कई लोग इनको झूंठा मानते हैं।

‌‌‌लेकिन इस संबंध मे हमारा तो यही कहना है कि यदि आप के पहले से पुत्री हैं और आप पुत्र पैदा करना चाह रहे हैं तो आपको इन सबको ट्राई करना चाहिए। इसमे कोई खर्च भी नहीं होता है। आई ट्राई करना हमारा काम है। और सब उपरवाले की मर्जी है। ‌‌‌भले ही आप इनको ना मानें लेकिन हमारे पास जो उपाय हैं उनको अपनाने मे कोई बुराई भी तो नहीं है। संभव है आपकी मनोकामना पूर्ण हो जाए।

ladka paida karane ke upay, मंत्र ,टोटके और नियम

लेख आपको कैसा लगा नीचे कमेंट करके बताएं।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!