iQ की पूरी जानकारी क्या है बुद्वि मापन or type of intelligence

 

‌‌‌बुद्वि शब्द का प्रयोग हम दिन रात करते हैं सामान्य अर्थों के अंदर सीखने समझने की क्षमता को बुद्वि कहा जाता है। बुद्वि की पहली परिभाषा सन 1923 के अंदर दी गई थी ।

‌‌‌व्यक्ति के आईक्यू ज्ञात करने से पहले हमे यह जान लेना चाहिए कि बुद्वि होती क्या है।

1.सबसे पहली बात बुद्वि विभिन्न क्षमताओं का योग होती है। यानि बुद्वि के अंदर कई सारी क्षमताएं शामिल होती हैं।

brain iq kya hai

2.बुद्वि के सहारे ही व्यक्ति किसी समस्या का समाधान कर पाता है। गत अनुभुतियों का लाभ

‌‌‌भी बुद्वि की वजह से ही उठा पाता है।

  1. ‌‌‌बुद्वि के सहारे ही व्यक्ति सार्थक क्रियाएं करता है जो व्यक्ति जितनी अधिक सार्थक क्रियाएं करता है वह उतना ही अधिक बुद्विमान माना जाता है।

 

  1. ‌‌‌बुद्वि से व्यक्ति ‌‌‌विवेकपूर्ण और तर्क पूर्ण चिंतन करता है। लेकिन यदि उसमे बुद्वि नहीं होगी तो उसका चिंतन ‌‌‌विवेक हीन और अतर्कपूर्ण होगा ।

 

 

 

बुद्वि माप ने का सबसे पहले परीक्षण बिने तथा साईमन ने 1905 केअंदर किया था ।इस परीक्षण के अंदर बुद्वि को मानसिक आयु के अंदर मापकर अभिव्यक्त किया गया था। किंतु सन 1916 केअंदर बिने साईमन परीक्षण का संशोधन टरमैन ने किया था।

 

‌‌‌उसके बाद मानसिकआयु की जगह पर बुद्वि iQ का प्रयोग होने लगा। मानसिक आयु और तैथिक आयुको IQ  कहा जाता है।जिसको 100 से गुणा कर प्राप्त किया जाता है।

 

‌‌‌मानलिजिए बुद्वि परीक्षण के अंदर एक छ साल के बच्चे की मानसिक आयु 5 साल आती है। और4 साल के बच्चे की भी मानसिक आयु 5 साल आती  है।तो 6 सालके बच्चे की iQ  83 आएगी और दूसरे की बुद्वि iQ  125 आएगी। इससे यह बात स्पष्ट हो जाएगी कि दूसरा बच्चा पहले बच्चे  की तुलना मे बुद्वि ‌‌‌मे अधिक प्रखर है। चूंकि बुद्वि का विकास उम्र बढ़ने के साथ साथ कम होता जाता है। बुद्वि का विकास 3 से 4 साल से लेकर 15  साल तक अधिक तेजी से होता है। उसके बाद धीमी गति से होने लगता है।

 

 

‌‌‌iQ   =    मानसिक आयु/ तैथिक आयु *100

iQ  =MA/CA*100

IQ के मान और इसका अर्थ

 

140 – over ‌‌‌   —————   ‌‌‌प्रतिभाशाली

120 to 139 ——————very superior

110 to 119  ————– superior

80 to  109-  ———–normal

80 to 89  ——— dull

70 to 79  ——–moron normal

60  to 69  —— moron

20  to 59 ——– imbecile

20 leas —— idiot

 

‌‌‌हम देखते हैं कि iQ  से व्यक्ति की बुद्वि ढंग से अभिव्यक्त हो जाती है। किंतु आधुनिक मनौवेज्ञानिको का कहना है कि व्यक्ति की मानसिक आयु 19 साल के बाद नहीं बढ़ती है। लेकिन तैथिक आयु के अंदर बढ़ोतरी होती जाती है। 19 साल के बाद बुद्वि लब उक्त सूत्र से नहीं ज्ञात की जा सकती।

 

‌‌‌मानसिक आयु [ mental age]

 

आई क्यू के अंदर दो प्रकार  की आयु प्रयोग मे ली जाती हैं। एक होती है तैथिक आयु[ chronological ag] और दूसरी होती है। मानसिक आयु

तैथिक आयु उस उम्र को कहा जाता है। जोकि व्यक्ति की वास्तव मे होती है। जैसे मैं 22 साल का हूं तो यह मेरी तैथिक आयु होगी ।

 

 

‌‌‌मानसिक आयु एक अलग प्रकार की आयु होती है। आई क्यू ज्ञात करने के लिए मानसिक आयु को पहले ज्ञात किया जाता है। किसी की मानसिक आयु ज्ञात करने के लिए । मनोवैज्ञानिकों के पास विशेष बुद्वि परिक्षण बने होते हैं। जैसे यदि कोई लड़का 10 साल का है और वह 12 साल के लड़के के लिए बनी प्रश्नावली हल कर

‌‌‌उसमे पास हो जाता है तो यह कहा जाता है कि उसकी मानसिक आयु 12 साल है। और तैथिक आयु 10 साल है।

 

Types of intelligence

 

‌‌‌बुद्वि के तीनप्रकार बताएगए हैं।

 

 1.Social intelligence

 

‌‌‌यह वैसी मानसिक क्षमता होती है जिसके सहारे व्यक्ति समाज के अंदर कुशलता से व्यवहार करता है। और अपने सामाजिक संबंधों को काफी अच्छा रखता है। समाज मे इनकी प्रतिष्ठा होती है। इनमे सामाजिक कौशल अधिक होता है।

 

2.Abstract intelligence

 

‌‌‌अमूर्त चिंतन से तात्पर्य होता है कि जिसके सहारे व्यक्ति संकेतों को आसानी से समझ जाता है। जैसे गणीतिय सबंधो की उचित व्याख्या करने वाले व्यक्तियों के अंदर यह बुद्वि अधिक होती है। जैसे एक सफल कलाकार और पेंटर आदि।

 

 

3.concrete intelligence

 

‌‌‌इस बुद्वि के सहारे व्यक्ति ठोस वस्तुओं के महत्व को समझता है। और विभिन्न चीजों के पिरचालन के बारे मे सीखता है। इस प्रकार की बुद्वि रखने वाला व्यक्ति एक सफल व्यापारी बन सकता है।

 

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *