28 प्रकार का होता है नरक जानिए पूरी स्टोरी

हमारे प्राचीन शास्त्रों के अंदर नरक के कई प्रकार types of narak in hindi  बताये गये हैं।‌‌‌ ‌‌‌‌‌‌यहां नरक की सजा या नरक की यातना के बारे मे भी विचार करेंगे। ‌‌‌विष्णू पूराण के अंदर नरक [narak]  के 28 प्रकारों का उल्लेख मिलता है। धर्म ‌‌‌ग्रंथों के अंदर इस बात का उल्लेख मिलता है कि जो  व्यक्ति बुरे कर्म करता है। उसे मरने के आद नरक [narak] के अंदर जाना पड़ता है। ‌‌‌जहां तक इस बात के सच होने का प्रश्न है तो इस संबंध मे मेरा यह मानना है कि होना हो दुनिया के हर धर्म के अंदर इस बात का उल्लेख मिलता है।

28 प्रकार का होता है नरक

 

 तो इसका मतलब इसमे सच्चाई है। क्योंकि यदि भगवान नहीं होता तो यह सब झूठ होता तो उसका नाम कब का रेत पर लिखे अक्सरों की तरह मिट जाता लेकिन आज भी वास्तव ‌‌‌भगवान का नाम कायम है क्योंकि वो सच मे ही है। ‌‌‌और जब वो है तो नरक जैसा भी कुछ हो सकता है।

‌‌‌1.tamisram  [भारी जिस्मानी सजा]

इस तरह के नरक के अंदर ऐसे लोगों की आत्माएं जाती हैं जिन्होंने किन्हीं दूसरे लोगों का धन लूटा होता है। यहां पर इनकी आत्माओं की अच्छी खासी पिटाई की जाती है। और आत्मा को गहरी चोट भी पहुंचाई जाती हैं।

2.Flogging

‌‌‌ जो लोग अपनी पति या पत्नी को बिना कारण त्याग देते हैं उनको यहां पर भेजा जाता है। और बांध कर  भयानक सजा दी जाती है।

‌‌‌3 . rauravam  [सांप की पीड़ा ]

यहां पर ऐसे लोगों की आत्मा को भेजा जाता है जो दूसरों की संम्पति से आनन्द उठाते हैं। ऐसे लोगों की आत्मा को एक भयानक नागिन के सामने फेंक दिया जाता है जो उसको भयंकर पीड़ा देती है।

4‌‌‌ .mahararuravam  [सांप से मौत ]

जो लोग वैध रूप से संपति के वारिश होने के बाद भी संपति लेने से इनकार करते हैं। और दूसरों की संपति लेने वाले और दूसरों की पत्नी से प्रेम करने वाले लोगों को यहां पर डाल दिया जाता है। यहां सांप उनकी आत्मा को डंक मारकर पीड़ा देते हैं।

5‌‌‌ .kumbhipakam [ तेल मे डालना ]

जो लोग अपनी खुशी के लिये जानवरों को मारते हैं उनकी आत्मा को तेल के अंदर डाल दिया जाता है।

6 . kalasutram [ ‌‌‌गर्म जगह]

जो लोग बुजुर्गों का समान नहीं करते उनको यहां पर भेजा जाता है। गर्म जगह पर उनकी आत्मा को कष्ट पहुंचाया जाता है।

7. asitapatram [‌तेज जिस्मानी सजा ]

जो लोग अपने जीवन काल के अंदर अपने ऑब्जेक्टस का पालन नहीं करते हैं। उनकी आत्मा को यहां पर कोड़े से पीटा जाता है। और कांटों पर यात्रा कराई जाती है।

‌‌‌8. sukarmaukham [ कुचलना ]

जो शासक अपने कर्तव्यों का पालन नहीं करते हैं। और अच्छे से शासन नहीं करते हैं। उनको भारी पत्थर से  कुचला जाता है।

9‌‌‌. andhakupam [जानवरों से ‌‌‌हमला]

जिन लोगों के पास संसाधन होते हुए भी अच्छे लोगों की मदद नहीं करते उनकी आत्मा को यहां पर धकेला जाता है। उन पर यहां शेर बाग ईगल हमला करते हैं।

10‌‌‌.taptamurti

जो लोग सोने चांदी आदि को लूटते हैं। उनको जलती हुई भटटी मे डाला जाता है।

11.kirmibhojanam [‌‌‌कीड़े और नाग ]

जो लोग मेहमानों का सम्मान नहीं करते दुसरों को अपने लाभ के लिये इस्तेमाल करते हैं। उनको कीड़े और नाग जीवित खा जाते हैं।

12 .sanlmali [ ‌‌‌गर्म लोहे]

जो लोग व्यभिचार करते हैं उनका गर्म लोहे से दागा जाता है।

13.vajrakantakasali

 ‌‌‌यहां पर उन लोगों को भेजा जाता है जोकि जानवरों के साथ सेक्स करते हैं।

14 .vaitarani [‌‌‌गंदी नदी]

जो शासक अपनी ताकत का दुरपयोग करते हैं और व्यभिचारी होते हैं। उनको यहां पर भेजा जाता है।‌‌‌उनकी आत्मा को एक ऐसी नदी के अंदर फेंका जाता है जिसमे मल मूत्र मांस और भयंकर जानवर होते हैं।

15‌‌‌.puyodakam

यह मल मुत्र से भरा हुआ स्थान होता है। यहां पर ऐसे लोगों को डाला जाता है। जो महिलाओं से बिना शादी के इरादे से सेक्स करते हैं और उनको धोखा देते हैं।

16‌‌‌.visasanam

जो अमीर लोग गरीबों को नीचा दिखाते हैं। जरूरत से ज्यादा अपने वैभव को ‌‌‌प्रदर्शित करते हैं। उनको यहां पर भेजा जाता है।

17. lalabhaksam [‌‌‌वीर्य की नदी ]

कामुक पुरूष साथी जो अपनी पत्नी को वीर्य निगल बनाता है। उसको वीर्य के समुद्र के अंदर फेंक दिया जाता है।

18‌‌‌. sarameyasanam [कुत्तों से पीड़ा]

जो लोग हत्या करते हैं जहर खाते हैं। और देश को बरबाद करते हैं । उनका मांस कुत्तों को खिलाया जाता है।

19‌‌‌ . avici [ धूल के अंदर ]

जो लोग झूठी गवाही देते हैं झूठी शपथ लेते हैं । को धूल भरे स्थान पर उंचाई से फेंका जाता है।

20. pranarodham [‌‌‌टुकड़े टुकड़े करना ]

जो लोग लगातार जानवरों का शिकार करते हैं यम के सेवक उनके टुकड़े टुकडे कर डालते हैं।

21. ayahpanam ‌‌‌[जल पदार्थों के पीने ]

जो लोग शराब और अन्य मादक पदार्थों का सेवन करते हैं उनको गर्म लोहा पीलाया जाता है।

22 .raksobjksam [ ‌‌‌पशुओं का बदला ]

जो मानव पशुओं की बली देते हैं उनका मांस खाते हैं उनको यहां पर फेंका जाता है। जिन पशुओं को पहले लोग मारते हैं वे पशु ही उनसे अपना बदला लेते हैं।

23. ‌‌‌sulaprotan

जो लोग दूसरों का नुकसान करते हैं और उनको धोखा देते हैं उनको सूली पर चढ़ाया जाता है। और भूख प्यास से भी कष्ट दिया जाता है।

24. ksharakardamam [‌‌‌उल्टी फांसी ]

जो लोग अच्छे लोगों का अपमान करते हैं उनको उल्टा फांसी पर लटका दिया जाता है।

25 .‌‌‌ dandasukam [जिंदा खाना ]

जो लोग दूसरों को जानवरों की तरह सताते हैं उनको यहां पर जिंदा खाया जाता है।

26. vatarodham [‌‌‌हथियार यातना ]

जो लोग पर्वत चोटियों पर रहकर पशुओं को कष्ट पहुंचाते हैं। उनको हथियार से यातनाएं दी जाती हैं।

27.paryavartankam

‌‌‌
जो व्यक्ति भूखे व्यक्ति को गाली देते हैं उनको भोजन से मना करते हैं उनकी आंख को चील और कोवों को खिलाई जाती हैं।

28. raksobjaksam

 

‌‌‌जो लोग उधार लिया हुआ पैसा नहीं देते हैं। उनको सुई चुभोई जाती है। उनके शरीर पर छेद किये जाते हैं।

‌‌‌

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *