सफेद चूहे पालने के 6 फायदे ,और Laboratory rat क्या खाते हैं ?

दोस्तों सफेद चूहा safed chuha आम चूहों के समान ही होता है। लेकिन सफेद चूहे को पालने के कई फायदे हैं। इस लेख के अंदर हम बात करने वाले हैं कि सफेद चूहा क्या खाता है ? सफेद चूहा कहां पर पाया जाता है ? आदि विषयों पर ।‌‌‌दोस्तों वैसे तो सफेद चूहे के बारे मे हमे ज्यादा जानकारी नेट पर उपलब्ध नहीं हो सकती है। लेकिन जोभी जानकारी उपलब्ध है । हम उसके बारे मे आपको विस्तार से बताने की कोशिश करते हैं।दोस्तों चूहों की अनेक प्रजातियां पाई जाती हैं।‌‌‌आपको बतादें की 18 वीं सदी के यूरोप में भूरे रंग के चूहों ने काफी तबाही मचाई थी। इन चूहों को पकड़ने वाले लोगों ने ना केवल इनको बेचकर पैसा कमाया वरन उन्हें चूहे पकड़ने का भी पैसा लिया था।

‌‌‌सफेद चूहे के फायदे
By Janet Stephens (photographer) – http://visualsonline.cancer.gov/details.cfm?imageid=2568, Public Domain, Link

1828  ई अंदर पहली बार चूहों का प्रयोग वैज्ञानिक एक्सपीरिपेंट करने के लिए किया गया था। वैसे सफेद चूहों का सबसे ज्यादा प्रयोग वैज्ञानिक करते हैं।जापान में, एडो अवधि के दौरान चूहों को एक पालतू जानवर बनाकर रखा जाता था।

‌‌‌सफेद चूहा क्या है ?

दोस्तों आपको बतादें की सफेद चूहे को Laboratory rat कहा जाता है। क्योंकि इसका विकास प्रयोगशाला के अंदर किया गया था। वैसे देखा जाए तो इन सफेद चूहों का प्रयोग वैज्ञानिक अपने अनुसंधान के लिए करते हैं।‌‌‌इन चूहों को इस प्रकार से बनाया जाता है कि वे किसी परीक्षण पर अच्छे से परिणाम दे सके।Wistar rat ,Long–Evans rat,Sprague Dawley rat आदि चूहे की कुछ ऐसी प्रजातियां हैं जिनको लेब के अंदर विकसित किया जा चुका है।

Wistar rat

Wistar rat जिसको सफेद चूहा कह सकते हैं। इसकी आंखे लाल होती हैं।यह एक एल्बिनो चूहा है। जिसकी नस्ल को 1906 में जैविक और चिकित्सा अनुसंधान में उपयोग के लिए विस्टार संस्थान में विकसित किया ।‌‌‌यह सबसे पहले विकसित किया जाने वाला चूहा था।Wistar चूहा वर्तमान मे प्रयोगशाला के अंदर अनुसंधान के लिए प्रयोग किये जाने वाले सबसे लोकप्रिय चूहों मे से एक है।इसका लंबा सिर ,लंबे कान और पूंछी भी लंबी होती है। स्प्रैग डावले चूहा और लंबे-इवांस चूहे विस्टार चूहों से विकसित किया गया था।‌‌‌इस चूहे की सबसे बड़ी खास बात तो यह होती है कि यह काफी अधिक सक्रिय होते हैं।

Sprague Dawley rat

इस प्रकार के चूहे एल्बिनो चूहे की एक बहिष्कृत बहुउद्देशीय नस्ल है। चूहे की इस नस्ल को पहली बार 1925 में मैडिसन, विस्कॉन्सिन में Sprague-Dawley फार्म मे प्रयोग किया गया था। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसकी शांति और हेंडलिंग के अंदर आसानी होना है।

‌‌सफेद चूहे या प्रयोगशाला चूहे की आवश्यकता क्यों महसूस हुई

दोस्तों अब तक चूहे की 51 प्रजातियों का पता लगाया जा चुका है।लेकिन सबसे बड़ी खास बात तो यह है कि वैज्ञानिक प्रयोग  80%  चूहों पर ही किया जाता है।और अन्य 10% मछली, उभयचर, सरीसृप और पक्षी हैं। जबकि तीसरे समूह में खरगोश, बकरी, बैल, सूअर ‌‌‌आदि आते हैं।‌‌‌वैसे वैज्ञानिकों ने चूहों की उम्र को मानव की उम्र से जोड़कर देखा है। ताकि परिणाम को अच्छे से प्राप्त किया जा सके ।काले चूहे  का संबंध मरीन परिवार से है। जो ऐशिया के अंदर पैदा हुए थे और ‌‌‌अमेरिका और यूरोप के मनुष्यों के साथ यह यहां पर भी आ गए ।एल्बिनो चूहों का उपयोग 19 वीं शताब्दी  में शरीर विज्ञान अध्ययन के लिए प्रयोगशालाओं में किया गया ।विस्टार चूहों को 1909 में हेलेन डीन किंग ने बनाया था। विस्तर चूहों और Sprague-Dawley चूहे अब वैज्ञानिक प्रयोगों मे सबसें ज्यादा यूज होते हैं।

‌‌‌सबसे बड़ी बात तो यह है कि सफेद चूहे या जो प्रयोगशाला चूहे किसी एक्सपेरिमेंट का परिणाम जल्दी दे देते हैं। क्योंकि उनकी उम्र कम होती है। शायद उनको इसी लिए बनाया गया है।

सफेद चूहे पालने के फायदे safed chuha palne ke fayde

दोस्तों अब बहुत से लोग सफेद अमेरिकन चूहों को पालना शूरू कर चुके हैं। पीछले दिनो एक यूजर ने मेरे को एक मेल किया और पूछा की सर क्या आप बता सकते हैं कि सफेद चूहे पालने से क्या फायदे हो सकते हैं ? बस उसी को ध्यान मे रखते हुए हमने यह लेख लिखा है।

‌‌‌1.सफेद चूहा पालने के फायदे सुंदरता

By Jean-Etienne Minh-Duy Poirrier – https://www.flickr.com/photos/jepoirrier/422469518/in/set-72157594329856603/, CC BY-SA 2.0, Link

दोस्तों सबसे बड़ी बात तो यह है कि यदि आप सफेद चुहा पालते हैं तो वह आपके घर के अंदर काफी सुंदर लगेगा । उसकी लाल आंखे वास्तव मे देखने लायक होगी । काले चूहे की तुलना मे सफेद चूहा देखने मे काफी आकर्षक होता है। उसकी पूंछ और शरीर भी लंबा होता है।

‌‌‌2.सफेद चूहे हैंडलिंग और शांत जानवर

आपको बतादें कि सफेद चूहे आम घरेलू चूहों के जैसे नहीं होते हैं। घरेलू चूहे काफी बेकार होते हैं और वे पूरे घर का नाश कर देते हैं। लेकिन सफेद चूहे शांत जानवर होते हैं। और उन्हें ज्यादा भागना दौड़ना पसंद नहीं होता है। इसके अलावा उनको हैंडल करना आसान होता है।

‌‌‌3.काफी बुद्विमान होते हैं

दोस्तों सफेद चूहे पालने का फायदा यह भी है कि वे काफी बुद्विमान होते हैं। वे नई नई चीजों को सीख सकते हैं। इसी वजह से इनका प्रयोग अब बहुत अधिक मात्रा के अंदर वैज्ञानिक रिसर्च मे किया जाने लगा है।

‌‌‌4.सकारात्मक एनर्जी बढ़ती है

दोस्तों घर के अंदर कुत्ते बिल्ली की तरह की सफेद चूहा पालने से फायदा होता है। सफेद चूहा पालने से ऐसा माना जाता है कि घर मे मौजूद नकारात्मक उर्जा का नास होता है। और सकारात्मक उर्जा बढ़ती है। जिससे अटके पड़े काम पूर्ण होते हैं। ‌‌‌इसके विपरित यह माना जाता है कि काले चूहों की संख्या घर के अंदर यदि अधिक हो जाती है तो फिर शत्रु का आक्रमण होने वाला होता है। और बेमारी फैल सकती है। जबकि सफेद चूहों के साथ ऐसा कुछ नहीं है।

‌‌‌5.काले चूहों को भगाने मे उपयोगी

दोस्तों यदि आपके घर के अंदर काले चूहे बहुत अधिक हो चुके हैं और आप इनको बाहर निकालने के लिए लाखो जतन कर चुके हैं। फिर भी यह बाहर नहीं निकल रहे हैं और आपके घर को नर्क बनाकर रख दिया है तो इसका कारगर उपाय है सफेद चूहे । ‌‌‌दोस्तों आप सफेद चूहों को अपने घर के अंदर लाकर उस रूम के अंदर रखे जहां पर काले चूहे काफी ज्यादा होते हैं। क्योंकि काले चूहे रात को ही काफी ज्यादा सक्रिय होते हैं। जब रात को सफेद चूहे अजीब अजीब आवाजे निकालने लगेंगे तो काले चूहे डर के मारे वहां से भाग जाएंगे ।

‌‌‌अखबारों मे छपी एक न्यूज के अनुसार जब रेल अधिकारी काले चूहों से काफी परेशान हो गए तो उन्होंने पैसा देकर सफेद चूहे खरीदे । सफेद चूहों के आने से काले चूहे वहां से भाग चुके हैं। तो सफेद चूहे पालने का एक फायदा यह भी है कि आप इनकी मदद से काले चूहों को भगा सकते हो ।

‌‌‌6.आप सफेद चूहों का बिजनेस कर सकते हैं ?

दोस्तों आपको यह जानकर हैरानी होगी कि लोग सफेद चूहों को पालना काफी पसंद करते हैं। क्योंकि वे काले चूहों के समान नहीं होते हैं। वरन वे काफी क्यूट होते हैं। सफेद चूहे पालने का एक बड़ा फायदा यह है कि आप इनको पालकर मार्केट के अंदर बेच सकते हैं। ‌‌‌आजकल कई बड़े बड़े शहरों के अंदर दुकानों पर सफेद चूहों को बेचा जा रहा है। और कस्टमर भी इनको बड़े ही चाव से खरीद रहे हैं।

‌‌‌सफेद चूहे क्या खाते हैं ?

  • क्रूड प्रोटीन: 23%
  • क्रूड फैट: 3.0%
  • फाइबर: 7.0%
  • एसिड अघुलनशील ऐश 8%
  • कैल्शियम: 1-2.5%
  • फॉस्फोरस: 0.9%
  • सोडियम: 0.5-1%

सामग्री मकई, सोयाबीन का गूदा, सूरजमुखी के बीज का भोजन, शॉर्ट्स, बोनक्विटी आटा, अल्फाल्फा छर्रों, मोलेसेस, सेपियोलाइट, अकार्बनिक डीसीपी, संगमरमर की धूल, विटामिन, खनिज

‌‌‌वैसे यह बात तो यह लैबोरेटरी के खाने की । लेकिन यदि आप घर पर सफेद चूहों को पालते हो तो फिर आप भाई एक बिस्कुट का पैकेट और सेब 24 घंटे मे एक बार दे सकते हो ।

सफेद चूहों की उम्र कितनी होती है

दोस्तों चूहों की उम्र काफी कम होती है। अधिकतर चूहे ज्यादातर 1 से 12 महिने तक ही जिंदा रहते हैं। हालांकि इनकी उम्र अलग अलग प्रजातियों के आधार पर अलग अलग होती है।

हाउस माउस (Mus musculus) – 9-12 महीना

हिरण चूहों (पेरोमाइसस मैनिकुलटस) – 2-14 महीना

सफेद-पैर वाला माउस (पेरोमाइसस ल्यूकोपस) – 12-24 महीने तक जिंदा रहता है।

‌‌‌कैंसर और गर्मी मे गुर्दे की विफलता इनकी मौत के दो बड़े कारण हैं। ‌‌‌यदि हम एक सफेद चूहे की बात करे तो यह लगभग 3 साल तक ही जिंदा रह सकता है। और यह संभव है कि यह तीन साल से पहले ही मर जाए ।, ब्रिटेन में हुए एक सर्वेक्षण के अंदर यह पाया गया कि 95% चूहे 1 साल के अंदर ही मर जाते हैं।

‌‌‌घर के लिए सफेद चूहे कहां से खरीदे ?

दोस्तों यदि आप पालतू जानवरों को पालने के शौकिन हैं और सफेद चूहों को पालना चाहते हैं। लेकिन यदि आपको यह समस्या आ रही है कि आप सफेद चूहों को कहां से खरीदें तो हम आपको एक तरीका बता देते हैं। ‌‌‌आप सफेद चूहों को indiamart से खरीद सकते हैं। यहां पर आपको 150 से लेकर 1000 रूपये पेयर के रूप मे सफेद चूहे मिल जाएंगे । यदि आप ऑफलाइन खरीदना चाहते हैं तो भी उपर दी गई वेबसाइट पर से नंबर लेकर अपने आसपास के ‌‌‌डिलर का पता कर सकते हैं।

‌‌‌सफेद चूहे क्या खाते हैं ? सफेद चूहे का लाभ लेख आपको कैसा लगा कमेंट करके बताएं ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *