संदीप महेश्वरी के अनमोल विचार खाली समय खराब मत करो

संदीप महेश्वरी के विचार, संदीप महेश्वरी की स्पीच ,संदीप महेश्वरी के अनमोल विचार पढ़े

मान लो आप कॉलेंज के अंदर पढ़ते हो । मस्ती करते हो तो मस्ती करो कोई बात नहीं । लेकिन अपना समय खराब मत करो । हमारे कहने का मतलब है। अपने समय का पूरा उपयोग कर । बहुत से लोग होते हैं जो हर काम के अंदर टाइमपास करते हैं। और बोते हैं कि वे टाइमपास कर ‌‌‌रहे हैं। यह टाइमपास शब्द बहुत बेकार है। यदि आप भी टाइमपास शब्द का इस्तेमाल करते हैं तो इसका इस्तेमाल करना बंद कर दें । क्योंकि जब भी हम टाइमपास शब्द को हमारे दिमाग के अंदर लाते हैं तो सच मुच हम टाइपपास करने लग जाते हैं। और ऐसी स्थिति के अंदर हम कुछ भी सीख नहीं पाते वरन अपने समय को गवां‌‌‌ देते हैं।

‌‌‌और यदि आपको एक बार खाली बैठे रहने की आदत पड़ गई तो आपसे काम ही नहीं हो पाएगा और आपका सर्किल भी खाली बैठे लोगों के साथ बन जाएगा । ऐसे आदमी टाइम पास करेगे । और उल्टे सीधे काम करेगा ।

‌‌‌तो दोस्तों आइए जानते हैं संदीप महेश्वरी खाली समय का उपयोग करने के लिए कौन कौन से टिप्स देते हैं।

‌‌‌1. खाली समय है तो टाइम पास करें या उस टाइम का यूज करें

‌‌‌संदीप महेश्वरी बताते हैं कि यदि आपने कोई ऐसा काम पकड़ लिया जिसके अंदर आपको कुछ ही घंटे काम करना पड़े और बाकी समय आप खाली रहते हैं। जब इंसान को लगता है की वह खाली है तो उसके पास दो तरह के विकल्प होते हैं। एक टाइमपास करना और दूसरा अपने टाइम का प्रयोग करना । संदीप महेश्वरी कहतें हैं कि ‌‌‌कभी भी टाइम पास मत करो वरन यदि आप खाली हो तो अपने टाइम का यूज करो । आप स्टीव jobs के बारे मे जानते होंगें । उन्होने अपने खाली समय के अंदर टैलिग्राफी को सीखा था। मतलब जब आप खाली होते हैं तो कुछ ना कुछ करते रहें और सीखते रहे।

‌‌‌2. कोई भी काम टाइमपास करने के लिए मत करो वरन कुछ सीखने के लिए करो

आमतौर पर होता क्या है कि जब हम खाली होते हैं तो सोचते हैं कि चलो टाइम पास करते हैं। इस प्रकार की सोच के साथ हम जोभी काम करते हैं उससे कुछ सीख नहीं पाते हैं। आप चाहे अपने दोस्तों के साथ घूमने के लिए जा रहे हैं तो उसके लिए भी ‌‌‌ऐसा सोच कर जाएं कि आप कुछ ना कुछ सीखने के लिए जा रहे हैं और कुछ सीखकर ही वापस आएंगे ।‌‌‌

यदि आप दोस्तों के साथ बैठे सटटा भी लगा रहे हैं तो यह सोचे की आप अपने टाइम का प्रयोग कर रहे हैं। और आप कैसे इसमे कुछ अच्छा सीख सकते हैं? ‌‌‌यदि आपके किसी दोस्त ने ज्यादा पीली और कुछ भी बक रहा है तो आप उससे भी सीख सकते हैं। मतलब हर काम चाहे अच्छा हो या बुरा आपको उससे कुछ ना कुछ सीखते रहना चाहिए ।

‌‌‌3. सीखते रहकर खुद का improvement करते रहो

 

‌‌‌ऐसा नहीं है कि आप बातों को सीखकर अपने दिमाग के अंदर ही भरते रहे । और उनको लाईफ के अंदर ना उतारें । तब आपके सीखने का कोई मतलब नहीं है। आप जो कुछ भी अच्छा सीखें उसे अपनी लाईफ के अंदर उतारते जाएं और खुद को इम्प्रूव करते जाएं । संदीप महेश्वरी ने बताया कि

जो लोग उनका भाषण काफी सालों से सुनते आ ‌‌‌रहे हैं । उन्होंने ऐसा महसूस किया होगा कि मैं बदल रहा हूं । लेकिन यह सब मेरे सीखते रहने का ही नतिजा है। आप भी इसी तरह से खुद को बदलते रहो । खुद को इम्प्रुव करो

‌‌‌4. बहते हुए पानी की तरह बनो

संदीप महेश्वरी बताते हैं कि बहते हुए पानी की तरह इंसान को बनना चाहिए । कयोंकि एक जगह एकत्रित पानी के अंदर सैवाल आ जाते हैं। और वह खराब हो जाता है । कहने का मतलब है खुद को बीजी रखो और निरंतर कुछ ना कुछ सीखते रहो ।

‌‌‌यदि आप बुरा काम भी सीखने के उदेश्य से कर रहे हो तो अच्छा है। लेकिन यदि आप अच्छा काम भी टाइमपास करने के लिए कर रहे हो तो बेकार है।

 

‌‌‌5. इन तीन चीजों को अच्छे से सीखलो

संदीप महेश्वरी ने अपने इस स्पीच के अंदर इन तीन चीजों पर बहुत अधिक जोर दिया था । जिसमे पहला है

  1. खुद को बिजनी रखना
  2. निंरतर सीखते रहना
  3. और खुद को इंप्रूव करना

‌‌‌यह तीन बातें यदि आप आज से ही अपनी जिंदगी के अंदर उतार लेते हैं तो आज से 1 साल बाद आप खुद अपने अंदर कई सारे बदलाव महसूस करेंगे । और जैसे जैसे समय बीतता जाएगा । आप खुद को इम्प्रुव करते चले जाएंगे । जोकि हर इंसान को सक्सेस हाशिल करने मे मदद करेगा ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *