यह 7 गलतियां जो सक्सेस इंसान कभी नहीं करते These 7 mistakes of unsuccessful people

दोस्तों हर इंसान अपना सपना पूरा करना चाहता है। हर इंसान कामयाब होना चाहता है। लेकिन कामयाबी केवल कुछ इंसानों को ही मिल पाती है। ऐसा क्या हो सकता है कि हर इंसान कामयाब हो सके । बिल्कुल दोस्तों ऐसा हो सकता है कि हर इंसान कामयाब हो । यदि वह ‌‌‌गलतियां करना बंद करदे । दोस्तों सक्सेस इंसान कोई हमसे अलग पैदा नहीं होते उनको कोई अलग से ट्रैनिंग नहीं मिलती है। वो भी हमारे बीच और हमारे साथ रहकर हममेसे अलग निकलते हैं। ऐसा क्यों होता है? इसकी वजह हम आपको इस लेख के अंदर बताने वाले हैं। यदि आप नीचे दी गई गलतियों को भी नहीं करेंगे तो आप ‌‌‌एक दिन सक्सेस इंसान बन जाएंगे यह हमारा दावा है।

‌‌‌1. अपनी रूचि से हटकर काम करने की गलती

आपने बहुत से ऐसे लोगों को देखा होगा जो कभी एक बिजनेस को बंद करते हैं तो कभी दूसरे बिजनेस को चालू करते हैं। मतलब वे अपने काम को बदलते रहते हैं। उनको इस बात से कोई मतलब नहीं होता है कि उनकी रूचि किसमे है ? और उन्हें क्या करना चाहिए । सही बात बोले तो ऐसे ‌‌‌लोग जिंदगी के अंदर कभी भी सक्सेस नहीं होते ।

सफल इंसान भी अपना बिजनेस बदलते हैं। लेकिन उनकी रूचि वही रहती है। मतलब वे अपनी रूचि को ध्यान मे रखके ही काम करते हैं। ‌‌‌यदि आप भी बिना रूचि के कोई काम कर रहे हैं तो जाहिर है आप उस काम से उब जाएंगे और आप उसके अंदर कुछ अच्छा नहीं कर पाएंगे जिससे आप पीछड़ जाएंगे । और दूसरे आपसे बेहतर कर लेंगे । तो जाहिर है आप उसमे सक्सेस नहीं हो पाएंगे । हमारे कहने का मतलब है आपकी रूचि आपके सक्सेस होने मे बड़ा रोल अदा करती है।

‌‌‌आप किसी भी बड़े व्यक्ति की जीवनी को उठाकर देखलें । आपको यह पता लग जाएगा कि वे इतने सफल क्यों हैं और आप क्यों नहीं ?

‌‌‌2. छोटी सोच रखने की गलती

यह कहावत सच है कि आपकी यदि सोच छोटी होगी तो आप छोटे आदमी बनेंगे । और यदि आपकी सोच बड़ी होगी तो आप बड़े आदमी बनेंगे । यदि आपकी सोच एक लाख तक कमाने की है तो आप एक लाख कमाने के बाद खुश हो जाएंगे और आप इससे ज्यादा कभी नहीं कमा पाएंगे । लेकिन आप अपनी सोच के दायरे को बढ़ा ‌‌‌लेते हैं तो आप और ज्यादा पाने के लिए प्रयास करेंगे । ऐसी दसा के अंदर जाहिर है आप ज्यादा हाशिल कर पाएंगे । सो यदि आप रोजाना अपने बिजनेस से 200 रूपये कमाते हैं तो 400 कमाने के तरीकों के बारे मे सोचें और 400 कमाने लगे तो और ज्यादा कमाने के बारे मे सोचे ।‌‌‌सक्सेस इंसान यह गलती कभी नहीं करते हैं कि जितना है उसमे ही संतुष्ट हो जाएं।

‌‌‌3. लीक पर चलने की गलती

आम आदमी यही बहुत बड़ी गलती करता है। इसी वजह से वह सक्सेस भी नहीं हो पाता है। सक्सेस इंसान कभी भी उस लीक पर नहीं चलते जिस पर पहले ही कोई चल चुका है। वरन वे हटकर अपना रस्ता बनाते हैं। यही वजह उनको और ज्यादा सक्सेस इंसान बना देती है। आप अभिताबच्चन का ही उदाहरण लें उनकी ‌‌‌जैसी एक्टींग उस जमाने मे कोई नहीं कर पाया । मतलब दूसरों से बेहतर करना ही इंसान को सुपर सक्सेस फुल बना देता है। सचिन को ही लेले । वैसे क्रिकेट तो हर कोई खेलता है । लेकिन वास्तव मे उनके जितनी प्रतिभा किसी मे नहीं है। और वो प्रतिभा अभियास और निरंतर मेहनत का ही प्ररीणाम है।

‌‌‌4. निराश और हताश होकर काम छोड़ने की गलती

दोस्तों ऐसी बात नहीं है कि वैज्ञानिक थॉमस ऐडिसन जब हजार बार असफल हो गए थे तो वे निराश नहीं हुए । ऐसा भी नहीं है कि सचिन निराश नहीं होते थे । यह भी सच है कि अभिताबच्चन निराश होते थे लेकिन वे इतने भी निराश और हताश कभी नहीं होते थे कि अपने काम ‌‌‌को छोड़कर भाग खड़े हो जाते हों । एक बार जरा सोचों कि यदि आप 1000 बार असफल हो गए तो क्या आप काम कर पाओगे उसी जोश से ? मेरे हिसाब से अधिकतर लोग असफलता के इतने बड़े आंकड़े को पार ही नहीं कर सकते । क्योंकि असफलताओं को झेलना भी हर किसी के बस की बात नहीं है।‌‌‌और जो इतनी असफलताओं को झेल लेता है। और फिर भी खड़ा होने की ताकत रखता है। वास्तव मे उसे कोई भी सफल होने से रोक ही नहीं सकता ।

‌‌‌5. परीणाम मे दिलचस्पी रखने की गलती

आप मैडम क्यूरी की जीवनी को उठाकर देंखे तो आपको पता चलेगा कि उनको नये तत्व खोजने मे जितना मजा आता था । उतना उसको खोजने के बाद होने वाले लाभ के अंदर नहीं आता था । मतलब जब तक आप काम को करने मे दिलचस्पी नहीं लेंगे और उसके परीणामों के अंदर दिलचस्पी लेंगे । आप ‌‌‌कभी भी सुपर सक्सेस फुल नहीं बन सकते । यदि आप कोई काम सिर्फ पैसा कमाने के लिए कर रहे हैं तो आप उसमे ज्यादा सफल नहीं हो सकते । लेकिन आप यदि कोई काम मजे के लिए कर रहे हैं तो आप उसमे काफी ज्यादा सफल हो सकते हैं।

‌‌‌6. खुद को संतुष्ट करने की गलती

यदि आप कुछ बड़ा हाशिल करना चाहते हैं तो आपको बड़े प्रयास भी करने होंगे । मतलब आप यदि आप करोड़पती बनना चाहते हैं तो आपको करोड़पति बनने वाले काम करने होंगे । मतलब आपको बड़े प्रयास करने होंगे । यदि आप एक छोटी सी नौकरी के अंदर संतुष्ट हैं तो आप गलत कर रहे हैं। आपको ‌‌‌असंतुष्ट होना पड़ेगा और अधिक हासिल करने के लिए प्रयास करना होगा ।

‌‌‌एक संतुष्ट इंसान उस यात्री के समान होता है जो बैठा रहता है जोकि कभी अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच सकता ।

‌‌‌7. सहन करने की ताकत न होना

दोस्तों यदि आप करोड़पति बनना चाहते हैं और करोड़ों रूपये लगाने और जोखिम सहन करने की ताकत आपके अंदर है ही नहीं तो आप एक सक्सेस इंसान या करोड़पति नहीं बन सकते । मतलब आप जो काम करने जा रहे हैं उसके अंदर आने वाली हर नाकामयाबी और मुश्बितों को सहन करने की ताकत आपके अंदर ‌‌‌होनी चाहिए । यदि आपके अंदर यह ताकत नहीं है तो इसका मतलब है आप उस काम को नहीं कर सकते । एक सक्सेस इंसान के अंदर यह ताकत मौजूद होती है। वह इसी के बलबूत े से एक सक्सेस इंसान बन पाया है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *