बिजनेस के लिए एक यूनिक idea की तलास कैसे करें

‌‌‌आपके पास यदि यूनिक बिजनेस आईडिया है तो समझो आप काफी हद तक पहले से ही सफल हो गए । बिजनेस आईडिया पर भी बिजनेस सफलता निर्भर करती है।
वैसे तो बहुत से लोगों को कोपी करने की आदत होती है। चाहे वो खानपान के अंदर हो या पहनावे के अंदर लोग एक दूसरे की कोपी करने से कभी नहीं चुकते

idea photo

 
लेकिन यदि बात बिजनेस की आती है तो इसमे एक दूसरे की कोपी करने वाले लोग कम ही सफल होते हैं। किसी भी दमदार बिजनेस के लिए दमदार आईडिया चाहिए होता है। यह आईडिया आपको कहीं मिलता नहीं है। आप इसे पैसे देकर नहीं खरीद सकते यह आपके दिमाग की उपज होता है।
कहते हैं तलासने वाले कच्चरे से भी सोना तलास सकते हैं
आपने भी बहुत से अजीब बिजनेस आडिया के बारे मे सुना होगा बनने वाले जूते धोकर भी करोड़पति बन जाते हैं। यदि आप भी चाहते हैं कि एक दिन दौलत आपके कदमों मे हो तो आज ही अपने लिए तलास किजिए किसी यूनिक बिजनेस आईडिया की और काम करना start  कर दिजिए

1.बिजनेस की संभावनाओं पर पहले गौर करें

सबसे पहले आपको यह पता लगाना है कि आप कहां कहां पर बिजनेस करेंगे तो कामयाबी मिल सकती है। आपको इस स्टेप के अंदर उन तमाम क्षेत्रों को लिस्ट के अंदर एड करना होगा जिनके अंदर आप काम करके पैसा कमा सकते हैं। या यूं कहें वहां पर अपार संभावनाएं हैं। हो सकता है। यहां पर आपके पास एक बहुत लम्बी लिस्ट हो जाए और यह भी हो सकता है कि आप के पास केवल कुछ क्षेत्र ही ऐसे हों जिनमे आप बिजनेस कर सकते हैं। मूल रूप से यहां पर आप के पास एक ऐसी लिस्ट होती है जो आपको यह बताती है कि किस क्षेत्र के अंदर अब संभावनाएं हैं और किन के अंदर नहीं हैं। या बहुत कम हैं।

2.अपनी लिस्ट को छोटा करें

जैसा की पूर्व स्टेप के अंदर आपको जो लिस्ट प्राप्त होती है वह काफी बड़ी होती है। अब आपको यहां पर बड़ी सी लिस्ट के अंदर एक ऐसा बिजनेस आईडिया चुनना होता है जोकि आप पर एकदम से सही बैठता हो इसके लिए बात कई बातों पर विचार कर सकते हैं। जैसे कौनसे आईडिया के लिए कितनी पूंजी चाहिए कितना काम होगा अपनी रूचि के अनुसार आदि बातों के आधार पर आप उनमे से अपने लिए एक बेस्ट बिजनेस आई डिया चुन सकते हैं। सबसे बेहतरीन तरीका बिजनेस आईडिया चुनने का है कि जो आईडिया आप को हर तरह से सही लगे वो ही आपको चुनना है।

3.आपका आईडिया यूनिक होना चाहिए

  जहां तक हो सके बिजनेस आईडिया का चुनाव करते समय आपकी पहली कोषिष यह होनी चाहिए कि आपका आईडिया यूनिक होनी चाहिए यदि आपका आईडिया यूनिक होता है तो आपको किसी तरह की प्रतिस्पर्धा नहीं करनी होगी और आप जल्दी ही नईं उंचाईयों को छू लेंगे।
 किंतु यदि आपका आईडिया कोपी किया हुआ है तो आपको मार्केट के अंदर अधिक संर्घस करनी होगी यदि आपके पास कोई यूनिक आईडिया नहीं है तो कोई बात नहीं है आप किसी ऐसे बिजनेस को चुन सकते हैं जिसमे अपार संभावनाएं हैं। जैसे डेरी का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है   दूध की मांग ‌‌‌हमेशा बनी रहती है। ऐसे ही आप और किसी बिजनेस का चुनाव कर सकते हैं।
इस दुनिया के अंदर कमी नहीं है बिजनेस की संभावनाओं की
कमी है तो बस मन लगाकर  काम करने वालों की

क्याफायदा होता है यूनिक बिजनेस आईडिया का

 

कोपी किये हुए और यूनिक आईडिया के अंदर जमीन आसमान का अंतर होता है। यदि आप यूनिक आईडिया  चुनते हैं। 

1.प्रतिस्पर्धा नहीं होती

आपका यूनिक आईडिया आपको दूसरो से हटकर बना देता है।  आप जो कुछ बेचते हैं वैसा दूसरे नहीं बेच पाते इसी वजह से सभी लोग आपके ही उत्पाद को ही खरीदेंगे इसलिए प्रतिस्पर्धा का कोई मतलब ही नहीं रह जाता है। जैसे आप एक ऐसा यंत्र बनाते जो किसी ने नहीं बनाया तो जाहिर सी बात है सारा माल आपका ही मार्केट के अंदर जाएगा

2.सारे मार्केट पर आपका ही एकाधिकार हो जाएगा

यूनिक आईडिया की यह खास बात होती है। यदि आप किसी यूनिक आईडिया के आधार पर बिजनेस के अंदर कदम रखते हैं तो आपका सारे मार्केट पर एकाधिकार हो जाता है।  जैसे आपकी कम्पनी कोई रोबोट बनाती है। वो भी ऐसा रोबोट जो दूसरी कोई कम्पनी नहीं बनाती तो जाहिर सी बात है सारे रोबोट खरीदने वाले लोग आपके कम्पनी का रोबोट ही खरीदेंगे और मार्केट के अंदर आपके प्रोडेक्ट की धूम मच जाएगी

3.तेजी से सफलता मिलेगी

आपके उत्पाद की लोगों को ‌‌‌आवश्यकता होती है। और आपका उत्पाद केवल अकेला ही उस ‌‌‌आवश्यकता की पूति करने वाला होता है। तब लोग तेजी से आपके उत्पाद को खरीदने लगते हैं। जिसकी वजह से आप तेजी से मार्केट के अंदर सफल हो सकते हैं। अन्यथा पहले से उपलब्ध प्रोडेक्ट की प्रति आप निकालते हैं तो लोग आपके प्रोडेक्ट पर उतना ध्यान नहीं देपाते हैं।

4.मार्केटिंग पर अधिक पैसा खर्च नहीं पड़ेगा

आपने ईनो का नाम तो सुना ही होगा जिसका प्रयोग पेट गैस उपचार के अंदर किया जाता है। यदि मार्केट के अंदर इस प्रोडेक्ट के प्रतिस्थापी प्रोडेक्ट पर नजर डाले तो नहीं मिलेगा अब ईनो बनाने वाली कम्पनी को मार्केटिंग के अंदर उतना खर्च नहीं करना पड़ता है। जितना की प्रतिस्पर्धा की दसा मे करना होता है। अब यह कम्पनी अपनी मार्केटिंग का पूरा पैसा आसानी से वसूल लेती है। तभी तो ईनो इतनी महंगी आती है।
तो दोस्तों कैसा लगा यह लेख आपको

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!