तूफान से लड़ने की ताकत पैदा करने वाले 6 टिप्स who increase psychology power of mind

आज कल हर इंसान अपनी बोड़ी पर तो काफी बेहतर तरीके से ध्यान देता है। लेकिन दिमाग पर कोई ध्यान नहीं दे पाता है। क्योंकि यह अंदर की बात होती है। यह किसी को दिखाई भी नहीं देती है। ‌‌‌और वैसे भी शरीर को तो कोई भी देखकर आपको बोल देता है।कि आप यार पहले कि तुलना मे काफी पतले हो गए । इस लेख मे हम आपको बताने वाले हैं कि आप अपने दिमाग की मनौवेज्ञानिक पॉवर कैसे बढ़ा सकते हैं इसका हम आपको कुछ सिंपल सौल्यूसन बताने रहें हैं। उन्हें फोलो करें ।

‌‌‌दिमागी मनौवेज्ञानिक पॉवर से हमारा मतलब है मुश्बितों से लड़ने की ताकत बढ़ाना । ताकि आपकी जिंदगी के अंदर जो भी बाधाएं आएं ।आप उन्हें उखाड़ फेंक । और जिंदगी के अंदर आगे तक जा सके । आप भूल रहे हैं कि मैंटली पॉवर शारीरिक पॉवर से बहुत ज्यादा प्रभावी होता है।

‌‌‌हम नहीं चाहते हैं कि आप भी अन्य लोगों की तरह हार कर हाथ पर हाथ धर कर बैठ जाओं और खुदा से आस करो कि वह हमे अपने आप ही सब कुछ देगा ।

‌‌‌क्या आपने इस बात पर कभी विचार किया है कि एक मरियल इंसान पूरे पाहड़ को खोद कर 100 साल के अंदर अकेला सुरंग बना सकता है। एक अकेला इंसान 1000 बार असफल होने के बाद भी सफल हो जाता है क्यों ? एक इंसान हर बार प्राइममिनिस्टर बनने की कोशिश मे हमेशा असफल होता है वो अंत मे सफल क्यों होता है ? जिस ‌‌‌चीज के बारे मे लोग कल्पना नहीं कर सकते जेम्स वाट उसे सच मे ही बनाकर दिखा देते हैं यह सब क्या है ? दोस्तों यह सब इंसान की दिमागी पॉवर का कमाल है।

तूफान से लड़ने की ताकत पैदा करने वाले 6

‌‌‌1. हमे मरते दम तक प्रयास करना है

यदि आप जिंदगी के अंदर कुछ करना चाहते हैं तो आपको उपर लिखी बात अपने दिमाग के अंदर बैठा लेनी होगी । याद रखें किसी भी चीजों को अपनी जिंदगी का सिद्वांत बनाने के लिए उसे दिमाग मे पूरी तरह से बैठाना आसान नहीं होता है। आप इस वाक्य को अपने बैड के सामने अच्छे अक्षरों ‌‌‌मे लिख लें और फिर सुबह शाम इस लाइन को अपनी जिंदगी का सिद्वांत बनाने की कोशिश करें । ध्यान दें आप इस लाइन को उस काम से जोड़कर देखें जिस काम को आप पूरा करना चाहते हैं। बाद मे आपको इस लाइन का तब बहुत सारा फायदा मिलेगा । जब आप निराश होंगे । आप काम छोड़ने की सोचेंगे । तब यह लाइन आपके दिमाग के ‌‌‌अंदर आएगी और आपको काम को फिर से करने के लिए प्रेरित करेगी ।

 

‌‌‌2. असफलता मतलब मैंने कुछ गलत किया

बहुत से लोग इस बात पर यकीन करते हैं कि किस्मत के अंदर लिखा ही मिलता है। लेकिन हम इस बात को नहीं मानते हैं। आप जो प्रयास करते हैं वहीं आपके किस्मत के अंदर लिखा होता है। लोग जब असफल हो जाते हैं तो किस्मत को दोष देते हैं । याद रखें दूसरों पर दोष ‌‌‌थोपने वाले लोग कभी भी अपनी खुद की गलतियों को नहीं देखते हैं। इसी वजह से वे असफल हो जाते हैं।

जितनी बार आप असफल होते हैं इसका मतलब है आपने कोई ना कोई गलती की है। उसे स्वीकार करें । और उसके अंदर सुधार करने की कोशिश करें । यह सिद्वांत भी आपके लिए काम का है। इसको लिख लें । जब भी आप असफल होंगे । ‌‌‌यह कथन एक्टीव होकर आपको मानसिक उर्जा को बढ़ाएगा । इस दौरान आपको अपने पहले सिद्वांत और दूसरे सिद्वांत को मन से सोचे ।

‌‌‌3. मैं इस काम के अलावा कुछ नहीं कर सकता

बहुत लोगों की यह समस्या होती है कि उनको एक काम हार्ड लगता है तो वे दूसरे काम को करने की सोचने लगते हैं। यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो आप उपर लिखी बात को अपने दिमाग के अंदर अच्छी तरह से बैठा लें । इसमे काफी समय लग सकता है । लेकिन यह बहुत प्रभावी चीज है। ‌‌‌इसका फायदा आपको तब मिलेगा जब आप काम छोड़ने की सोचेंगे । ऐसी दसा के अंदर यह आपके मन को कंट्रोल करने मे मदद करेगी ।

‌‌‌4. जब वो सफल हो सकते हैं तो हम क्यों नहीं ?

जब हम कोई काम करते हैं तो उसमे हमारे कुछ आदर्श होते हैं। जिनको हम अपने लिए प्रेरणा स्त्रोत मानते हैं। वे हमारी नजरों के अंदर एक सफल इंसान होते है। आप को जब भी लगे कि आप असफल महसूस करें तो आप अपने आदर्शों के बारे मे सोचे । आप उपर लिखी लाइन को भी अपने ‌‌‌बेड के सामने लिख दे। जिससे आप इसको रोज देखेंगे तो यह आपके दिमाग के अंदर बैठ जाएगी और आप जब निराश होंगे तो यह आपके मनोबल को बनाए रखने मे मदद करेगी ।

‌‌‌5. सफलता की इमेजिनेशन

यदि आपको लगता है कि आप अपने काम से निराश हो रहे हैं तो आपको यह इमेजिन करना चाहिए कि आप सफल होने के बाद कैसे रहेंगे । आपके पास क्या होगा ? आप कितने खुश रहेंगे ? सफलता के इमेजिनेशन का फायदा यह होगा कि आपके अंदर नई उर्जा का संचार होगा । आपके दिमाग को पॉवर मिलेगा ।

 

‌‌‌6. इमसे मुझे सबसे ज्यादा खुशी मिलेगी

दोस्तों काम चाहे कोई कैसा भी करे । लेकिन मजा उस काम को करने मे आता है जो हमे पसंद है। उस काम को करने का मजा ही अलग होता है। लेकिन हर इंसान को उसका मन पसंद काम नहीं मिल पाता है। आपको उपर लिखी लाइन भी अपने जीवन के सिद्वांत बना लेनी चाहिए । ‌‌‌और विपरित परिस्थिति के अंदर आपको उन अनुभवों के बारे मे सोचना चाहिए जो आपको काम करते हुए मिले हैं। अच्छे अनुभवों के बारे मे सोचे ।

‌‌‌अंत मे मैं आपको दोस्तो यही कहना चाहूंगा यदि आप उपर दिये गए टिप्स को फोलो करते हैं तो आपके दिमाग की मुश्बितों से लड़ने की क्षमता काफी बढ़ जाएगी । आप जल्दी से निराश नहीं होंगे । लेकिन आपको उपर बताए गए सारे रूल हमेशा फोलो करते रहना होगा । चमत्कार आपको कुछ समय बाद अपने आप ही महसूस हो जाएगा

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *