चांदी की रिंग पहनने के फायदे ? चांदी के गहनों के फायदे

वैसे देखा जाए तो चांदी की रिंग पहनने के पीछे कई सारी वजहे हो सकती हैं। भारत के अंदर ही नहीं विदेशों के अंदर भी लोग चांदी से बनी रिंग पहनते हैं। चांदी से बनी रिंग का प्रयोग ज्यादातर महिलाएं करती हैं। हालांकि वैज्ञानिक रूप से भी ‌‌‌चांदी की रिंग पहनने के फायदे  हैं। लेकिन‌‌‌ ज्योतिषिय रूप से भी चांदी की रिंग पहनने के फायदे हैं।  अधिकतर महिलाएं और पुरूष चांदी की रिंग को सुंदरता के लिए भी पहनते हैं। खास कर महिलाएं चांदी की रिंग को हाथों की सुंदरता को बढ़ाने के लिए पहनती हैं। आइए जानते हैं चांदी की रिंग पहनने के फायदों के बारे मे ।‌‌‌वैसे देखा जाए तो मानव चांदी का प्रयोग सदियों से करता आ रहा है। और चांदी यूज के मामले मे सोने से भी आगे निकल गई है। लेकिन चांदी के क्या फायदे हैं ? इसका उत्तर बहुत कुछ विश्वास पर ही टिका हुआ है।

वैदिक ज्योतिष की बात करें तो इसके अनुसार चांदी का संबंध बृहस्पति और चंद्रमा से होता है। यह हमारे शरीर के अंदर वात कप का संतुलन बनाए रखती है। इसके अलावा चांदी का संबंध हमारे भाग्य से भी होता है। चांदी की रिंग पहनने का फायदा यह रहता है कि यह भाग्योदय और जीवन के अंदर सुंदरता लाती है।

हिप्पोक्रेट्स जो एक प्राचीन यूनानी चिकित्सक ने बताया की घाव भरने के लिए चांदी मददगार होती है। चांदी के बर्तनों मे रखा पानी और सिरका काफी फायदे मंद होता है।प्राचीन काल के अंदर लोग दूध की ताजगी बनाए रखने के लिए उसके अंदर चांदी के टुकड़े डालते थे।

बृहस्पति और चंद्रमा के लाभ पाने के लिए

वैदिक ज्योतिष के अनुसार चांदी की रिंग पहनने का फायदा यह है कि यह बृहस्पति और चंद्रमा के लाभ को पाने मे हमारी मदद करती है। जिन लोगों का बृहस्पति और चंद्रमा रूष्ट या कोई दोष होता है उन लोगों को चांदी की रिंग पहननी चाहिए। ‌‌‌यह शरीर के अंदर जहरीले पदार्थों को बाहर निकालता है और स्वास्थ्य लाभ प्रदान भी करता है।

जीवन में सकारात्मक लाने के लिए

ऐसा माना जाता है की घर के अंदर भी चांदी का प्रयोग करते हैं तो जीवन के अंदर सकारात्मकता आती है। चांदी की रिंग पहनने से सकारात्मकता पैदा होती है।यदि आप चांदी की रिंग पहनते हैं तो आपकी घबराहट और निराशाजनक विचार दूर होते हैं। और दिमाग के अंदर सकारात्मक विचार आते हैं।

‌‌ चांदी की रिंग पहनने के फायदे ? गुस्से को शांत करता है

चांदी की रिंग पहने का फायदा यह भी है कि यह हमारे दिमाग के अंदर सकारात्मक पहलुओं को जगता है। और दिमाग को शांत रखता है। इसके अलावा क्रोध को कम करता है।बृहस्पति और चंद्रमा  से जुड़ा होने की वजह से यह हमारे व्यवहार को अच्छा बनता है।‌‌‌यदि आपका चंद्रमा कमजोर है तो यह आपकी मानसिक स्थिति को प्रभावित कर सकता है।एक चांदी की अंगूठी में चंद्रमा को मजबूत करने की शक्ति होती है ।यह आपकी गठिया और सर्दी के ईलाज करने मे भी मदद करती है।‌‌‌

धातु के रूप मे चांदी चंद्रमा की उर्जा का संचालन करती है।चंद्रमा का हमारे मूड पर सीधा प्रभाव पड़ता है।चांदी हमारे अवचेतन मन को प्रभावित करता है। यह हमे हमारी भावनाओं से निपटने और अधिक मात्रा के अंदर नकारात्मक उर्जा का अवशोषण करती है। चिंता घबराहट को कम करती है।

‌‌‌सुंदरता बढ़ाने के लिए

चांदी की रिंग पहनने का बड़ा फायदा यही है कि यह सुंदरता को बढ़ाता है। महिलाएं चांदी की रिंग पहनती हैं। जिससे उनकी सुंदरता बढ़ जाती है। महिलाएं तो पैरों के अंदर भी अलग से रिंग पहनती हैं। और कुल मिलाकर चांदी शरीर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए काफी महत्वपूर्ण है।‌‌‌दुनिया की अनेक सभ्यताएं सुंदरता बढ़ाने के लिए युगों से चांदी का प्रयोग करती आई हैं।

‌‌‌चांदी की रिंग और गहने पहनने के लाभ

वैसे वैज्ञानिक रूप से चांदी पहनने के फायदों के बारे मे कुछ समान्य सूचनाओं के अलावा कुछ नहीं है। लेकिन ऐसा माना जाता है कि चांदी की रिंग या गहने पहनने के अनेक लाभ होते हैं।चांदी में एक शक्तिशाली एंटीमाइक्रोबियल एजेंट होता है जोकि जो संक्रमण को रोकने , घाव भरने और सर्दी और फ्लू की रोकथाम के अंदर काफी मदद करता है।कई लोगों ने चांदी पहनने के बाद ऊर्जा के स्तर और मूड में में सुधार की सूचना दी है,

‌‌‌चांदी पहनने से त्वचा की रक्षा होती है।यह त्वचा को संक्रमण से बचाती है। जैसाकि उपर बताया जा चुका है। यह रक्तवाहिनियों को भी लोचदार बनाती है। ‌‌‌यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालती है। कुछ लोग तो चांदी के गहनों से भी आगे निकल जाते हैं और यह रात को चांदी के बने मास्क पहनते हैं। और लैपटॉप पर टाइप करते समय चांदी के दस्ताने भी पहनते हैं।

‌‌‌चांदी की रिंग और गहने पहनने के वैज्ञानिक फायदे

चांदी के अंदर विद्युत और तापीय चालकता होती है। चांदी के गहने या रिंग एक तरह से अपना एक चुंबकिय क्षेत्र बनाते हैं।जो शरीर की प्राकृतिक चालकता को उत्तेजित करता है और शरीर के अंदर रक्त परिसंचरण के अंदर सुधार और ‌‌‌तापमान संतुलन भी करता है।सकारात्मक रूप से चार्ज चांदी के आयन बैक्टिरिया मे नकारात्मक प्रभाव पैदा करते हैं। इसी वजह से ही चांदी के आयन बैक्टिरिया से लड़ते हैं।और संक्रमण से रक्षा करते हैं। ‌‌‌चांदी के ज्योतिषी लाभों को छोड़कर यह वैज्ञानिक रूप से साबित हो चुका है कि चांदी के गहने पहनने और रिंग पहनने के फायदे हैं।साउथेम्प्टन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने इसे साबित किया है। ‌‌‌वैज्ञानिकों के अनुसार एक विशिष्ट प्रकार की चांदी की रिंग पहनने से गठिया के लक्षणों के अंदर आराम मिलता है।इसके अलावा यह दर्द को कम कर सकती है। और उंगली मे हाइपरेक् टेंशन को रोकने मे भी मददगार है।

‌‌‌इसके अलावा यदि आप चांदी की रिंग नहीं पहनना चाहते हैं तो आप चांदी से बने गहने पहन सकते हैं। चांदी से बने गहने पहनने के भी अनेक फायदे हैं।यह चिंता को कम करने मे मदद करती है। और हमारे दिमाग को शांत कर सकती है।

‌‌‌चांदी से एलर्जी वाले चांदी ना पहने

यदि आपको चांदी या धातु से एलर्जी है तो आपको चांदी नहीं पहनना चाहिए। और यदि फिर भी आप चांदी की रिंग या गहने पहनते हैं तो आपको एलर्जी हो सकती है। और शरीर पर दाने पैदा हो सकते हैं। ऐसी स्थिति के अंदर भले ही आप चांदी के ‌‌‌फायदों के बारे मे जानते हों और आप इनके अंदर विश्वास करते हों।

‌‌‌चांदी के गहने और कपड़े पहनने के फायदे

आज कल ऐसे कपड़े भी आ चुके हैं जो चांदी के बने होते हैं। इन्हें पहनने के भी अनेक फायदे हैं। यह जब त्वचा के संपर्क मे आते हैं तो चुम्बकीय विकिरण  को रोकते हैं।कुछ लोग बेहतर नींद के लिए भी चांदी के मास्क पहनते हैं।‌‌‌इसके अलावा रेडियशन को रोकने के लिए चांदी के दस्ताने पहने जाते हैं।

‌‌‌चांदी की रिंग विभिन्न उंगलियों मे पहनने के फायदे

  • तर्जनी.. यदि आप तर्जनी उंगली के अंदर चांदी की रिंग पहनते हैं तो  क्रोध शांत होता है। और दिमाग शांत होता है।
  • मध्य उंगली उंगली के अंदर यदि आप चांदी की रिंग पहनते हैं तो यह न्यूरोट्रांसमिटर के अंदर रूकावट को रोकती है।
  • अनामिका के अंदर यदि आप चांदी की रिंग पहनते हैं तो रक्त शुद्व होता है। और शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकले मे मददगार होती है।
  • छोटी उंगली उंगली के अंदर यदि आप चांदी की रिंग पहनते हैं तो हर्ट रेट अच्छी रहती है।चिंता ठीक रहती है। और सहन शक्ति बढ़ती है।
  •  

‌‌‌‌‌‌चांदी की रिंग कैसे पहने?

रविवार या गुरुवार के दिन बाजार से एक चांदी की रिंग खरीद कर ले आएं ।उसके बाद एक कटोरे के अंदर दूध ले और उस चांदी की रिंग को दूध के अंदर डालदें और फिर रात भर उसे दूध के अंदर पड़ा रहने दें । उसके बाद आपको सुबह उसे दूध से निकाल लेना है।‌‌‌उसके बाद उस रिंग को किसी मंदिर के अंदर रखें और उसकी पूजा विधि पूर्वक करें। धूप दीप और फूल चढ़ाएं और फिर आप उसे अपने हाथों की उंगलियों के अंदर पहन सकते हैं। इसके पहनने के बाद आपको सकारात्मक परिणाम मिलेंगे ।

चांदी की रिंग पहनने के फायदे ? चांदी के गहनों के फायदे

लेख आपको कैसा लगा ?

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *