गोवा रेड लाइट एरिया डिटेल्स और इससे जुड़ी रोचक जानकारियां

‌‌‌इस लेख मे हम बात करेंगे गोवा रेड लाइट एरिया डिटेल्स और गोवा रेड लाइट एरिया प्राइस के बारे मे ,गोवा पर्यटन की द्रष्टि से सबसे अच्छा शहर माना जाता है। लेकिन गोवा मे रेड लाइट एरिया कोई खास सक्सेस फुल नहीं हो पाया है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। जिनमे से सबसे बड़ा कारण तो यह है कि लोग यहां पर घूमने जाते हैं ना की यह सब करने के लिए और दूसरा कारण है कि ‌‌‌अधिकतर लोग अकेले नहीं जाते हैं। इसके अलावा एक कारण यह भी हो सकता है कि यहां पर कॉल गर्ल का महंगा होना । ‌‌‌लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि गोवा मे कोई रेड लाइट एरिया है नहीं ।

गोवा रेड लाइट एरिया डिटेल्स

रेड लाइट एरिया पहले एक जगह पर हुआ करता था । लेकिन अब इसे विस्थापित कर दिया गया है।यहां पर वर्कर को सीएसडब्ल्यू  के नाम से भी जाना जाता है। ‌‌‌आपको बतादें कि गोवा कें अंदर अधिकतर वे लोग रेडलाइट एरिया जाते हैं जिनके पास पैसा होता है। और वे पैसा को पानी की तरह बहाने को तैयार हो जाते हैं। लेकिन कम पैसे वाले लोग वहां पर यह सब करने की उम्मीद नहीं करते हैं।

गोवा रेड लाइट एरिया डिटेल्स

‌‌‌वैसे गोवा के अंदर कई जगह पर रेडलाइट एरिया है। लेकिन उसकी पहचान करना मुश्किल है । एक अंग्रेजी वेबसाइट के अनुसार गोवा मे रेडलाइट एरिया लगभग हर जगह मिल जाएगा । लेकिन आपको इसके लिए अच्छी कीमत देनी होगी । ‌‌‌गोवा रेडलाइट एरिया डिटेल्स के बारे मे हम आपको नीचे बात रहे हैं।

मसाज पार्लर

गोवा के अंदर ज्यादातर तटीय बेल्ट में होटल ,लॉज और किराये के मकानों के पीछे पार्लर लगाए गए हैं।यह सब  मालिश / ब्यूटी पार्लर  होते हैं। इनके अंदर जाने के लिए एक गार्ड से अनुमति लेनी होती है। इन पार्लर के अंदर कई जगहों  से आई लड़कियां काम करती हैं। जैसे महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, मणिपुर, मेघालय आदि । इन जगहों पर देशी विदेशी पर्यटक , और स्थानिय लोगों को भी जाते हुए देखा है।

‌‌‌कस्टमर ब्यूटी पार्लरों मे कैसे जाते हैं

एक अंग्रेजी वेबसाइट के अनुसार गोवा के अंदर कस्टमर सीधे ही ब्यूटी पार्लर के अंदर नहीं जाती हैं। मतलब जहां पर मालिश वैगरह होती है। इसके लिए वहां पर कुछ लोग होते हैं। उन से बात करनी होती है। उसके बाद वे कुछ समूह के रूप मे लड़कों को लेकर जाते हैं। अधिक ‌‌‌संख्या के अंदर यदि ग्राहक होते हैं तो उनको लाने के लिए एक वैन का प्रयोग किया जाता है। बस गोवा रेड लाइट एरिया डिटेल्स मे पार्लर कुछ इसी तरीके से काम करते हैं।

होटल और लॉज

गोवा के अंदर होटल और लॉज लगभग हर जगह होते हैं।इनके अंदर  मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, मणिपुर, मेघालय आदि जगहों से आधुनिक फैसनेबल और हिंदी भाषी लड़कियों को लाया जाता है। ‌‌‌अलग राज्यों से लाई जाने वाली लड़कियों को को होटल के पास बने कमरों के अंदर रखा जाता है। और ऐजेंट कस्टमर के साथ सौदा करते हैं। और उसके बाद लड़कियों को एक समय के लिए कस्टमर को सौंप दिया जाता है।इसके अलावा कई बार उनकों कस्टमर के आवास पर भी भेजा जाता है।

‌‌‌होटल और लॉज के ऐजेंट उन लड़कियों से भी संपर्क करते हैं जो कि खुले समुद्र तटों पर घूमती हैं। यदि वे सहमत होती हैं तो उनका भी प्रयोग किया जा सकता है। इसके अलावा  बर्देज़ तालुका में लड़कियों को प्रति घंटे के आधार किराये पर भी लेते हैं।

‌‌‌आपको बतादें कि इन होटल के मालिकों का अन्य सीएसडब्ल्यू  के साथ भी संपर्क होता है। यदि मांग पूरी नहीं हो रही है तो वे किसी भी दूसरे राज्य की सीएसडब्ल्यू  से संपर्क करते हैं और गोवा आने को कहते हैं। यदि उसके पास पैसे नहीं हैं तो पैसे भी होटल के मालिक ही वहन करते हैं। ‌‌‌होटलों के अंदर अधिकतर कस्टमर घरेलू और विदेशी पर्यटक होते हैं।

‌‌‌गोवा रेड लाइट एरिया डिटेल्स किराए के कमरे

‌‌‌यहां पर क्या होता है कि लड़कियों को एक सप्ताह या महिने के अनुबंध पर अलग अलग जगहों पर लाया जाता है। और फिर इनको किराये के कमरों के अंदर रखा जाता है। लड़कियों को लाने के लिए ट्रेन या बस का इस्तेमाल किया जाता है। ‌‌‌इनको यहां से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती है। काले लिबास मे इन्हें रखा जाता है। इसके अलावा काम पूरा होने के बाद इनको वापस इनके स्थानों पर पहुंचा दिया जाता है।

मछली पकड़ने वाले ट्रॉलर

यह जगह मत्स्य पालन घाट और आसपास के बाजार क्षेत्र मे होती है। हालांकि इस क्षेत्र मे हर कोई प्रवेश नहीं कर सकता है।यहां पर आंध्रप्रदेश और कर्नाटक  के वर्कर काम करते हैं।यहां पर सारे काम खुद ही सीएसडब्ल्यू  करते हैं। ‌‌‌काम के बाद यहां पर नगद भुकतान किया जाता है। कई बार लड़की को मछली भी मिलती है। जिसे बाद मे वह बेच देती हैं।

वेश्यालय

बैना, वास्को जैसे स्थानों पर वेश्यालय भी हैं।यहां पर मोटर बाइक ,टैक्सी आदि की मदद से कस्टमर को बुलाया जाता है।उसके बाद  वह वेश्यालय की मेडम कस्टमर के साथ एक सौदा करती है। और फिर लड़की को कस्टमर के साथ एक मकान के अंदर भेज दिया जाता है।भुगतान की गई राशी को मेडम को देना होता है।

गोवा रेड लाइट एरिया डिटेल्स अन्य जगह

‌‌‌बैना के अंदर रेड लाइट एरिया के नष्ट होने के बाद यह कई जगहों पर फैल गए हैं। जैसे वास्को शहर में KTC बस स्टैंड, नगर निगम उद्यान, रेलवे पुल और रेलवे स्टेशन आदि के आस पास ।केल्सिम और ठाणे और कोर्टालिम ,साडा, बोगदा, जापानी उद्यान, खरेवाड़ा, बिड़ला, ज़ुआरी नगर, वर्ना औद्योगिक एस्टेट,

‌‌‌यहां पर मौजूद सीएसडब्लू कस्टमर को सड़कों पर घेरते हैं और उसके बाद वे उन्हें घने जंगलों मे या फिर होटल के अंदर लेकर जाते हैं।

राजमार्ग

कई राजमार्गों के आस पास झुग्गी वाले मकान हैं। उनके अंदर भी कई सिएसडब्लू रहते हैं इनके अधिकतर कस्टमर ट्रक ड्राइवर होते हैं।यह लोग राजमार्गों पर आकार अपने कस्टमर की तलास करते हैं। और इन जगहों पर काम करना आसान होता है।

गोवा रेड लाइट एरिया प्राइस

‌‌‌वैसे यहां पर प्राइस कोई फिक्स नहीं है। एक जानकारी के अनुसार पैसे फिगर पर लगते हैं। एक अच्छी फिगर की कीमत यहां पर 25000 भी हो सकती है। और कम से कम आपको इस काम के लिए 2000 रूपये चुकाने होते हैं। जोकि अन्य जगहों की तुलना मे काफी ज्यादा हैं।

‌‌‌महिलाओं को बहला फुसला कर लाया जाता है

‌‌‌एक अंग्रेजी समाचार मे छपी खबर के अनुसार बैना के रेड लाइट एरिया में तोडफ़ोड़ करने के बाद लड़कियों की तस्करी का एक नया रूप चल पड़ा है।पोरवोरिम, मापुसा और अरपोरा जैसी जगहों पर पुलिस ने छापामारी के अंदर कई लड़कियों को बचाया जो की बेहतर भविष्य ‌‌‌का झांसा देकर वहां पर लाई गई थी ।

  • 16 साल की सुधा जोकि कॉलेज पासआउट थी। उसे दोस्तों पर खर्च करने और अच्छे मोबाइल के लिए पैसे की आवश्यकता थी तो दलालों ने उसे अच्छे भविष्य के बहाने बहला लिया था।एक होटल के अंदर उसे ठहराया गया था। पुलिस की कार्यवाही के बाद उसे बचा लिया गया।
  • इसी तरीके से तीन युवा लड़कियों को एक पार्लर से बचाया गया था। जिनको यह कह कर लाया गया था कि ‌‌‌उनको अच्छे पैसे मिलेंगे और कुछ समय बाद उनकी सैलरी 10000 महिना से डबल हो जाएगी । इस वजह से वे आसानी से झांसे मे भी आ गई थी ।

‌‌‌वैसे देखा जाए तो गौवा के पुराने रेड लाइट एरिया के विस्थापन  के बाद वैश्या पूरे जगहों पर बिखर सी गई है। और गली महौल्लों के अंदर भी कुछ महिलाएं याचना करती देखी जा सकती हैं। राजमार्गों, होटलों और घरों के साथ वेश्यावृत्ति भी बढ़ रही है। वहीं गोवा के कुछ अधिकारियों का मानना है कि हर लड़की को इस धंधे के अंदर जबरन नहीं धकेला जाता है। वरन कुछ ऐसी होती हैं जिनको मजबूरी के अंदर करना पड़ता है।

‌‌‌क्योंकि उनके पास कोई दूसरा काम करने का आप्सन नहीं होता है। जबकि कुछ महिलाएं शूरू से ही यह सब करती आ रही हैं तो उनको दूसरे धंधे के अंदर लगाया भी जाता है तो यह उनको आसान नहीं लगेगा ।

‌‌‌गोवा रेड लाइट एरिया मे लड़कियों के साथ अत्याचार

वैसे तो किसी भी रेड लाइट एरिया के अंदर आप चले जाएं । कहीं पर भी लड़कियों के साथ अच्छा सलूक नहीं किया जाता है। बस यही बुरा सलूक उनके साथ गोवा मे होता है। ‌‌‌आपको बतादें कि सबसे पहले कस्टमर को लड़की की फोटो मोबाइल पर एजेंटों के द्वारा दिखाई जाती है। उसके बाद जो भी लड़की कस्टमर को पसंद आ जाती है। उसे बुलाया जाता है। उसके लाने ले जाने का किराया ऐजेंट वहन करते हैं।

red light area in gova

‌‌‌जोकि एक सौदे के अंदर 30000 से 40000 तक आसानी से कमा सकते हैं।एक लड़की का एक रात का चार्ज 1 लाख तक जा सकता है। इसके अलावा लड़कियों को होटलों मे ना ले जाकर सीधे रूम या घरों के अंदर ले जाया जाता है।

‌‌‌एक लड़की को एक दिन के अंदर लगभग 12 कस्टमर को खुश करना होता है। यदि कोई लड़की की शिकायत कस्टमर करता है तो लड़की को 5000 रूपये तक का जुर्माना भी देना पड़ जाता है।

‌‌‌गोवा रेड लाइट एरिया और यूजर एक्सपिरियंस

दोस्तों वैसे मैं कभी गोवा गया नहीं हूं । लेकिन कुछ लोगों इस संबंध मे क्या कहते हैं? जो कि गोवा  जा चुके हैं। अधिकतर लोगों की बातों से एक बात स्पष्ट हो जाती है कि गोवा ‌‌‌के अंदर यदि आप काम करने के बारे मे सोचते हो तो आपको नुकसान होने की संभावना अधिक होती है। क्योंकि यहां पर आपको धोखा मिल सकता है। और इसमे बहुत अधिक पैसा खर्च होगा । लेकिन यदि आप केवल पर्यटन के उदेश्य से ‌‌‌यदि आप गोवा जाते हैं तो निश्चिय ही यह आपके लिए अच्छा है। होगा और आप गोवा के अंदर पूरा आनन्द उठा पाओगे । ‌‌‌यदि आप गोवा की सुंदरता को निहारने के इरादे से गोवा का दौरा करते हैं तो निश्चिय ही आप निराश नहीं होंगे ।

‌‌‌गोवा रेड लाइट एरिया बैना

उच्च न्यायलय के आदेश के बाद गोवा सरकार ने 14 जून, 2004 को बैना मे पनप रहे रेड लाइट एरिया को ध्वस्त कर दिया था। इसके अंदर लगभग 700 मकानों को गिरा दिया गया और 3000 से अधिक लोग प्रभावित हुए । ‌‌‌भले ही सरकार और हाई कोर्ट ने रेड लाइट को रोकने के लिए उस जगह को नष्ट कर दिया हो । लेकिन इसका कोई सकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ा कुछ लोग अभी भी वहां पर रहते हैं। लेकिन रोजगार की कमी की वजह से अब वेश्याव्रति अलग अलग

Fames red light area in jaipur rajasthan and price

क्यों नहीं करनी चाहिए अपने से हाई प्रोफाईल लड़की से शादी why do not marriage with high profile girl

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *