गोरिल्ला के बारे में जानकारी Interesting information about the gorilla

 

 

इस लेख के अंदर हम आपको गोरिल्ला के बारे में जानकारी देंगे । यह काफी मजेदार गोरिल्ला की जानकारी है। गोरिल्ला के बारे मे जानने के लिए गोरिल्ला के बारे मे जानकारी लेख पूरा पढ़ें।

गोरिल्ला अफ्रीका के जंगलों में रहते हैं । जीनस गोरिल्ला को दो प्रजातियों के अंदर विभाजित किया गया है। पूर्वी गोरिल्ला और पश्चिमी गोरिल्ला । यह दोनों प्रजातियां भी लुप्त प्राय हैं। गोरिल्ला का डीएनए 95-99% मनुष्य के समान होता है।और चिम्पांजी और बोनोबोस के बाद वे मनुष्यों के लिए निकटतम रहने वाले रिश्तेदार हैं।गोरिल्ला के प्राकृतिक आवास उप-सहारा अफ्रीका में उष्णकटिबंधीय या उपोष्णकटिबंधीय जंगलों ‌‌‌मे रहते हैं। यद्यपि उनकी सीमा अफ्रीका के एक छोटे प्रतिशत को कवर करती है, ‌‌‌गोरिल्ला उंचाई पर भी रहते हैं।। पर्वत गोरिल्ला विरुंगा ज्वालामुखी के अल्बर्टिन रिफ्ट मोंटेन क्लाउड वन में रहता है, जो 2,200-4,300 मीटर ऊंचाई में है।

गोरिल्ला के बारे में जानकारी

“गोरिल्ला” शब्द का प्रयोग 500 ई पूर्व पश्चििमी अफ्रिका के अंदर किया गया । इस शब्द का प्रयोग सिएरा लियोन ने किया था । उसके अभियान के सदस्यों को कई सारी बालो वाली महिलाओं के क्रूर आक्रमण का सामना करना पड़ था ।उनको ही उसने गोरिल्ला कहा था ।

 ‌‌‌

गोरिल्ला के बारे में जानकारी  – गोरिल्ला और उसकी प्रजातियां Gorilla and its species

गोरिल्ला के निकटतम रिश्तेदार अन्य दो होमिनिना जेनेरा, चिम्पांजी और इंसान हैं, वे सभी 7 मिलियन साल पहले एक आम पूर्वजों से अलग हो गए थे।हाल ही में, गोरिल्ला को एक प्रजाति माना जाता था, जिसमें तीन उप-प्रजातियां थीं: पश्चिमी लोलैंड गोरिला, पूर्वी निचला भूमि गोरिला और पर्वत गोरिला। ‌‌‌लेकिन वैज्ञानिक अब यह दावा कर रहे हैं कि गोरिल्ला की दो प्रजातियां थी । और उसकी दो उपजातियां भी थी । हिमयुग के दौरान अनेक गोरिल्ला प्रजातियां विकसित हुई थी । जो अब नष्ट हो चुकी हैं।

‌‌‌

गोरिल्ला के बारे में जानकारी  – गोरिला की संरचना Gorilla structure

गोरिला चलने के लिए भी अपने हाथों का इस्तेमाल करते हैं।2018 में प्रकाशित 77 माउंटेन गोरिल्ला के अध्ययन से पता चला है 61% गोरिल्ला चलने के लिए दो पैरों का भी इस्तेमाल करते थे ।जंगली पुरुष गोरिल्ला का वजन 136 से 1 9 5 किलो होता है, जबकि वयस्क मादाएं आमतौर पर आधे से ज्यादा वयस्क पुरुष 68-113 किलो वजन करती हैं। वयस्क पुरुष 1.4 से 1.8 मीटर लंबा होते हैं पूर्वी गोरिला पश्चिमी गोरिल्ला की तुलना में अधिक गहरा रंग का होता है, पर्वत गोरिल्ला में भी सबसे मोटे बालों वाला होता है। । पश्चिमी निचला गोरिला एक लाल माथे के साथ भूरा या भूरा हो सकता है। पूर्वी गोरिल्ला पश्चिमी गोरिल्ला की तुलना में लंबा चेहरा और व्यापक छाती लिए होता है।

मनुष्यों की तरह, गोरिल्ला में व्यक्तिगत उंगली के प्रिंट होते हैं उनकी आंखों का रंग गहरा भूरा है, जो आईरिस के चारों ओर एक काले अंगूठी के आकार बना होता है।

पश्चिमी गोरिल्ला पश्चिम मध्य अफ्रीका में रहता है, जबकि पूर्वी गोरिला पूर्वी मध्य अफ्रीका में रहता है। पूर्वी गोरिल्ला समुद्र तल से 650 और 4,000 मीटर के बीच मोंटेन और सबमोंट वनों में रहते हैं जबकि पूर्वी लोलैंड गोरिल्ला ऊंचाई सीमा के निचले सिरों पर पनडुब्बी जंगलों में रहते हैं। इसके अलावा, पूर्वी लोलैंड गोरिल्ला मोंटेन बांस के जंगलों में रहते हैं, पश्चिमी गोरिल्ला मोंटेन जंगलों में रहते हैं, और समुद्र स्तर से लेकर 1,600 मीटर तक की ऊंचाई मे रहते हैं। पश्चिमी लोलैंड गोरिल्ला 1,600 मीटर तक के दलदल और निचले इलाके के जंगलों में रहते हैं,

गोरिल्ला के बारे में जानकारी

‌‌‌गोरिला के घोसला Gorilla’s nest

गोरिल्ला के बारे में जानकारी

गोरिल्ला दिन और रात एक करके पेड़ों पर घोसले बनाते हैं। वे शाखाओं को एकत्रित करके घोसले बनाते हैं। पतों का व्यास 1 से 2 फीट का होता है।शूरू आत के अंदर गोरिला जमीन पर ही सोते हैं। जब बच्चे पैदा होते हैं । लेकिन जब बच्चे कुछ बड़े हो जाते हैं तो घोसलों के अंदर रहने लगते हैं

‌‌‌

गोरिल्ला के बारे में जानकारी  –  गोरिल्ला का फूड gorilla food

गोरिल्ला शायद ही कभी पानी पीता है क्योंकि वे रसीला वनस्पति का उपभोग करते हैं जिसमें लगभग आधे पानी के साथ-साथ सुबह के ओस शामिल होते हैं हालांकि पहाड़ और निचले इलाके दोनों गोरिल्ला को पीना देखा गया है।माउंटेन गोरिल्ला ज्यादातर पत्ते, उपजी, पिथ, और शूटिंग जैसे पत्ते खाते हैं, जबकि फल अपने आहार का एक बहुत ही छोटा हिस्सा बनाते हैं पूर्वी लोलैंड गोरिल्ला पतियां खाते हैं। और 25 प्रतिशत फल भी खा लेते हैं। यह भी कीडों को खाता है।

‌‌‌गोरिल्ला के अंदर लव gorilla love

महिलाएं 10 से 12 साल मे और पुरूष 11 से 13 साल के अंदर परिपक्व हो जाते हैं।मादाओं के अंदर एस्ट्रस चक्र 30 से 33 दिन तक रहता है। गर्भधारण अवधि 8.5 महीने तक चलती है। मादा पर्वत गोरिल्ला पहले 10 साल की उम्र में जन्म देती है और चार साल के अंतराल पर गर्भधारण करती है।

‌‌‌जब मादा गोरिल्ला को सेक्स करने की इच्छा होगी तो वह अपने होंठो को स्पर्श करेगी ।और यह नर को बुलाने का संकेत है। उसके बाद भी यदि नर जवाब नहीं देता है तो वह उसके पास पहुंच कर उसको थपड़ भी मार सकती हैं। नर मादा के पास आकर उसे प्रदर्शित करते हुए या उसे छूकर और “ट्रेन ग्रंट” देकर नकल उत्तेजित करते हैं

‌‌‌शीशु की देखभाल मादा गोरिल्ला ही करती है। पुरूष गोरिल्ला शीशु के साथ ज्यादा संपर्क नहीं रखते है। वे उनको सामाजिक बनाने का काम करते हैं। वे बड़े होने के बाद शीशू को आक्रमक होने से बचाते हैं।‌‌‌शीशू पहले 5 महिनों तक अपनी मां के संपर्क मे ही रहते हैं। और दूध चूसते हैं।

‌‌‌5 महिने के बाद शीशू मादाओं से संपर्क तोड़ने लगते हैं। और 30 महिने के बाद वे मादाओं से लगभग पूरी तरह से अलग हो जाते हैं। और अलग घोसले के अंदर सोते हैं।

‌‌‌

गोरिल्ला के बारे में जानकारी –   गोरिल्ला की उम्र life of gorilla

एक गोरिल्ला का जीवनकाल आमतौर पर 35 से 40 साल के बीच होता है, हालांकि चिड़ियाघर गोरिल्ला 50 साल या उससे अधिक समय तक जीवित रह सकता है। कोलंबस चिड़ियाघर और एक्वेरियम में मादा पश्चिमी गोरिला कोलो, 17 जनवरी, 2017 को उनकी मृत्यु के 60 वर्ष की आयु में हुई थी वह सबसे पुरानी गोरिल्ला थी

‌‌‌गोरिला की बुद्विमता gorilla intelligence

गोरिल्ला को एक बुद्विमान प्राणी माना जाता है। गोरिल्ला की इंसानों के जैसी कोई भाषा नहीं होती है। लेकिन उनके अंदर इंसानों के जैसी भावनाएं हो सकती हैं। वे हंस सकते हैं और रो भी सकते हैं। गोरिल्ला की बुद्विमता के प्रमाण भी वैज्ञानिकों को मिले हैं। सितंबर 2005 में वन्यजीव संरक्षण सोसाइटी के थॉमस ब्रेउर की टीम ने कांगो गणराज्य में नौबाले-नाडोकी नेशनल पार्क में एक मादा गोरिल्ला को एक छड़ी का उपयोग करके रिकॉर्ड किया गया था जिसका प्रयोग वह दलदल पार करते समय पानी की गहराई को मापने के लिए कर रही थी

विज्ञान में प्रकाशित एक 2006 के अध्ययन में निष्कर्ष निकाला गया कि मध्य अफ्रीका में ईबोला वायरस के हालिया प्रकोपों में 5,000 से अधिक गोरिल्ला की मृत्यु हो सकती है।, 100,000 से अधिक पश्चिमी निचले गोरिल्ला जंगली में मौजूद हैं जिनमे से 4000 गोरिल्ला चिड़िया घर मे हैं। माउंटेन गोरिल्ला सबसे गंभीर रूप से लुप्तप्राय हैं, अनुमानित आबादी जंगली में लगभग 880 बचे हैं पूर्वी लोलैंड गोरिल्ला में जंगली में 5000 से कम आबादी है

‌‌‌दुनिया की सबसे बूढ़ी गोरिल्ला

‌‌‌दुनिया की सबसे बूढ़ी गोरिल्ला विला का जन्म 1957 में कांगो के अंदर हुआ था ।कैलिफ़ोर्निया के सेन डियागो ज़ू सफारी पार्क के अंदर इस गोरिल्ला की मौत हो गई थी । जब इस गोरिल्ला की मौत हो चुकी थी तो अन्य इसके परिवार के सदस्यों ने इसको घेरा हुआ था ।‌‌‌आमतौर पर गोरिल्ला की औसतन उम्र 35 से 40 साल के बीच होती है। यह गोरिल्ला उम्र से 20 साल तक अधिक जी थी ।‌‌‌इसी तरह की एक और कोल नाम की गोरिल्ला अमेरिका के अंदर चिड़िया घर के अंदर मौत हो चुकी है कि उम्र 60 साल थी ।कोलो 1956 के दिसंबर के अंदर चिड़िया घर मे पैदा हुई थी ।

लुईस गोरिल्ला इंसानों की तरह चलता है

अमेरिका के फिलाडेल्फिया ज़ू के अंदर एक खास किस्म का गोरिल्ला है। जोकि इंसानों की तरह चलता है। इसी वजह से यह आम गोरिल्ला से अलग है। इसका नाम लुईस है। इस गोरिल्ला की इंसानों की तरह चलने की आदत तब विकसित हुई। जबकि वह खुद को हद से ज्यादा साफ सुथरा ‌‌‌रखने की सनक सवार हो गई।

जॉन डैनियल इंसानों के साथ रहने वाला गोरिल्ला

आमतौर पर लोग कुत्ते और बिल्ली पालने का शौक रखते हैं। लेकिन कुछ लोग गोरिल्ला को भी पालते हैं।जॉन डैनियल एक ऐसे ही गोरिल्ला का नाम है। जोकि सब कुछ इंसानों के जैसा करता था ।

जॉन ब्रिटेन में स्थित यूली गांव में बेहद लोकप्रिय था

जॉन गोरिल्ला जब बेहद छोटा था तो उसके माता पिता को फ्रेंच सैनिकों ने मार गिराया । उसके बाद वह एकदम से अकेला हो गया । उसके बाद उसे फ्रांस और इंग्लेंड के चिड़िया घर के अंदर भेजा गया । लेकिन उसे वहां पर रखने के लिए मना कर दिया । कहा कि गोरिल्ला को पालना एक जोखिम भरा काम है। ‌‌‌उसके बाद उसे डेरी एंड टॉम के एक स्टोर पर बेचने के लिए रख दिया । फिर उसे 375 पाउंड के अंदर एक एयर फोर्स के अधिकारी ने खरीद लिया था ।

जॉन डैनियल उस गोरिल्ला का नाम रखा गया । गोरिल्ला आने की वजह से सबसे ज्यादा खुश हुई ऐलिसा । वह गोरिल्ला को बहुत प्यार करती थी । और उसे वो सारी चीजे सीखा रही थी । जोकि एक इंसान कर सकता है। और जॉन भी काफी तेज था । कुछ ही समय मे वह इंसानों की तरह सारे काम सीख गया । ‌‌‌वह अपने कमरे की लाइट बंद करना कपड़े धोना , और ऐसिल के साथ पाटिर्यो के अंदर भी जाता था । ‌‌‌इसके अलावा उसे इंसानों की तरह चाय पीने की आदत भी लग गई। वह गांव के लोगों के साथ ही घूल मिल गया । लेकिन जॉन तेजी से बड़ा हो रहा था । अब वह इतना बड़ा हो चुका था कि उसे घर के अंदर रखना संभव नहीं था तो ऐलिस ने उसे बेचने का फैसला किया ।

‌‌‌उसके बाद उसे अमेरिकी को 1000 पाउंड के अंदर बेच दिया । उस व्यक्ति ने ऐलिसा को भरोसा दिया कि उसे एक घर के अंदर रखा जाएगा । लेकिन वह सब झूठ था । जॉन को न्यूयॉर्क शहर के रिंगलिंग ब्रोस एंड बारलम एंड बेली सर्कस के अंदर रखा गया । वह आवारा घूमने वाला गोरिल्ला अब पींजरे के अंदर कैद हो चुका था।

‌‌‌उसके बाद वह काफी दुखी रहने लगा था और पिंजरे के अंदर ही कुछ दिनो बाद उसकी मौत हो गई।कोड़ामार होली jabab gajab holi in rajasthan

‌‌‌एक इतिहास कार मार्गरेट ग्रूम लेकर आई ने अपनी एक किताब के अंदर जॉन की कहानी का उल्लेख किया है। इसके अलावा उसने कुछ तस्वीरों को भी किताब के अंदर दिया है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *