गर्भ मे पल रहे बच्चे का दिमाग तेज कैसे करें उसका आइक्यू लेवल कैसे बढ़ाएं

हाल ही मे हुए कुछ वैज्ञानिक शोधों ने यह साबित कर दिया है कि गर्भ के अंदर पल रहे बच्चे का आक्यू लेवल यदि उसकी मां चाहे तो बढ़ा सकती है। गर्भावस्था के दौरान मां जो कुछ भी करती है उसका सीधा असर बच्चे के दिमाग पर ‌‌‌ पडता है। यदि इस दौरान कोई महिला गलत चीजों को देखती है और गलत बातों पर सोच विचार करती है तो उसकार असर भी उसके होने वाले बच्चे पर पड़ता है। मुख्य रूप से इस दौरान किसी भी महिला को अच्छा सोचना चाहिए और अच्छी किताबें पढ़नी चाहिए ।

‌‌‌आइए जानते हैं गर्भावस्था के अंदर मां को क्या करना चाहिए जिसे उसके बच्चे का आइक्यू लेवल के अंदर बढ़ोतरी हो सके ।

‌‌‌सही खान पान करें

एक गर्भवती महिला के लिए अच्छी डाइट लेना काफी ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। यदि गर्भवति महिला खाने के अंदर ओमेगा 3 फैटी ऐसिड शामिल करती है तो यह उसके होने वाले बच्चे के लिए फायदे मंद है। इससे बच्चे का मानसिक विकास अच्छा होता है।

‌‌‌बुरी आदतों को बाय बाय कहें

कई महिलाओं को धुम्रपान करने की भी आदत होती है। धुम्रपान करना खास कर गर्भवति महिला के लिए विशेष रूप से हानिकारक है। यदि आप धुम्रपान करती हैं तो इसे छोड़दें क्योंकि इससे बच्चे का मानसिक विकास रूक जाता है।

‌‌‌अच्छी आदते डालें

गर्भावस्था के दौरान एक महिला को अच्छे संगीत सुनने चाहिएं और अच्छी किताबें पढ़नी चाहिए । कुछ रिसर्च यह बताते हैं कि गर्भवति महिला के विचार और उसकी आदते उसके शिशु को प्रभावित करती हैं। यदि महिला के अंदर अच्छी आदते हैं और वह हमेशा अच्छी बातों के बारे मे सोचती है ‌‌‌तो उसके होने वाले बच्चे का आइक्यू लेवल भी तेज होगा ।

‌‌‌तनाव से दूर रहें

यदि आप तनाव के अंदर रहती हैं तो आपके बच्चे के मानसिक विकास के अंदर दिक्कत आ सकती है सो जहां तक हो सके किसी भी बात को इस समय दिल पर नहीं ले और जब दिल पर नहीं लेगी तो तनाव नहीं होगा और जब तनाव नहीं होगा तो

आपके बच्चे का मानसिक विकास अच्छा होगा ।

‌‌‌अपने सामने अच्छे महान लोगों की तस्वीर चिपकाएं

आप अपने बेड़रूम के सामने उनलोगों की तस्वीर चिपका सकती हैं। जिनको आप अपना आदर्श मानती हैं। और सुबह शाम आप उन्हीं तस्वीरों को देखें । ऐसा करने से यह माना जाता है कि बच्चा वैसा ही पैदा होता है।

‌‌‌अपने बच्चे को स्टोरी सुनाएं

भले ही आपको बच्चा आपके पेट के अंदर हो लेकिन उसे बोलकर बात करते रहें । वैज्ञानिकों के अनुसार बच्चा कुछ सप्ताह का होने के बाद से ही समझने लग जाता है। मतलब वह अपनी मां की बातों को महसूस करने लग जाता है। सो आप अपने बच्चे को रोज प्रेरणादाई स्टोरी सुना सकती हैं।

‌‌‌ब्रेन फूड जो बच्चे का दिमाग तेज करने मे मददगार हैं

हम आपको कुछ ऐसे फूड के बारे मे भी बताने जा रहे हैं जो प्रेग्नेंसी के दौरान खाने से बच्चे का दिमाग तेज होता है। आइए जानते हैं उन बे्रन फूड के बारे में ।

1. Fatty Fish

बच्चे के दिमाग का विकास करने के लिए ओमेगा 3 फैट काफी आवश्यक होता है। जोकि मछली के अंदर पाया जाता है। एक प्रेगनेंट हूमेन को हर वीक के अंदर कम से कम दो बार मछली का सेवन आवश्य ही करना चाहिए । यह रिसर्च के अंदर सिद्व हो चुका है कि मछली के सेवन से बच्चे का दिमाग अच्छा विकसित ‌‌‌होता है।

2. Milk

दूध का सेवन करने से बच्चे का दिमागी विकास होता है। हर प्रेगनेंट हूमेन को दूध का सेवन तो रोजाना करना चाहिए । दूध के सेवन करने से बच्चे का physical development और मेंटली development होता है। सो प्रेग्नेंट हूमेन को रोज कम से कम आधा किलो दूध पीना चाहिए।

3. vitamin d

विटामिन डी बच्चे के दिमागी विकास के अंदर काफी महत्वपूर्ण होता है। विटामिन डी का लो लेवल बच्चे के दिमाग को कमजोर बना देता है। इसलिए विटामिन डी का सेवन भी गर्भावस्था के दौरान किया जाना चाहिए । विटामिन डी अंडे के अंदर होता है।

4. Eggs

प्रेगनेंट हूमेन को रोजाना कम से कम दो अंडे का सेवन भी करना चाहिए अंडे के अंदर अमिनो एसिड होता है। जोकि बच्चे कि मैमोरी पॉवर को बढ़ाता है। और ब्रेन का वजन भी अधिक करता है। यदि ब्रेन का वजन कम होता है तो इसका मतलब कम आइक्यू होना है। अंडे का सेवन नियमित करें ।

5. Yogurt

दही के विभिन्न प्रकारों में, ग्रीक दही एक गर्भ में एक बच्चे की मानसिक वृद्धि और विकास के लिए सबसे अधिक पौष्टिक है। इसका कारण यह है कि ग्रीक दही में अन्य प्रकार के दही की तुलना में आयोडीन का उच्च स्तर होता है जो दिमाग के कम वजन को रोकता है।

‌‌‌दही के अंदर प्रोटीन और कैल्शियम जैसे तत्व भी होते हैं जोकि बच्चे की हडियों के अच्छे से विकास के अंदर मदद करते हैं।

6. लौहे युक्त पदार्थ

चिकन, अंजीर, पालक और किशमिश खाने से गर्भावस्था के दौरान खाया जाना चाहिए। यह लौहे युक्त पदार्थ होते हैं जोकि बच्चे के दिमाग तक अच्छे से आक्सिजन पहुंचाने मे मदद करते हैं। यह शिशु को बुद्विमान बनाते हैं।

7. Almonds

गर्भावस्था मे महिलाओं को रोज एक मुठी बादाम खानी चाहिए । यह शिशु के दिमाग के विकास मे मदद करती है। इसके अलावा इसके अंदर विटामिन फाइबर जैसे तत्व भी पाए जाते हैं जो शिशु के शरीर के विकास मे भी मदद करता है।

8.कद्दू के बीज

जस्ता का एक प्राकृतिक भोजन स्रोत, कद्दू के बीज बच्चे के मस्तिष्क की संरचना के निर्माण में मदद करते हैं

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *