गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने के फायदे और नुकसान

गर्भावस्था के अंदर महिलाओं को अनेक चीजे खाने का मन करता है। नई नई चीजों का शौक बढ़ जाता है। हमारे एक रिडर ने हम को मेल कर पूछा कि सर बताइए गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने के फायदे क्या हैं। आज के लेख मे हम आपको गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने ‌‌‌के फायदों के बारे मे बात करने वाले हैं।‌‌‌बहुत सी महिलाओं को यह पता नहीं होता है कि गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने से नुकसान होता है। और कुछ महिलाओं को यह पता होता है। की गर्भवस्था के दौरान बेटल या सुपारी खाने से क्या क्या नुकसान होते हैं। लेकिन उसके बाद भी वे सुपारी खाती हैं।गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने के फायदे

‌‌‌इसके अलावा कुछ लोग गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने की सलाह भी देते हैं। हालांकि उनका कहना सही होता है। सुपारी के अपने फायदे भी हैं। लेकिन यदि आप गर्भावस्था के दौरान सुपारी खा रहे हैं तो आपको सावधान हो जाने की आवश्यकता है। क्योंकि गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने के नुकसान होते हैं।

Table of Contents

‌‌‌गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने के नुकसान

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट से पता चलता है कि गर्भावस्था के दौरान बेटेल पत्तियों के साथ चबाने  से कैंसर का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है।इंटरनेशनल जर्नल ऑफ़ मेडिसिन एंड पब्लिक हेल्थ के मुताबिक, बांग्लादेश के ग्रामीण इलाकों में महिलाएं नियमित रूप से बेल्ट अखरोट और बेटेल के पत्ते का उपभोग करती हैं और इसलिए फोलेट की कमी से पीड़ित होती हैं। गर्भावस्था के दौरान ऐसी कमी से कई प्रकार की समस्याएं जैसे  न्यूरल ट्यूब दोष, प्रीटरम जन्म, कम जन्म वजन, तंत्रिका तंत्र में दोष, और मंद विकास भी हो सकता है

गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने के कुछ फायदे

‌‌‌आमतौर पर आपने देखा होगा की गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाएं सुपारी का सेवन करती हैं। वे इस दौरान सुपारी को कुछ फायदों से जोड़कर देखती हैं। जिनके संबंध मे वैज्ञानिकों की विरोधा भाषी राय है। कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने से भूख बढ़ जाती है। हो सकता है यह बात ‌‌‌सही भी हो लेकिन आप भूख बढ़ाने के दूसरे तरीकों का प्रयोग भी कर सकते हैं। इसके अलावा गर्भावस्था के अंदर सुपारी खाने से ऐसा माना जाता है कि मां का दूध अधिक होता है। लेकिन इस संबंध मे कोई प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं। हो लेकिन अभी भी इसमे संदेह है। इसके अलावा  गर्भावस्था के दौरान सुपारी खाने का ‌‌‌कोई फायदा नहीं है।

‌‌‌क्या है सुपारी ?

सुपारी बीटल नट एक प्रकार का पौधा होता है। जिससे यह बनती है। यह दुनिया के लाखों लोगों के द्वारा चबाया जाता है। कुछ लोग इसको पान के साथ चबाते हैं तो कुछ लोग मीठी सुपारी खाते हैं। कुछ लोग इसका प्रयोग खुद बनाकर करते हैं। और वैसे यह बाजार के अंदर भी आसानी से मिल जाती है। ‌‌‌वैसे सुपारी खाने से दांतों के अंदर के कई रोग दूर हो जाते हैं। जिसमे से मसूडों का सूजन दांतों के अंदर कीडे ।

यह मुंह के बैक्टीरिया को भी मारता है। और मसरूडों को ईलाज करने मे भी सहायक है। सुपारी के कुछ फायदे हैं तो इसके कुछ नुकसान भी हैं।‌‌‌इसके अतिरिक्त यदि सुपारी के फायदों की बात करें तो यह मासिक धर्म मे फायदे मंद है। और इसका प्रयोग अपच को कम करने के लिए भी किया जा सकता है। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि सुपारी के अंदर अनेक औषधिए गुण होते हैं।

आज, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का अनुमान है कि लगभग 60 मिलियन लोग कुछ प्रकार के बेल्ट अखरोट का उपयोग करते हैं। निकोटीन, अल्कोहल और कैफीन के बाद चौथे स्थान पर यह दुनिया के सबसे लोकप्रिय मनोचिकित्सक पदार्थों में से एक है। लेकिन जबकि कई देशों में बेटेल अखरोट एक महत्वपूर्ण सांस्कृतिक और सामाजिक परंपरा है।

‌‌‌सुपारी खाने के फायदे

यदि आप भी सुपारी खाने के शौकीन हैं तो आपको बता दें कि यदि सुपारी के नुकसान और फायदों की तुलना करें तो सुपारी खाने के फायदे वाला पलड़ा आपको भारी नजर आएगा । तो आइए जान लेते हैं। सुपारी खाने के फायदों के बारे मे भी ।

‌‌‌सुपारी खाने के फायदे स्ट्रोक मे

वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार यदि आपको स्ट्रोक जैसी समस्या है तो आपके लिए सुपारी फायदे मंद होती है। इसके अलावा यह आपको स्ट्रोक जैसी बिमारी से लड़ने की ताकत देती है। यह मांसपेशियों को उर्जा देने का काम करती है।

‌‌‌सुपारी खाने के फायदे स्किजोफ्रेनिया को भगाती है।

schizophrenia एक विशेष प्रकार की मानसिक बिमारी होती है। जिसमे रोगी के दिमाग को क्षति पहुंचती है। वैज्ञानिक रिसर्च के अंदर schizophrenia पर सुपारी के प्रभावों को देखने के लिए रोगियों को कुछ दिनों तक सुपारी खिलाई गई। उसके बाद वैज्ञानिको ‌‌‌ने पाया कि रोगियों के अंदर पहले से काफी सुधार था । वैज्ञानिकों ने यह रिसर्च तब किया जब वे इस रोग के लिए नई दवाओं का विकल्प तलास रहे थे ।

‌‌‌सुपारी के फायदे अधिक लार का उत्पादन

जब हम सुपारी खाते हैं तो हमारे मुंह के अंदर काफी ज्यादा मात्रा के अंदर लार पैदा होती है। जो लोग मुंह के बार बार सुखने की समस्या से परेशान हैं उनके लिए सुपारी भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। इसके अलावा अधिक लार का उत्पादन होने का एक फायदा यह भी मिलता ‌‌‌है कि यह भोजन के पाचन मे काफी फायदे मंद होती है।

कैविटी को रोकने मे सुपारी का प्रयोग

आमतौर पर हम कैविटी को रोकने के लिए कोलगेट वैगरह का यूज करते हैं। लेकिन कोलगेट से आपके दांत सही मायने मे काफी कमजोर हो जाते हैं। सुपारी के अंदर कई प्रकार के एंटीबैक्टीरिया गुण होते हैं। यदि आप सुपारी खाते हैं। तो आपके दांतों मे कैविटी होने की संभावना कम हो ‌‌‌जाएगी।

‌‌‌सुपारी के फायदे एनिमिया को दूर करने मे

जब किसी व्यक्ति को एनिमिया हो जाता है तो डॉक्टर उसे लौहे युक्त पर्दाथ अधिक खाने की सलाह देता हैं। आपको बतादें की सुपारी भी लौहे का एक स्त्रोत होती है। जो व्यक्ति सुपारी का सेवन करते रहते हैं। उनके अंदर एनिमिया होने की संभावना कम रहती है।

‌‌‌बांझपन के ईलाज मे सुपारी का प्रयोग

आमतौर पर पुरूषों मे तेजी से स्ख्लन की समस्या आम होती जा रही है। और धीरे धीरे ऐसा होते हुए पुरूष बांझपन का शिकार होते जा रहे हैं। यह केवल भारत की ही नहीं वरन पूरे विश्व की समस्या है। सुपारी खाने से सख्लन की समस्या से छूटकारा मिलता है।

‌‌‌सुपारी खाने के फायदे दस्त रोग मे

दस्त की स्थिति तब होती है। जब आंत के द्वारा किसी गड़बड़ी के वजह से भोजन पचाया नहीं जाता है। और ऐसी स्थिति के अंदर पेट आवाज भी कर सकता है। दस्त लगने से शरीर के अंदर पानी की कमी आ जाती है। सुपारी कम मात्रा मे खाने से दस्त की समस्या दूर होती है।

‌‌‌सुपारी के फायदे होंठ के लिए

सुपारी के पेड़ की जड़ का प्रयोग भी होंठों के उपचार के अंदर किया जाता है। यदि आपके होंठ फटे हैं तो सुपारी की जड़ को पीस कर अपने होंठों पर लगाने से फटे हुए होंठ ठीक हो जाते हैं।

‌‌‌सुपारी के फायदे पीठ दर्द के उपचार में

आजकल अधिकतर लोगों को पीठ दर्द की समस्या रहती है। इसके लिए वे कई तरह का उपचार भी करते हैं। लेकिन उनसे कोई फायदा नहीं होता है। सुपारी भी पीठ दर्द के उपचार मे फायदे मंद है।सुपारी के पौधे की पतियों का रस निकाल कर उसे तेल मे मिलाकर निरंतर सुबह शाम लगाने से ‌‌‌पीठ दर्द की समस्या से छूटकारा मिल जाता है।

‌‌‌पेट के कीड़े मारने मे उपयोगी

जिन लोगों को पेट के कीड़ों ने परेशान कर रखा है। उनको सुपारी का सेवन करना चाहिए । यह पेट के कीड़ों को मारने मे काफी उपयोगी होती है। सुपारी को दही के साथ मिलाकर सेवन करने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

‌‌‌मन की एकाग्रता बढ़ाने मे सुपारी का प्रयोग

एक रिसर्च के अंदर यह बात सामने आई है कि रात के अंदर सुपारी का सेवन करने से मन की एकाग्रता बढ़ जाती है। खासकर रात के अंदर काम करने वाले व्यक्तियों की सर्तकता पैदा करने के लिए सुपारी का प्रयोग किया जासकता है।

‌‌‌मसूड़ों के अंदर सूजने के ईलाज मे

यदि आपको मसूड़ों के अंदर सूजन रहने की शिकायत रहती है तो सुपारी आपके लिए फायदे मंद हो सकती है। सुपारी मसूड़ों के अंदर सूजन का ईलाज करने की  एक अच्छी दवा है। सुपारी के पाउडर को 2 चम्मच घी के अंदर भूनने के बाद इसमे अजवाइन सैंधा नमक और कत्था मिलाकर सूजन वाले ‌‌‌स्थान पर लगाएं । जिससे सूजन की समस्या दूर हो जाएगी ।

‌‌‌सुपारी के फायदे पाचन करने मे

सुपारी के अंदर ईलाइची खस खस और कपूर को मिलाकर एक मिक्ष्रण बना लें उस मिस्त्रण को खाने के बाद प्रयोग करें । यह भोजन के पचाने मे काफी मददगार होता है। इसके अलावा यह संतुष्टि को भी बढ़ाता है।

‌‌‌सुपारी का प्रयोग कब्ज को ठीक करने मे

 

यदि आपको हमेशा कब्ज की शिकायत रहती है । तो आप सुपारी का सेवन कर सकते हैं। सुपारी के पौधें की नर्म पतियों के अंदर रस निकाल लें । उसके बाद उसे शाम को पिये । ऐसा करने से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है। सुपारी के पतो के अंदर लैक्सेटिव होता है।

‌‌‌सुपारी के फायदे पेशाब की समस्या को दूर करने मे

बेटल नट के पत्तों का रस निकालकर उसे शक्कर और दूध के साथ नियमित सेवन करें । ऐसा करने से यदि आपको किसी भी प्रकार की पेशाब संबंधित समस्या होगी तो वह दूर हो जाएगी ।

‌‌‌दांतों का पिलापन दूर करने के लिए

यदि आपके दांत पीले हो चुके हैं। और आप उनका पीलापन दूर करना चाहते हैं तो आप सूपारी का प्रयोग कर सकते हैं। सुपारी के पाउडर से दांतों की सफाई नियमित करें । ऐसा करने से दांतों का पीलापन दूर हो जाएगा और आपके दांत सफेद हो जाएंगे।

‌‌‌मांशपेशिय ताकत बढ़ाने मे सुपारी का प्रयोग

जिन लोगों को दिल का दौरा पड़ता है। उनकी आवाज कमजोर होती है। और उनकी मांशपेशिय ताकत भी काफी कमजोर होती है। यदि वे अपनी मांसपेशिय ताकत को बढ़ाना चाहें तो सुपारी का सेवन कर सकते हैं। और जिससे उनकी आवाज के अंदर भी सुधार होगा ।

‌‌‌सुपारी के फायदे महिलाओं के लिए

आमतौर पर कई महिलाएं  ल्यूकोरेरिया से पीड़ित होती हैं। यह हार्मोन असंतुलन की वजह से होता है। सुपारी खाने से शरीर के अंदर हार्मोन का संतुलन बनता है। इसके अलावा मासिक धर्म के पहले सुपारी खाने से शरीर के अंदर ऐंठन मे कमी आती है।

‌‌‌दाद खुजली के अंदर सुपारी का प्रयोग

यदि आपको दाद वैगरह की समस्या है तो आप सुपारी का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए कच्ची सुपारी को मिटटी के तेल के अंदर घोटकर दाद पर लगाने से दाद दूर हो जाते हैं।

‌‌‌घाव के उपचार मे सुपारी का प्रयोग

कई बार कहीं लगने पर शरीर के अंदर घाव पैदा हो जाता है। सुपारी का प्रयोग घाव के उपचार के अंदर भी किया जाता है। सुपारी की भस्म को के तेल में मिलाकर घाव पर लगाने से घाव ठीक हो जाता है।

‌‌‌ब्लडप्रेसर मे सुपारी का प्रयोग

वैज्ञानिकों के अनुसार सुपारी की मदद से ब्लडप्रेसर को कम किया जा सकता है। सुपारी के अंदर टैनीन नामक तत्व होता है। जोकि बल्ड प्रेशर को कम करने मे काफी मददगार होता है।

‌‌‌विषैले पर्दाथों को शरीर से बाहर निकालना

सुपारी के अंदर एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। जोकि हमारे शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने मे काफी मददगार होते हैं। जिसका फायदा यह होता है कि सुपारी हमारे शरीर को स्वस्थ रखने का काम करती है।

‌‌‌कई प्रकार के तत्व

सुपारी के अंदर कई प्रकार के उपयोगी तत्व भी मौजूद होते हैं। जैसे टैनिन, गैलिक एसिड, लिगनिन, एरिकोलिन और एरीकेन इसके अलावा प्रोटीन वसा काब्रोहाइड्रेड आदि भी सुपारी के अंदर मौजूद होते हैं। इस वजह से सुपारी का सेवन किया जाना चाहिए।

‌‌‌सुपारी खाने के नुकसान

वैसे हर एक चीज का प्रयोग लिमिट के अंदर ही करना चाहिए । यदि सुपारी का प्रयोग आप एक औषधी के रूप मे करते हैं तो यह आपके लिए फायदे मंद होती है। लेकिन यदि आप इसका प्रयोग गुटके के साथ करते हैं तो यह आपको नुकसान ही पहुंचाएगी । ‌‌‌अखरोट सुपारी के प्रयोग का एक लंबा इतिहास रहा है।

लग भग यही कोई 2000 साल पुराना । हालांकि कई संस्कृतियों का दावा था कि इसके प्रयोग से लाभ भी मिलते हैं। हालांकि, आधुनिक शोध अभ्यास से जुड़े कई स्वास्थ्य जोखिम दिखाता है। बेल्ट अखरोट की नियमित चबाने को मुंह और एसोफैगस, मौखिक सूक्ष्म फाइब्रोसिस, और दांत क्षय के कैंसर से जोड़ा गया है। डब्ल्यूएचओ ने कैंसरजन के रूप में बेल्ट अखरोट को वर्गीकृत किया है ‌‌‌और इसके प्रयोग को कम करने के लिए अमेरिका ने एफडीए और सीडीसी ने अखरोट या सुपारी चबाने के संबंध मे अलर्ट जारी किये हैं।

आइए जान लेते हैं। सुपारी खाने के नुकसान के बारे में।

 

‌सुपारी के नुकसान ‌‌मुंह के कैंसर का खतरा

South East Asia Journal of Cancer के अनुसार सुपारी खाने से मुंह के कैंसर होने का बहुत अधिक खतरा बढ़ जाता है।  और इस तरह के मामले भी बहुत देखने को मिल रहे हैं। जो लोग सुपारी का प्रयोग गुटका आदि के साथ करते हैं। उनके अंदर कैंसर होने की संभावना अधिक होती है।

‌‌‌सुपारी के नुकसान कई cardiovascular disease

American Society for Clinical Nutrition के अनुसार सुपारी का रोजाना सेवन करने से कई प्रकार के रोग हो जाते हैं। जैसे cardiovascular disease,metabolic syndrome, and obesity

‌‌‌ ‌‌‌लत जाने की समस्या

आम तौर पर आपने देखा होगा कि जो लोग सुपारी एक बार खाने लग जाते हैं। उनको बाद मे सुपारी की लत लग जाती है। और वे उसको बिना खाए बिना रह नहीं सकते हैं। यह भी सुपारी के साथ एक गम्भीर समस्या है।

‌‌‌गर्भवति महिलाओं के लिए नुकसानदायक

सुपारी खाने का नुकसान एक यह भी है कि यदि कोई गर्भवति महिला सुपारी खाती है। तो उसके साथ कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं। जैसे उसके बच्चे को कैंसर हो सकता है। और उनके अंदर फोलेट की कमी और न्यूरोल टयूब दोष भी हो सकता है।

नवजात शिशुओं में कम जन्म वजन

यदि गर्भवति महिला सुपारी का सेवन करती है। तो वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार उसके पैदा होने वाले बच्चे के अंदर कम वजन की समस्या होती है। इस बात को कई वैज्ञानिक रिसर्च के अंदर प्रमाणित किया जा सकता है।

पायरिया होने की संभावना

कुछ वैज्ञानिक रिसर्च यह भी कहते हैं कि एक लिमिट से ज्यादा मात्रा के अंदर यदि आप सुपारी खाते हैं तो आपको पारिया हो सकता है। इससे आपके दूध के दांत तो खराब होते ही हैं। इसके अलावा नोर्मल दांत भी पीले हो सकते हैं।

शादी के बाद महिलाएं सिंदूर क्यों लगाती हैं। सिंदूर लगाने के फायदे

रक्तदान के फायदे और नुकसान Advantages and disadvantages of blood donation

दुनिया भर में स्वास्थ्य संगठन और सरकारें अखरोट जोखिमों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कदम उठा रही हैं। ताइवान ने सालाना “बेटेल न्यूट प्रिवेंशन डे” घोषित कर दिया है।

ताइपे में अधिकारियों ने सुपारी को हर जगह पर थूकने पर प्रतिबंध लगादिया । 2012 में, डब्ल्यूएचओ ने पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में अखरोट के उपयोग को कम करने के लिए डिज़ाइन की गई एक एक्शन प्लान जारी किया था । कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है। दुनिया के अंदर सुपारी के प्रयोग को कम करने के लिए सरकारे ‌‌‌कदम उठा रही हैं।

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *