इंसानी दिमाग की 5 रहस्यमय ताकतें

आज विज्ञान ने काफी प्रगति करली है। और वैज्ञानिकों ने ऐसे रोबोट भी बना लिए हैं जोकि इंसानों को भी मात दे रह हैं। यानि वे रोबोट इंसान के सारे काम कर सकते हैं। इतना ही नहीं । वे कामों को बेहतर ढंग से भी कर रहे हैं। और वे इंसानी दिमाग की तुलना मे ज्यादा ‌‌‌चीजों को याद रख पाते हैं। तो सवाल उठना लाजमी है कि क्या आने वाले समय के अंदर इंसानों पर रोबोट का राज हो जाएगा । या कुछ और होगा । लेकिन इस लेख के अंदर हम आपको इंसानों के दिमाग की कुछ ऐसी ताकतों के बारे मे बताने वाले हैं जिन को समझने मे अभी भी विज्ञान बहुत पीछे है।

इंसानी दिमाग की 5 रहस्यमय ताकतें

‌‌‌कहा जाता है कि इंसान अपने दिमाग को पूरी तरह से जाग्रत करले तो कोई रोबोट उसके आगे टिक नहीं सकता । यानि इंसानी दिमाग बहुत पावर फुल है। लेकिन वैसे देखा जाए तो समय के साथ इंसानी दिमाग का यूज बढ़ रहा है। मतलब इंसान समय के साथ अपने दिमाग को अधिक प्रयोग मे लेना शूरू कर चुका है।

‌‌‌1.दूर बैठे व्यक्ति से संपर्क

इंसानी दिमाग के पास ऐसी ताकत भी मौजूद है जोकि दूर बैठे व्यक्ति से संपर्क करा सकती है। यानि यदि इंसानी दिमाग की इस ताकत को जाग्रत किया जा सके तो दो व्यक्ति जोकि दूर बैठे हैं। आपस मे मन ही मन बात कर सकते हैं। लेकिन अफसोस की यह बात है कि आज तक यह पता नहीं ‌‌‌चल सका है कि दिमाग की इस ताकत को कैसे जाग्रत किया जाए । लेकिन प्राचीन धर्मग्रंथों के अंदर देखें तो पता चलता है कि प्राचीन साधु इस ताकत का प्रयोग करके दूसरे लोगों से संपर्क स्थापित करते थे ।

‌‌‌यदि इंसान की इस ताकत को इंसान जाग्रत कर लेते हैं तो वे इस बढ़ती हुई technology को मात दे सकते हैं। वरना धीरे धीरे इंसानों का वर्चस्व रोबोट खत्म करने लग जाएंगे ।

‌‌‌2.दूर जगह पर क्या हो रहा है देखने की ताकत

इंसानी दिमाग के पास ऐसी ताकत भी मौजूद है कि वह यह भी देख सकता है कि दूर जगह पर क्या हो रहा है। वह अपनी दिमाग की ताकत को जाग्रत कर ऐसा कर सकता है। इस विधि का प्रयोग आज भी कुछ तांत्रिक करते हैं। जिनका proof मे खुद कर चुका हूं । यह लोग बता देते हैं कि ‌‌‌आपके घर मे अब क्या हो रहा है। इन लोगों के पास ऐसी ताकत मौजूद है जिसकी मदद से यह लोग रियल टाईम स्टेटस देख सकते हैं। लेकिन विज्ञान के पास इस का कोई उतर नहीं है। इस मामले मे भी विज्ञान बहुत अधिक पीछे है। इस बारे मे आप भी जानते होगे । यदि आप तंत्र मंत्र पर विश्वास करते हैं तो आपको कोई प्रुव ‌‌‌देने की कोई आवश्कता नहीं है।

‌‌‌हो सकता है कुछ लोग इन ताकतों पर विश्वास ना करें वरन उनका मानना हो कि यह काली ताकते होती हैं। जो इंसान को सब कुछ बताती हैं। लेकिन सच्चाई चाहे जोभी हो लेकिन यह भी इंसानी दिमाग का खेल होता है।

 

‌‌‌3.भविष्य देखने की ताकत

इस ताकत के बारे मे तो आप बखूबी जानते ही होंगे कि इंसान के दिमाग के अंदर भविष्य देखने की ताकत होती है। जबकि विज्ञान इंसानी दिमाग की इस ताकत को मात्र झूठ बताती है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि यह झूठ है। इसमे बहुत हद तक सच्चाई है। क्योंकि झूठ सदियों तक नहीं चल सकता ‌‌‌आपने पढ़ा होगा की कंस को एक ज्योतिषी ने पहले ही बता दिया था कि देवकी की कोख से उसके काल का जन्म होगा । और इसलिए कंस ने देवकी को नजरबंद कर रखा था । और अंत मे भविष्यवाणी सच साबित हुई और क्रष्ण ने कंस का वध कर दिया । यह बहुत पुरानी बात जरूर है लेकिन आज भी कुछ ऐसे ज्योतिषी मौजूद हैं जोकिdimag ke taakt

‌‌‌भविष्यवाणी करने की क्षमता रखते हैं। हां यह बात अलग है कि अब ऐसे ज्योतिषियों की संख्या ना के बराबर है।

‌‌‌4. भूतकाल देखने की ताकत

किसी इंसान ने भूत काल के अंदर क्या किया था । और उसके बारे मे पूरा ब्योरा कुछ लोग बता देने की ताकत भी रखते हैं। यदि आप ज्योतिष के अंदर विश्वास करते हैं तो आपको इस ताकत के बारे मे पता ही होगा ।

कई बार आप ऐसे लोंगो से मिले भी होंगे जोकि आपको जानते तक नहीं फिर भी वे ‌‌‌आपके बारे मे ऐसे बता देते हैं। जैसे वे आपको वर्षों से जानते हो । लेकिन ऐसे व्यक्ति भी बहुत ही कम होते हैं। लेकिन जो लोग विज्ञान पर विश्वास करते हैं। और नास्तिक हैं। वो ऐसी किसी ताकत को नहीं मानते । लेकिन मेरा कहना इतना ही है कि दुनिया के अंदर कुछ भी हो सकता है। अपनी कल्पना को बड़ा ‌‌‌रखो।

‌‌‌5. कुछ भी हाशिल कर लेने की ताकत

वैसे देखा जाए तो इंसानी दिमाग के पास अनन्त ताकते होती हैं। यानि वह अपने दिमाग से कुछ भी हाशिल कर सकता है। प्राचीन समय मे लोग इच्छा म्रत्यु का वरदान पाते थे । और कई साधु तो वरदान पाकर ढेरों ताकते हाशिल कर लेते थे । यह सब क्या था । यकीनन यह सब इंसान के दिमागी ‌‌‌ताकत का ही कमाल था ।

और आज भी इंसान ऐसा कर सकता है। लेकिन आज का इंसान पहले की तरह साधुओं की भांति तपस्या नहीं कर सकता । तो मेरे दोस्तों इंसानी दिमाग के पास जो ताकते हैं वो अनन्त हैं। यानि उनकी कोई सीमा नहीं है। यदि इंसान के दिमाग की सारी ताकते जाग्रत कर दी जाएं तो इंसान और भगवान मे ‌‌‌कोई फर्क नहीं होगा । ‌‌‌एक रोबोट के पास इंसानी दिमाग के जितना पावर कभी नहीं हो सकता । भले ही रोबोट इंसानों के मामले मे कुछ स्थितियों के अंदर बेहतर है। लेकिन वह इंसानी दिमाग का मुकाबला नहीं कर सकता ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *