अपने ATM card की safety कैसे करें ATM फ्राड होने से कैसे बचे atm safety tips in hindi

दोस्तों आप ATm card के बारे मे जानते ही होंगे । दरसअल ATm card का प्रयोग हम कैसे निकालने के लिए करते हैं। आजकल हर व्यक्ति ATm card का प्रयोग कर रहा है। ATm card के कई फायदे हैं वहीं इसके कई नुकसान भी हैं। कुछ शातिर ‌‌‌किस्म के लोग अन्य लोगों को धोखा देकर उनके पैसे लूट रहे हैं। इस लेख के अंदर हम आपको कुछ ऐसे सेफटी टिप के बारे मे बताने वाले हैं। जिनकी मदद से आप अपने साथ ATm फ्राड होने से बचा सकते हैं। तो चलो दोस्तों जानते हैं कि वो फ्राड क्या हैं?

Only use ATMs बिजी ऐरिया

‌‌‌ऐसी जगह पर किसी एटिएम का यूज नहीं करें ।जहां सुनसान इलाका हो । ऐसे एटिएम चोरों के जल्दी निसाने बन जाते हैं। ऐसी जगह पर स्थिति एटिएम से ही पैसे निकाले जोकि बिजी रहता हो । या सोसाइटी बाजार वैगरह के अंदर हो । और वहां पर बहुत से लोग आते जाते हों ।

Chack ATm Slot

‌‌‌आम तौर पर क्या होता है कि जब भी हम पैसे निकालने के लिए जाते हैं तो किसी चीज को चेक नहीं करते हैं और सिधा अपना card atm slot के अंदर डाल देते हैं। जोकि गलत है। कई बार ऐसा करने से आपके डेटा चोरी हो सकते हैं। क्योंकि चोर वहां पर नकली एक डिवाइस लगाते हैं जो डेटा चोरी कर लेती है।

Check cctv camera on keypad

‌‌‌कई बार क्या होता है कि चोर एटिएम के कीपेड के उपर एक कैमरा लगा देते हैं। और जब आप कीपेड पर अपने पासवर्ड टाइप करते हैं तो वे कैमरे के अंदर रिकार्ड हो जाते हैं। औश्र चोर आसानी से आपके पैसे चोरी कर लेता है। सो आपको किसी भी एटिएम से पैसे निकालने से पहले यह ध्यान रखना चाहिए कि कीपेड के उपर ‌‌‌कैमरा तो नहीं लगा है?

credit-card-safety tip

‌‌‌कैस निकालने के बाद cancel बटन अवश्य दबाएं

कई बार हम जल्दी के अंदर होते हैं और ऐसी स्थिति के अंदर कैस निकालने के बाद cancel बटन दबाना भी भूल जाते हैं। ऐसी स्थिति के अंदर आपके खाते से पैसा चोरी होने का खतरा बढ़ जाता है। सो इस बात का पूरा ध्यान रखें ।

‌‌‌किसी अनजान से help ना लें

अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोगों के पास ATM तो होता है। लेकिन उनको पैसा निकालना नहीं आता है। ऐसी दसा के अंदर वे किसी अनजान व्यक्ति की मदद लेते हैं। जोकि उनको भारी पड़सकती है । यदि आप भी ऐसा करते हैं तो आप अपनी गाढ़ी कमाई को खो सकते हैं। सो ऐसा कतई नहीं करें।

alcohol लेकर कैस कभी ना निकालें

यदि आप दारू या शराब पीते हैं । और नशा करके आप कोई बड़ी रकम ATM से निकालते हैं तो आपको इसमे लूट का ज्यादा खतरा रहता है। क्योंकि अधिक नशे की स्थिति के अंदर यह ध्यान नहीं रह पाता है कि कोई हमको ट्रेक कर रहा है। खास कर बड़ी रकम आप ले जा रहे हैं तो आपको ‌‌‌सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

Check your bank statements

‌‌‌कई बार हम हमारे बैंक स्टेटमेंट को चेक नहीं करते हैं। कुछ लोग तो होते हैं जो लम्बें समय तक अपनी पासबुक के अंदर इंटरी तक नहीं कराते हैं। ऐसा आपको नहीं करना चाहिए । आप एक सप्ताह के अंदर एक बार अपनी पासबुक के अंदर इंटरी अवश्य कराएं । जिससे आपको पता चलता रहेगा कि आपके खाते के अंदर क्या हुआ है?

‌‌‌किसी को भी अपना ATM pin नहीं बताएं

 

इंडिया के अंदर फ्राड कॉल का चर्सा काफी जोरों पर चल रहा है। यदि आपके पास ऐसा कोई फोन आता है जोकि कहता है कि हम बैंक से बोल रहें हैं आपको अपने कार्ड के बारे मे बताना होगा । जैसे उसके नम्बर और पिन वैगरह । कई लोगों को इस तरह की जानकारी पूछ कर यह लोग लूट ‌‌‌चुके हैं। तो आपको हम बतादें कि बैंक किसी को उसकी गोपनिए जानकारी मांगने के लिए कॉल नहीं करती है।

‌‌‌अपनी ATm pin को कहीं पर भी ना लिखें

कुछ लोग अपनी ATM pin को कहीं पर लिखकर रखते है। कुछ लोग कार्ड के पीछे भी एटिएम पिन लिख लेते हैं। जोकि बिल्कुल गलत है। सही यही होगा कि आप अपने चार अंको की एटिएम पिन को याद रखलें । और ATM pin के लेटर को सेफ जगह पर रखें ।

Ccv number ‌‌‌को मिटादें

आपने देखा होगा कि कार्ड के पीछे तीन अंको का CCV नम्बर होता है। यह तीन अंकों का नम्बर ऑनलाइन ट्रांजेक्सन करने के लिए काम आता है। लेकिन बहुत से लोगों को इस बारे मे पता नहीं होता है। कई लोगों के एटिएम कार्ड के पीछे यह नम्बर वैसे ही लिखे होते हैं। इनको मिटाना काफी अच्छा ‌‌‌रहता है।

‌‌‌स्वीप मशीन का प्रयोग ना करें

स्वीप मसीन जिसको मिनी एटिएम भी कहा जाता है। यदि आप इस मिनी एटिएम का प्रयोग करते हैं तो आपके कार्ड के डेटा चोरी होने का खतरा रहता है। इसलिए जहां तक हो सके आपको पोस मसीन या मिनी एटिएम का प्रयोग नहीं करना चाहिए ।

‌‌‌पैसा निकालने मे सावधानी बरतें

कई बार चोर कैंसल बटन को फैबीक्यूक से चिपका देते हैं और वे आपके पीछे लग जाते हैं। जब आप पैसे निकालकर चले जाते हैं तो चोर आपके ही अकाउंट से बाकी बची सारी राशी निकाल लेते हैं। इसलिए एटिएम छोड़ने से पहले यह तय करलें कि कैंसल बटन सही से काम कर रहा है?

‌‌‌हमने आपको एटिएम फ्राड होने से बचने के उपर जो उपाय बताएं हैं यदि आप उनको अच्छे से फोलो करते हैं तो आपके साथ कोई धोखा नहीं होगा । वैसे देखा जाए तो लोगों को यह पता होने के बाद कि बैंक किसी से पिन और एटिएम नम्बर नहीं मांगता फिर भी फ्राड कॉल पर विश्वास कर लेते हैं व चोरों को अपनी कार्ड detail ‌‌‌बतादेते हैं। बाद मे अपने पैसे चोरी होने की शिकायत करते हैं। यदि भारत के अंदर एटिएम फ्राड की बात करें तो अधिकतर एटिएम फ्राड फ्राड कॉल से होते हैं।

India Forensic के अनुसार सन 2014 के अंदर 37000 केस एटिएम फ्राड के सामने आ चुके हैं। यदि अब की बात करें तो इनकी संख्या के अंदर काफी अधिक बढ़ोतरी हो चुकी है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *