भारत के सबसे भूतिया रेलवे स्टेशन india most haunted rawaliya station

इस लेख के अंदर हम बात करेंगे भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन के बारे में । वैसे तो भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन कई सारे हैं। लेकिन हम उन भूतिया रेलवे स्टेशन के बारे मे आपको बताने जा रहे हैं। जहां पर भूतों का बहुत अधिक खौफ है। और लोग दिन के अंदर जाने से भी बहुत अधिक डरते ‌‌‌हैं। रात के अंदर जाना तो वहां पर बहुत अधिक दूर की बात है। यहां तक की भूतों ने रेलवे कर्मचारियों के भी पसीने करा रखें हैं। यकीन मानिए भारत के सबसे भूतिया रेलवे स्टेशन

के बारे मे जानकर आपको निश्चित ही मजा आने वाला है।

  • भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन-  बेगुनकोडोर रेलवे स्टेशन, पश्चिम बंगाल
  • भारत के भूतिया रेलवे स्टेशनबरोग स्टेशन शिमला
  • ‌‌‌ रवींद्र सरोबर मेट्रो स्टेशन , कोलकाता
  • एमजी रोड मेट्रो स्टेशन , गुड़गांव
  • भारत के भूतिया रेलवे स्टेशनभारत के भूतिया रेलवे स्टेशनद्वारका सेक्टर 9 मेट्रो स्टेशन , दिल्ली
  • Ludhiana Station  Punjab
  • Chittoor Station  Andhra Pradesh

 

 

 

भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन-  बेगुनकोडोर रेलवे स्टेशन, पश्चिम बंगाल

भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन मे यह प्रमुख रेलवे स्टेशन है ,पं. बंगाल की राजधानी कोलकाता से 260 किलोमिटर दूर बेगनकोडार स्टेशनपड़ता है। यहां के बारे मे कहा जाता है। कि एक सफेद साड़ी पहने हुए महिला घूमती हुई दिखाई देती है। जिसकी वजह से यहां पर कई सालों तक रेलव सेवा तक भी बंद करदी गई थी । उसके बाद सन 2009 के अंदर रेल सेवा को वापस शूरू किया गया था । ‌‌‌यहां के संबध मे कहा जाता है। कि किसी रेलवे कर्मचारी ने उस सफेद साड़ी वाली महिला को देखा । उसके बाद उसकी मौत हो गई। जिसके बारे मे लोगों ने कहा कि उस कर्मचारी को उस भूत ने मार डाला । उसके बाद उस भूत को कई लोगों ने देखे जाने के दावे किये । किसी ने उस भूत ‌‌‌महिला को नाचते हुए देखा तो किसी ने पटरियों के आस पास उस महिला को घूमते हुए देखा । भूत महिला के डर से रेलवे कर्मचारियों ने यहां काम करने से मना कर दिया। जिसके बाद इस रेलवे स्टेशन को बंद करने का फैसला लेना पड़ा ।

भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन – बरोग स्टेशन शिमला

भारत के सबसे भूतिया रेलवे स्टेशन

‌‌‌वैसे तो इस मार्ग पर कई सारी टनल पड़ती हैं। लेकिन सबसे अहम जो है वो है टनल नंबर 33 । यह 1143 मीटर लम्बी है। इसका निर्माण 20वीं सदी के अंदर हुआ था । यहां के बारे मे यह कहा जाता है कि यहां पर एक ईजिनियर की आत्मा रहती है। ‌‌‌ब्रिटिश काल के अंदर कर्नल बरोग नामक एक इंजिनियर था । जिसको पहाड़ को तोड़कर सुरंग बनाने का काम सौंपा गया । उसने पहाड़ को दोनो तरफ से काटने के लिए मजदूरों को लगा दिया । लेकिन गलती की वजह से दोनों सुरंगे आपस मे नहीं मिल सकीं ।

मतलब उससे कुछ गलती हो गई। ब्रिटिश सरकार ने उसे बहुत कुछ कहा । ‌‌‌उस पर एक करोड़ रूपये का जुर्माना लगा । मजदूरों ने भी उसको खरी खोटी सुनाई। वह इसको सहन नहीं कर सका और उसने इस सुरंग के अंदर जाकर खुद को गोली मारली । ‌‌‌उसकी मौत के बाद लाश को उस सुरंग के अंदर ही दफनादिया गया । उस टनल मे 1900 के अंदर फिर काम शूरू किया गया । जो 1903 के अंदर पूरा हो गया । स्थानिये लोगों का कहना है कि यह टनल काफी खतरनाक है। रात के अंदर इससे कहराने की आवाजें भी आती हैं।

‌‌‌टनल के अंदर सुरंग भी है। जिस पर सरकार ने लौहे का गेट लगाकर ताला लगादिया था । ताला बाद मे टूट गया । आज भी वह सुरंग खुली है। अब इस टनल के अंदर कोई नहीं जाता है।

‌‌‌ रवींद्र सरोबर मेट्रो स्टेशन , कोलकाता

भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन मे यह प्रमुख रेलवे स्टेशन है यह भारत के कोलकता के अंदर पड़ता है। यहां के बारे मे यह कहा जाता है कि रात 11 बजे के बाद यहां कोई ट्रेन नहीं जाती । यह रेलवे स्टेशन पूरी तरह से विरान हो जाता है। यहां पर एक लड़की की आत्मा दिखाई देती है। रविन्द्रकोर मेट्रो स्टेशन सुसाईड के लिए बदनाम है। ‌‌‌भूताहा रेलवे स्टेशन पर कई लोग ट्रेक से कूद कर जान दे चुके हैं। भारत के भुताहा रेलवे स्टेशन पर कई बार ट्रेन चलाने वाले ड्राइवर को भी अजीबोगरीब अनुभव हुए हैं। ड्राइवरों का कहना है कि कई बार ट्रेन के आगे एक साया प्रकट होता है। और बाद मे वह गायब हो जाता है।

‌‌‌वहीं भूतों पर विश्वास नहीं करने वाले लोग यह मानते हैं कि यह भुताहा रेलवे स्टेशन नहीं है। वरन बल्कि यहां से पहले ही अधिकतम यात्री उतर जाते हैं। इस वजह से यह रेलवे स्टेशन भुताहा माना जाता है। जबकि ऐसा कुछ नहीं है।

एमजी रोड मेट्रो स्टेशन , गुड़गांव

गुड़गांव के इस रेलवे स्टेशन को भी एक भूताहा रेलवे स्टेशन माना जाता है। यहां के बारे मे यह कहा जाता है। कि यहां पर एक महिला ने सुसाइड कर लिया था । तब से यहां पर उसकी आत्मा दिखाई देती है। वह महिला कई लोगों को डरा चुकी है।

भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन – भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन – द्वारका सेक्टर 9 मेट्रो स्टेशन , दिल्ली

भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन मे यह प्रमुख रेलवे स्टेशन है यह काफी मसहूर रेलवे स्टेशन है। इसके बारे मे यह कहा जाता है कि यहां पर एक भूतनी का आतंक है। वह रात के अंदर अक्सर दिखाई दे जाती है। कारों का पीछा भी करती है। यहा पर दादा बाई वाला मंद‌िर के पास एक पीपल का पेड़ है ‌‌‌जिसके आस पास वह भूतनी रहती है। कई लोगों का कहना है कि यहां से गुजरने वाले लोगों को भूतनी थप्पड़ मारती है। और लिफट भी मांग लेती है। इस वजह से रात को यहां से गुजरने वाले लोग बहुत घबराते हैं। ‌‌‌एक अंग्रेजी खबर के अनुसार पैरानॉर्मल सोसाइटी ऑफ इंडिया ने भी यहां का दौरा किया । उनके अनुसार यहां पर वे देर रात तक रूके लेकिन उन्हें यह पता नहीं चल पाया कि यहां आत्मा है। उनके यंत्रों के अंदर हलचल वैगर नहीं हुई। जिससे देखकर तो यही लगता है कि यहां आत्मा नहीं है।

Ludhiana Station  Punjab

यह भी भारत के सबसे भूतिया रेलवे स्टेशन मे से एक है। वैसे इस रेलवे स्टेशन को रात और दिन के अंदर यूज किया जाता है। सब कुछ नोर्मल होता है। लेकिन यहां पर जो Reservation Counter है। वह नोर्मल नहीं है। ‌‌‌यहां के बारे मे यह कहा जाता है कि पहले Subhash नामक व्यक्ति यहां काम करता था । जिसकी मौत सन 2004 के अंदर हो गई। वह अपनी जॉब से बेहद प्यार करता था। इस वजह से उसको मुक्ति नहीं मिल सकी । सो उसकी आत्मा आज भी वहां पर भटक रही है।

Chittoor Station  Andhra Pradesh

इस रेलवे स्टेशन पर भी एक भूत का साया है। भूत के डर की वजह से लोग यहां पर रात को नहीं रूकते हैं। यहां पर सिरापिएफ जवान Hari Singh का भूत है। कहा जाता है। October, 2013. Hari Singh की एक्सीडेंट के अंदर यहां पर मौत हो गई थी । उसके बाद उसकी आत्मा यहां पर प्रेत बनकर  ‌‌‌भटक रही है।

‌‌‌यह हैं भारत के भूतिया रेलवे स्टेशन यदि आपके पास भी ऐसे किसी भारत के सबसे भूतिया रेलवे स्टेशन के बारे मे जानकारी है तो हमे भेजे । हम आपकी जानकारी को प्रकाशित करेंगे ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *